Awaken the Giant Within: आदतें बदलने पर ज्ञान नहीं प्रैक्टिकल तरीके बताती है ये किताब

इस किताब को लिखने वाले टोनी रॉबिन्स (Tony Robbins ) इनर स्ट्रेंथ, अनलिमिटेड पावर और मनी मास्टर दी गेम जैसी किताबें लिखी हैं. उन्हें दुनिया भर में बिजनेस और लाइफ कोच के तौर पर देखा जाता है.

Awaken the Giant Within: आदतें बदलने पर ज्ञान नहीं प्रैक्टिकल तरीके बताती है ये किताब

Sunday February 05, 2023,

5 min Read

अगर आप अपनी जिंदगी के मेंटल, इमोशनल, फिजिकल और फाइनेंशियल हिस्से को एक साथ पटरी लाना चाहते हैं और इसके लिए कोई किताब ढूंढ रहे हैं तो आपके लिए Awaken the Giant Within सबसे सही किताब हो सकती है.

इस किताब को लिखने वाले टोनी रॉबिन्स (Tony Robbins ) इनर स्ट्रेंथ, अनलिमिटेड पावर और मनी मास्टर दी गेम जैसी किताबें लिखी हैं. उन्हें दुनिया भर में बिजनेस और लाइफ कोच के तौर पर देखा जाता है.

Awaken the Giant Within, में टोनी अपनी जिंदगी से जुड़े तमाम हिस्सों में खुद को मास्टर बनाने के प्रैक्टिकल तरीके बताते हैं. टोनी के लिखने का तरीका बेहत प्रेरणादायक है. उन्होंने जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया है वो पढ़ने वाले को इंस्पिरेशन का काफी हेवी डोज दे देते हैं.

बेसिकली पर्सनल इंप्रूवमेंट, पर्सनल एंपावरमेंट और मोटिवेशन पर अगर आपको कोई किताब पढ़नी है तो मैं ये कह सकती हूं कि टोनी रॉबिन्स से बेहतर शायद ही कोई ऑथर आपको मिलेगा.

डिसिजन मेकिंग की अहमियत

कई बार ऐसा होता है जब हम कोई फैसला तो ले लेते हैं लेकिन उन्हें अमल में नहीं ला पाते हैं. Awaken the Giant Within में टोनी बताते हैं कि उन फैसलों को लेने के बाद उन पर असल में कैसे काम करना है.

हममें से कई लोग ऐसा सोचते हैं कि कोई बदलाव लाने में एक लंबा समय लगता है. हालांकि टोनी इसे बहुत बड़ा मिथ बताते हैं और इसे साबित भी करके दिखाते हैं.

टोनी ने अपने किताब में बताया है कि कैसे ये बदलाव पल भर में हो सकते हैं हां बस उस बदलाव को लाने की प्रक्रिया भले समय ले सकती है.

कोई बदलाव लाना इतना बड़ा काम नहीं होता लेकिन उसका डर हमें उस पर एक्शन लेने से रोकता है. कई दफा हमें लगता है कि हमने फैसला ले लेकिन असल में वो एक डिसिजन कम और एक इच्छा ज्यादा होती है.

मुझे खुद कई बार इस हिस्से में मुश्किल आती है, लेकिन टोनी ने जो भी टिप्स दिए हैं उनकी बदौलत मैं असल में उन बदलावों को अपनी जिंदगी में ला सकी और इस तरह डिसिजन मेकिंग के स्किल में भी बेहतर हो सकें.

दुख और सुख

टोनी अपनी किताब में एक और खूबसूरत से पहलू को कवर करते हैं. टोनी ने जो फैसला हम लेते हैं उसमें हमें पेन यानी दर्द मिलने वाला है या प्लेजर यानी सुख मिलने वाला है इसका भी रोल होता है.

टोनी कहते हैं, ‘हम जो भी काम करते हैं, वो या तो किसी दर्द को अनदेखा करने के लिए करते हैं या फिर किसी तरह का सुख पाने के लिए.’

वो लिखते हैं कि मान लेते हैं कुछ ऐसे फैसले हैं जिनसे हम कुछ समय के लिए दर्द को टाल सकते हैं, वहीं कुछ ऐसे फैसले हैं जिनसे हमें खुशी मिलती हो. ऐसे हालात में हम पहले वाले तरह के फैसलों को लेने के जिए ज्यादा मोटिवेटेड महसूस करेंगे.

हालांकि, ये समझना जरूरी है कि हम चाहें कोई भी फैसला लें या कोई काम करें उनके पीछे यह दो मोटिवेटिंग फैक्टर होते हैं. जो सबसे अच्छी चीज टोनी बताते हैं वो ये कि हम कैसे अपने दर्द और सुख दोनों को अपनी जिंदगी में बदलाव लाने कोई ऐक्शन लेने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं और वो टारगेट या बदलाव हासिल कर सकते हैं जो हम असल में लाना चाहते हैं.

टोनी ने किताब में लिखा है, ‘हमें हमेशा अपने पुरानी आदत के साथ एक असहनीय और गहरे दर्द की फीलिंग को जोड़कर देखना चाहिए और उसी तरह एक नई आदत के साथ अपार खुशी को जोड़कर देखना चाहिए.’

आप उन सारी आदतों को इस तरीके से बदल सकते हैं जिन्हें आप अपने अंदर बदलने के बारे में सोच रहे हैं और जो आपके आने वाले कल को बदल सकती हैं. इस तरह उन अच्छी आदतों को अपनाने में आसानी होगी जो आपके फ्यूचर, करियर को मजबूत बना सकती हैं. 


जिंदगी के 5 जरूरी पहलू

इस किताब की सबसे अच्छी बात ये है कि टोनी ने सिर्फ आदत बदलने को लेकर प्रैक्टिकल तरीके नहीं बताए हैं बल्कि उन पहलूओं के बारे में भी बात की है जो एक इंसान या उसकी जिंदगी में अहमियत रखते हैं.

बाद में उन सभी पहलुओं को बैलेंस करने के तरीके भी साझा किए हैं. टोनी के मुताबिक वो पांच जरूरी पहलू हैंः

  1. भावनाएं (Emotions)
  2. आपका शरीर (Physical Body)
  3. रिश्ते (Relationships)
  4. मनी मैनेजमेंट (Finances)
  5. समय (Time)

आपको ये किताब क्यों पढ़नी चाहिए

पर्सनल डिवेलपमेंट पर आज की तारीख में ऐसी हजारों किताबें, ऑडियोबुक मिल जाएंगे. जिन्हें आप सुन सकते हैं पढ़ सकते हैं. लेकिन अक्सर हम ऐसी किताबें पढ़ने सुनने के बाद एक लेवल तक मोटिवेट होते हैं और फिर वापस सुस्त पड़ जाते हैं.

मगर टोनी के बताने का तरीका ऐसा है कि आप किताब पढ़ते-पढ़ते ही कुछ ऐक्शन शुरू कर सकते हैं. इस किताब में काफी अच्छे आइडिया, टेक्निक दिए गए हैं जिन्हें तुरंत अपनाना बेहद आसान है. इन्हीं वजहों से टोनी की किताब इन सभी किताबों से खास है. 

अगर आप इस किताब को पढ़ने की सोच रहे हैं तो मैं बिल्कुल इसे पढ़ने की सलाह दूंगी. टोनी की बाकी दूसरी किताबों की तरह ही ये किताब बिल्कुल मोटिवेट करने वाली है और अगर आपने किताब में बताए टेक्निक के हिसाब से बदलाव शुरू कर दिए तो यकीनन आप एक वेल बैलेंस्ड लाइफ जी रहे होंगे.


Edited by Upasana