75 years of Independence: आजादी के 75 सालों में कैसी रही शेयर बाजार की चाल, जानिए कब चढ़ा कब गिरा

By Anuj Maurya
August 15, 2022, Updated on : Mon Aug 15 2022 08:11:46 GMT+0000
75 years of Independence: आजादी के 75 सालों में कैसी रही शेयर बाजार की चाल, जानिए कब चढ़ा कब गिरा
आज ही के दिन 15 अगस्त 1947 को भारत आजाद हुआ था. आइए जानते हैं पिछले 75 सालों में शेयर बाजार की चाल कैसी रही.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारत ने आज आजादी के 75 साल (75 years of Independence) पूरे कर लिए हैं. ये भारत का 76वां स्वतंत्रता दिवस (76th Independence Day) है. आज ही के दिन 15 अगस्त 1947 को भारत आजाद हुआ था. इन 75 सालों में शेयर बाजार (Share Market) की चाल कैसी रही, ये भी पता होना जरूरी है. किसी भी देश के शेयर बाजार की चाल से पता चलता है कि उस देश की आर्थिक स्थिति कैसी है और किस दिशा में जा रही है. आइए जानते हैं पिछले 75 सालों में शेयर बाजार में क्या-क्या हुआ.

एशिया का सबसे बड़ा एक्सचेंज है बीएसई

भारत में शेयर बाजार की चाल समझने के दो पैरामीटर्स में से एक है बीएसई का सेंसेक्स. बीएसई की शुरुआत 1875 में मर्चेंट प्रेमचंद रॉयचंद ने की थी. यह एशिया का सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज है. वहीं दुनिया का 8वां सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज है. हालांकि, इस पर सेंसेक्स की शुरुआत 1 जनवरी 1986 को हुई. जनवरी 2022 तक बीएसई सेंसेक्स का मार्केट कैप करीब 276 लाख करोड़ रुपये हो गया है.

100 से 59 हजार तक पहुंचा सेंसेक्स

बीएसई पर सेंसेक्स की शुरुआत 1 जनवरी 1986 को हुई थी. सेंसेक्स 30 कंपनियों के आधार पर चढ़ता-उतरता है. 1986 में सेंसेक्स की शुरुआत 100 अंक से हुई थी और आज की तारीख में यह 59 हजार अंक तक पहुंच चुका है. पिछले करीब 43 साल में सेंसेक्स ने तगड़ा रिटर्न दिया है.

1000 अंक से शुरू हुआ था निफ्टी

वहीं दूसरी ओर एनएसई 1992 में शुरू हुआ था. वहीं इस पर निफ्टी की शुरुआत 22 अप्रैल 1996 को हुई. इसमें कुल 50 कंपनियों के आधार पर उतार-चढ़ाव दिखता है. इसकी शुरुआत 1000 अंक से हुई थी और अभी निफ्टी करीब 17,700 अंक तक पहुंच गया है.

कब-कब सेंसेक्स में आया बड़ा उतार-चढ़ाव

सेंसेक्स में 1991-92 में बड़ी उथल-पुथल देखने को मिली थी. हर्षद मेहता की वजह से उन दिनों शेयर बाजार में तगड़ी तेजी देखने को मिली. जैसे ही हर्षद मेहता के स्कैम का पर्दाफाश हुआ तो देखते ही देखते शेयर बाजार बुरी तरह से टूट गया. 1992 में अप्रैल के दौरान सेंसेक्स करीब 12.7 फीसदी तक गिरा, क्योंकि मार्केट के साथ छेड़छाड़ की खबर सामने आई थी.

2000 के देशक में भी हुई बड़ी उठा-पटक

17 मई 2004 को शेयर बाजार में बड़ी गिरावट आई. ट्रेडिंग के सिर्फ शुरुआती 20 मिनट में ही बाजार 11 फीसदी तक गिर गया. 2006 में भी सेंसेक्स में बड़ी गिरावट आई. 2007-08 में भी सेंसेक्स काफी गिरा. जनवरी 2008 में सेंसेक्स करीब 1408 अंक गिर गया. अक्टूबर 2008 में भी सेंसेक्स में 1070 अंक की गिरावट आई.


6 जनवरी 2015 को भी सेंसेक्स में बड़ी गिरावट आई और सेंसेक्स 855 गिर गया. इसके बाद 23 मार्च 2020 को सेंसेक्स 3934 अंक यानी करीब 13.15 फीसदी गिरा. 1 फरवरी 2021 को सेंसेक्स में करीब 5 फीसदी की बड़ी तेजी भी देखने को मिली.