एग्रीटेक स्टार्टअप Barton Breeze ने प्री-सीरीज राउंड में जुटाई 8 लाख डॉलर की फंडिंग

पांच साल पुरानी इस कंपनी में नाइट फ्रैंक के पूर्व सीईओ राजीव बैराठी, डीएसके लीगल के नीरज कुमार, केटीएल ऑटोमोटिव के मनीष अग्रवाल और उमंग अगरवाल, ट्राइडेंट्स ग्रुप के शिशिर पोद्दार और दो अन्य दिग्गज निवेशकों ने निवेश किया है.

एग्रीटेक स्टार्टअप Barton Breeze ने प्री-सीरीज राउंड में जुटाई 8 लाख डॉलर की फंडिंग

Tuesday February 28, 2023,

3 min Read

गुरुग्राम के एग्री टेक स्टार्टअप Barton Breeze ने नए निवेशकों से प्री सीरीज राउंड में 8 लाख डॉलर की फंडिंग हासिल की है. कंपनी ने बयान जारी कर इसकी जानकारी दी है. उसके मुताबिक इस रकम का इस्तेमाल मार्केट में वैल्यू ऐडेड प्रॉडक्ट्स लाने के लिए किया जाएगा.


पांच साल पुरानी इस कंपनी में नाइट फ्रैंक के पूर्व सीईओ राजीव बैराठी, डीएसके लीगल के नीरज कुमार, केटीएल ऑटोमोटिव के मनीष अग्रवाल और उमंग अगरवाल, ट्राइडेंट्स ग्रुप के शिशिर पोद्दार और दो अन्य दिग्गज निवेशकों ने निवेश किया है.


फाउंडर्स के मुताबिक Barton Breeze पर्यावरण के लिहाज से फ्रेंडली और टिकाउ एग्रीकल्चर बिजनेस तरीकों के जरिए चलाया जा रहा है. नई फंडिंग के जरिए कंपनी सभी कस्टमर्स तक बिना गुणवत्ता के साथ समझौता किए स्वादिष्ट और पोषणतत्व से भरपूर सस्ता फूड प्रोवाइड कराने के लिए काम करेगी.


आने वाले सालों में Barton Breeze अपने एफएमसीजी रेंज में 20 और SKUs लाएगी. साथ ही दिल्ली और एनसीआर में मौजूद अपने फार्म्स को और ग्रो करेगी. Barton Breeze की शुरुआत 2018 में सीईओ शिवेंद्र सिंह ने की थी. को-फाउंडर गौरव राय चावला(सीओओ) और डिक्सन डिक्लॉज(CMO) ने उन्हें जॉइन किया.


फार्मिंग और प्रोडक्ट एक्सपर्ट्स प्रोडक्ट्स में केमिकल के इस्तेमाल को घटाने पर काम करेंगे और किफायती दाम पर कस्टमर्स को उनके घर पर ही पोषक तत्वों से भरपूर फूड डिलीवर करने पर काम करेंगे. 


Barton Breeze के सीईओ शिवेंद्र सिंह ने इस फंडिंग राउंड को लेकर कहा, अगर आप खुद का कुछ शुरू कर रहे हैं तो बेहतर होगा कि आपके मन में उसके लिए लगन हो तभी वो काम शुरू करें. क्योंकि इसमें मेहनत लगती है. सस्टेनेबल एग्रीकल्चर ऐसा बिजनेस है जिसमें न तो लोगों की सेहत के साथ कोई समझौता होता है और ना ही धरती के साथ.


Barton Breeze अपने एंड टू एंड चेन के जरिए फार्म डिवेलपमेंट से लेकर पैकेजिंग और प्रोडक्ट डिलीवरी तक काम काम देखती है. कंपनी कमर्शियल बिक्री के लिए हाइड्रोपॉनिक तकनीक के जरिए 40 से ज्यादा वैराइटी की फसल ऑफर करती है.


इसके अलावा रेडी टू ईट सलाद बॉक्सेज, डिप्स और तेल भी बेचती है जो फ्रेश होने के साथ जरूरी पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं. ये सभी प्रोडक्ट्स दिल्ली एनसीआर में 100 से ज्यादा रिटेल स्टोर्स में उपलब्ध हैं.


आपको बता दें कि हाइड्रोपोनिक तकनीक में बिना मिट्टी का इस्तेमाल किए पोषक तत्तों से भरपूर लिक्विड सलूशंस की मदद से पौधे या फसल उगाई जाती है. इस तकनीक में परंपरागत फसल उगाने के तरीके में लगने वाले पानी जितने पानी की आवश्यकता भी नहीं होती और उत्पादन भी तुलनात्मक रूप से ज्यादा होता है.


Edited by Upasana