बेहतर पर्सनल फाइनेंस मैनेजमेंट के लिए 7 रणनीतियां

इस लेख में, हम आपके लिए एक अच्छे पर्सनल फाइनेंस मैनेजमेंट की सात अमूल्य रणनीतियां लेकर आए हैं जो आपके वित्‍तीय लक्ष्‍यों को हासिल करने का मार्ग प्रशस्त करेंगी.

बेहतर पर्सनल फाइनेंस मैनेजमेंट के लिए 7 रणनीतियां

Friday December 29, 2023,

6 min Read

पर्सनल फाइनेंस मैनेजमेंट किसी व्यक्ति की वित्तीय मजबूती की आधारशिला है. ये आपके जीवन के लक्ष्यों को प्राप्त करने का मूल मंत्र है. हालांकि, पर्सनल फाइनेंस को सही तरीके से मैनेज करना कई लोगों के लिए एक कठिन काम हो सकता है. यह काम तब और मुश्किल हो जाता है जब आर्थिक अनिश्चितता और बाजार की अस्थिरता लगातार परेशानी पैदा कर रही होती है.

हालांकि, सही मार्गदर्शन और एक अच्छी तरह से तैयार की गई योजना के साथ आप न केवल वित्तीय परेशानियों के तूफान का सामना कर सकते हैं, बल्कि अपने बजट को भी अच्छी तरह से मैनेज करने में सफल हो सकते हैं. जैसे-जैसे वित्तीय निर्णयों की जटिलताएं बढ़ती जाती हैं और आपके पैसे के मैनेजमेंट और ग्रोथ के लिए उपलब्ध विकल्प बढ़ते जाते हैं, आपके पर्सनल फाइनेंस के लिए एक एक ठोस नजरिया अपरिहार्य हो जाता है.

इस लेख में, हम आपके लिए एक अच्छे पर्सनल फाइनेंस मैनेजमेंट की सात अमूल्य रणनीतियां लेकर आए हैं जो आपके वित्‍तीय लक्ष्‍यों को हासिल करने का मार्ग प्रशस्त करेंगी.

स्‍मार्ट फाइनेंशियल लक्ष्‍य तय करें

यहां स्‍मार्ट का मतलब स्पेसिफिक, मेजरेबल, अचीवेबल, रेलेवेंट और टाइम बाउंड है. एक स्मार्ट लक्ष्य इस बात का एक स्पष्ट और यथार्थवादी विवरण है कि आप एक निश्चित अवधि के भीतर अपने पैसे से क्या हासिल करना चाहते हैं. उदाहरण के लिए, एक स्मार्ट लक्ष्य यह हो सकता है “मैं रुपये बचाना चाहता हूं”. दो साल में एक घर के डाउन पेमेंट के लिए 10,00,000 रु. जुटाने का स्मार्ट लक्ष्य निर्धारित करने से आपको अपनी प्राथमिकताओं पर ध्यान केंद्रित करने, अपनी प्रगति को ट्रैक करने और इससे लिए कार्रवाई करने के लिए प्रेरणा हासिल करने में मदद मिलती है.

लंबी अवधि के लिए बचत और निवेश करें

बचत का अर्थ है भविष्य में उपयोग के लिए पैसा अलग रखना. जबकि, निवेश करना उन परिसंपत्तियों में पैसा लगाना है जो आय जनरेट कर सकती हैं या समय के साथ वैल्यू में बढ़त कर सकती हैं. निधि निर्माण और अपने लंबे समय के वित्‍तीय लक्ष्यों जैसे सेवानिवृत्ति, शिक्षा या घर खरीदने के लिए बचत और निवेश आवश्यक है. आपको कम लागत और कम जोखिम वाले प्रोडक्ट्स के डाइवर्सिफाइड पोर्टफोलियो का उपयोग करके नियमित और लगातार बचत और निवेश करना चाहिए. आपको ऐसे निवेश प्रोडक्ट्स में ही पैसे लगाने चाहिए जो आपकी जोखिम उठाने की क्षमता और समय सीमा से मेल खाते हों. बचत और निवेश प्रोडक्ट्स के कुछ उदाहरण हैं बैंक खाते, जमा प्रमाणपत्र (सीडी), म्यूचुअल फंड, एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड (ईटीएफ), स्टॉक, बॉन्ड, रियल एस्टेट निवेश ट्रस्ट (आरईआईटी) आदि.

7-strategies-for-better-personal-finance-management

सांकेतिक चित्र

निवेश के लिए शून्य या कम ब्रोकरेज ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म का उपयोग करें

ब्रोकरेज वह शुल्क है जो आप प्रतिभूतियों या अन्य वित्तीय उत्पादों को खरीदने या बेचने पर ब्रोकर या मध्यस्थ को चुकाते हैं. ब्रोकरेज आपके रिटर्न को कम कर सकता है और आपके निवेश की लागत को बढ़ा सकता है. इसलिए, आपको ऐसे शून्य या कम ब्रोकरेज वाले ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म का उपयोग करना चाहिए जो इक्विटी डिलीवरी (स्टॉक खरीदना और रखना), इक्विटी इंट्राडे (एक ही दिन में स्टॉक खरीदना और बेचना), फ्यूचर्स एंड ऑप्शन, करेंसी और कमोडिटी ट्रेडिंग जैसे कामों के लिए कमीशन-मुक्त या कम लागत वाली ट्रेडिंग सेवाएं प्रदान करते हैं. शून्य बाय फिनवेशिया, अपस्टॉक्स, ज़ेरोधा, ग्रो और एंजेल वन भारत में कुछ प्रमुख शून्य/कम ब्रोकरेज ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म हैं.

यथार्थवादी बजट बनाएं

बजट एक योजना है जो दर्शाती है कि आप एक निश्चित समयावधि, आमतौर पर एक महीने में कितना पैसा कमाने और खर्च करने की उम्मीद करते हैं. एक बजट आपको अपनी आय को अपने खर्चों, बचतों और निवेशों में आवंटित करने में मदद करता है. यह आपको अनावश्यक या फिजूलखर्ची को पहचानने और उससे बचने में भी मदद करता है. एक यथार्थवादी बजट बनाने के लिए आपको कम से कम एक महीने के लिए अपनी आमदनी और खर्च पर नजर रखनी होगी. उन्हें निश्चित और परिवर्तनीय लागतों में वर्गीकृत करना होगा और उन्हें अपने लक्ष्यों और आवश्यकताओं के अनुसार समायोजित करना होगा.

आपातकालीन फंड बनाएं

आपातकालीन फंड यानी इमरजेंसी फंड एक बचत खाता है जिसका उपयोग आप केवल अप्रत्याशित या अत्यावश्यक खर्चों, जैसे चिकित्सा बिल, कार की मरम्मत या नौकरी छूटने की स्थिति में करते हैं. एक आपातकालीन फंड आपको वित्तीय झटकों से निपटने और उच्च ब्याज वाले ऋण लेने से बचने में मदद करता है. आदर्श रूप से, आपके आपातकालीन फंड में आपके आवश्यक जीवन-यापन के कम से कम तीन से छह महीने के खर्चों को कवर करने के लिए पर्याप्त धन होना चाहिए.

उच्च ब्याज दर वाले ऋण का भुगतान करें

ऋण वह धन है जो आपको किसी और को आमतौर पर ब्याज के साथ लौटाना होता है. उच्च-ब्याज ऋण वह ऋण है जो उच्च वार्षिक प्रतिशत दर (एपीआर) पर लिया जाता है. इसमें क्रेडिट कार्ड, पे-डे लोन या पर्सनल लोन शामिल होते हैं. उच्च-ब्याज ऋण जल्दी से बढ़ सकता है और आपकी आय का एक बड़ा हिस्सा हजम कर सकता है. इसलिए, आपको जितनी जल्दी हो सके उच्च-ब्याज ऋण का भुगतान करना चाहिए. इसके लिए सबसे ज्यादा एपीआर वाले ऋण से शुरुआत करनी चाहिए. आप ऋण चुकाने के लिए विभिन्न तरीकों का उपयोग कर सकते हैं, जैसे स्नोबॉल मेथड (सबसे छोटी शेष राशि का भुगतान पहले करना), एवलॉन्च मेथड (सबसे अधिक एपीआर का भुगतान पहले करना), या बैलेंस ट्रांसफर मेथड (अपने ऋण को कम ब्याज कार्ड या लोन पर शिफ्ट करना).

बीमा से अपनी और अपनी संपत्ति की सुरक्षा करें

बीमा एक अनुबंध है जो प्रीमियम (एक नियमित भुगतान) के बदले में आपके वित्तीय नुकसान के जोखिम को बीमा कंपनी को हस्तांतरित करता है. बीमा आपको खुद को और अपनी संपत्तियों को उन अप्रत्याशित घटनाओं से बचाने में मदद करता है जो किसी बड़ी क्षति या नुकसान का कारण बन सकती हैं. इसमें दुर्घटनाओं, बीमारी, आपदाएं, चोरी, मुकदमें आदि से होने वाले नुकसान से बचने में मदद मिलती है. आपके पास अपने स्वास्थ्य, जीवन, संपत्ति, देनदारी और विकलांगता की जरूरतों के लिए पर्याप्त बीमा कवरेज होना चाहिए. आपको समय-समय पर अपनी बीमा पॉलिसीज की समीक्षा भी करनी चाहिए और अपनी बदलती परिस्थितियों के अनुसार उन्हें अपडेट करना चाहिए.

आज के जटिल वित्तीय परिदृश्य में वित्तीय स्वतंत्रता हासिल करने के लिए केवल समझ की नहीं बल्कि सही एक्शन की भी जरूरत होती है. बजट और बचत के साथ-साथ, निवेश आपकी वित्तीय स्वतंत्रता तय करने में बड़ी भूमिका निभाता है. असीमित विकल्पों के युग में, शून्य/कम ब्रोकरेज वाले प्लेटफॉर्म जैसे शून्य बाय फिनवेशिया, एंजेल वन, ग्रो, अपस्टॉक्स और ज़ेरोधा आपके वित्‍तीय सफर में काफी सहायक हो सकते हैं. पर्सनल फाइनेंस के मैनेजमेंट के लिए व्यापक नजरिए के साथ आप अपनी वित्तीय साक्षरता, सुरक्षा और स्वतंत्रता में सुधार कर सकते हैं. याद रखें, पर्सनल फाइनेंस का मैनेजमेंट एक लगातार चलने वाली प्रक्रिया है जिसके लिए अनुशासन, धैर्य और दृढ़ता की जरूरत होती है.

(लेखक ‘Finvasia’ के को-फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर हैं. आलेख में व्यक्त विचार लेखक के हैं. YourStory का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है.)


Edited by रविकांत पारीक

Montage of TechSparks Mumbai Sponsors