ये है खेती का ऐसा तरीका जिससे कमाई हो जाएगी दोगुनी, एक बार ट्राई किया तो हर बार करेंगे!

By Anuj Maurya
November 11, 2022, Updated on : Fri Nov 11 2022 12:07:18 GMT+0000
ये है खेती का ऐसा तरीका जिससे कमाई हो जाएगी दोगुनी, एक बार ट्राई किया तो हर बार करेंगे!
अगर आप खेती से अपनी कमाई को बढ़ाना चाहते हैं तो मिश्रित खेती कर सकते हैं. इस खेती में 3-4 फसलें एक साथ लगाई जाती हैं. इससे आपकी मेहनत तो थोड़ी बढ़ जाती है, लेकिन कमाई में भी इजाफा होता है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

खेती (Farming) में किसान लगातार अलग-अलग प्रयोग करते हैं. कई प्रयोग फायदे वाले साबित होते हैं तो कुछ से नुकसान भी होता है. खैर, इन सबका फायदा ये होता है कि खेती का कुछ नया तरीका सीखने को मिलता है. खेती का एक ऐसा ही तरीका है मिश्रित फार्मिंग. जैसा कि नाम से ही आप समझ रहे होंगे कि इसमें अलग-अलग तरह की फसलें एक साथ लगाई जाती हैं. हालांकि, मिश्रित खेती (Mixed Farming) में कम से कम दो और अधिक से अधिक 4 फसलें ही लगानी चाहिए, ताकि आप सभी पर अच्छे से ध्यान दे सकें. इससे ज्यादा फसलें एक साथ लगाने का मतलब है कि फायदे की जगह आप अपना नुकसान कर बैठेंगे.

कैसे की जाती है मिश्रित खेती?

मिश्रित खेती में एक से अधिक फसलों को एक साथ लगाकर खेती की जाती है. जैसे मान लीजिए आप अंगूर की बगिया लगा रहे हैं तो उसे तैयार होने में करीब 2 साल लगेंगे. इस दौरान आप बीज की जगह में गेंदे के फूल लगा सकते हैं. जो दवा अंगूर पर पड़ेगी, वही गेंदे पर पड़ेगी. तो जब तक अंगूर फल नहीं देता, तब तक गेंदे से कमाई कर सकते हैं. तरबूत के खेत में भी गेंदा लगा सकते हैं. ऐसे ही अगर आप बांस की खेती कर रहे हैं तो बीच की जगह में आसानी से अदरक या हल्दी जैसी फसलें ले सकते हैं.


इसी तरह आप गन्ने के साथ गेहूं लगा सकते हैं, क्योंकि गेहूं जल्दी तैयार हो जाता है, जबकि गन्ने को वक्त लगता है. गन्ने के बीच की खाली जगह पर आप धनिया, मूली, बंद गोभी जैसी फसलें ले सकते हैं. इसी तरह शिमला मिर्च के साथ आप बैंगन या करेला भी लगा सकते हैं. इतना ही नहीं आप 4 फसलें भी एक साथ लगा सकते हैं. सबसे नीचे अदरक लगाइए, उसके ऊपर चौलाई, बीच-बीच में पपीते के पेड़ और सबसे ऊपर कुंदरू की बेल चढ़ा सकते हैं. इस तरह आप चार फसलें एक ही जमीन पर ले सकते हैं.

क्या होता है मिश्रित खेती का फायदा?

मिश्रित खेती का सबसे बड़ा फायदा ये होता है कि इससे आप कम जगह में अधिक उत्पादन हासिल कर लेते हैं. जो जगह बेकार हो रही होती है, उसका अच्छा इस्तेमाल हो जाता है. वहीं आपकी कमाई भी दोगुनी से तीन गुनी तक बढ़ जाती है. हालांकि, मिश्रित खेती में आपकी मेहनत बढ़ जाती है. साथ ही, इस तरह की खेती में आपको यह ध्यान रखना पड़ता है कि किस फसल के साथ क्या लगाना चाहिए.


अधिकतर लोग मिश्रित खेती से बचते हैं, लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए. मान लीजिए आपने गन्ने की बुआई की है. अगर उसके बीच में आप कोई दूसरी फसल लगा देते हैं तो जब तक गन्ने की फसल थोड़ी बड़ी होगी, दूसरी फसल तैयार हो जाएगी. इसका सबसे बड़ा फायदा ये है कि इससे आपकी कुछ इनकम भी बनी रहेगी.