अडानी एंटरप्राइजेज ने 6 लेन वाले गंगा एक्सप्रेसवे प्रोजेक्ट के लिए जुटाया फंड

By yourstory हिन्दी
September 30, 2022, Updated on : Fri Sep 30 2022 05:21:34 GMT+0000
अडानी एंटरप्राइजेज ने 6 लेन वाले गंगा एक्सप्रेसवे प्रोजेक्ट के लिए जुटाया फंड
अडानी एंटरप्राइजेज की तीन सहायक कंपनियों को गंगा एक्सप्रेसवे के लिए अपने कर्जदाताओं से 10238 करोड़ रुपये की फंडिंग मिल गई है. इस परियोजना अनुबंध की अवधि 30 साल की होगी जिसमें तीन साल की निर्माण अवधि भी शामिल है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड ने गुरुवार को कहा कि उसके पूरे मालिकाना हक वाली तीन सहायक कंपनियों ने उत्तर प्रदेश में छह लेन वाली गंगा एक्सप्रेसवे परियोजना की फंडिंग का इंतजाम कर लिया है.


कंपनी ने एक बयान में कहा कि पब्लिक- प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत विकसित की जाने वाली इस परियोजना के लिए उसकी सहायक कंपनियों को कर्जदाताओं से 10,238 करोड़ रुपये की फंडिंग मिल गई है. इस परियोजना अनुबंध की अवधि 30 साल की होगी जिसमें तीन साल की निर्माण अवधि भी शामिल है.


उत्तर प्रदेश में मेरठ और प्रयागराज के बीच गंगा एक्सप्रेसवे का निर्माण किया जाएगा. यह देश का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे होगा जिसे ‘डिजाइन, निर्माण, वित्त, परिचालन और हस्तांतरण’ (डीबीएफओटी) मॉडल पर विकसित किया जाएगा. यह एक्सप्रेसवे DBFOT बेसिस पर चलने वाला इंडिया का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे होगा. इस प्रोजेक्ट के तहत बदायूं से प्रयागराज तक के बीच 464 किमी रास्ता AEL बनाएगी जो पूरी प्रोजेक्ट का करीबन 80 फीसदी है. 


अडानी एंटरप्राइजेज की तीन सहायक इकाइयां- बदायूं-हरदोई रोड प्राइवेट लिमिटेड, हरदोई-उन्नाव रोड प्राइवेट लिमिटेड और उन्नाव-प्रयागराज रोड प्राइवेट लिमिटेड मिलकर इस परियोजना को डिवेलप करेंगी.


रोड बिजनेसेज, अडानी एंटरप्राइजेज के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर के पी माहेश्वरी ने कहा कि इस परियोजना के लिए भारतीय स्टेट बैंक ने 10,238 करोड़ रुपये की समूची कर्ज जरूरत को पूरा करने पर सहमति दे दी है.माहेश्वरी ने आगे कहा कि इंडियो को अपने विकास के ले जो रोड इंफ्रास्ट्रक्चर चाहिए उसे वो बहुत तेज रफ्तार से बना रहा है.


अडानी समूह के सड़क कारोबार में अब 18 परियोजनाएं शामिल हो चुकी हैं जिनके तहत 6,400 किलोमीटर लंबे लेन का विकास किया जाएगा. ये परियोजनाएं उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, गुजरात और पश्चिम बंगाल समेत 10 राज्यों में संचालित होंगी.

मालूम हो कि अडानी एंटरप्राइजेज के रोड पोर्टफोलियो के अंदर 8 प्रोजेक्ट आते हैं. जिनकी लंबाई कुल 6400 किमी से ऊपर के लेन हैं और इनकी लागत 44000 करोड़ रुपये से ज्यादा है.


ये सभी प्रोजेक्ट उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, आंध्रप्रदेश, मध्य प्रदेश, केरल, गुजरात, पश्चिम बंगाल और उड़ीसा. पोर्टफोलियो में HAM(हाइब्रिड एनुइटी मोड), TOT(टोल ऑपरेट ट्रांसफर) और BOT (बिल्ट ऑपरेट ट्रांसफर) जैसी संपत्तियां हैं.


अडानी एंटरप्राइजेज अडानी ग्रुप की फ्लैगशिप कंपनी है. ये इकाई इमर्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर बिजनेसेज को बनाने और उनका अलग-अलग लिस्टेड कंपनियों में विनिवेश करने का काम करती है.


इस तरह इसने अडानी पोर्ट्स एंड SEZ, अडानी ट्रांसमिशन, अडानी पावर, अडानी ग्रीन एनर्जी, अडानी टोटल गैस और अडानी विल्मर जैसी यूनिकॉर्न कंपनियों को खड़ा किया है. अब इस ग्रुप अब अपने स्ट्रैटजिक बिजनेस इनवेस्टमेंट के तहत ग्रीन हाइड्रोजन ईकोसिस्टम, एयरपोर्ट मैनेजमेंट, रोड, डेटा सेंटर और वॉटर इंफ्रास्ट्रक्चर पर निवेश कर रहा है. 


Edited by Upasana

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close