18,000 कर्मचारियों को नौकरी से निकालने की तैयारी में Amazon

Amazon के सीईओ एंडी जेसी ने कहा, “Amazon अतीत में अनिश्चित दौर गुजरी है और कई मुश्किल दौर से उबरी है. हम आगे भी ऐसा करते रहेंगे. इन चुनौतियों से हमें एक मजबूत कॉस्ट स्ट्रक्चर के साथ लंबी अवधि के अवसरों को भुनाने में मदद मिलेगी.”

18,000 कर्मचारियों को नौकरी से निकालने की तैयारी में Amazon

Thursday January 05, 2023,

3 min Read

Meta और Twitter जैसी बड़ी कंपनियों के बाद अब ई-कॉमर्स कंपनी Amazon भी बड़े पैमाने पर छंटनी की तैयारी कर रही है. कंपनी ने अपने 18 हजार से अधिक कर्मचारियों की छंटनी करने की योजना बनाई है. Amazon ने बुधवार को कहा कि वह “अनिश्चित अर्थव्यवस्था” की वजह से कर्मचारियों में कटौती करने की योजना बना रहा है.

इस बारे में कंपनी के सीईओ एंडी जेसी (Andy Jassy) ने कहा, “नवंबर में हमने जो कटौती की है और जो जिस कटौती के बारे घोषणा कर रहे हैं, हम 18,000 से अधिक भूमिकाओं को खत्म करने की योजना बना रहे हैं.”

जेसी ने कहा "हम प्रभावित लोगों का समर्थन करने के लिए काम कर रहे हैं. और पैकेज प्रदान कर रहे हैं जिसमें सेपरेशन पेमेंट, ट्रांजिशनल हेल्थ इंश्योरेंस बेनेफिट्स और अन्य जगहों पर जॉब प्लेसमेंट समर्थन शामिल हैं,"

उन्होंने कहा, "Amazon ने अतीत में अनिश्चित और कठिन आर्थिक परिस्थितियों का का सामना किया है और हम ऐसा करना जारी रखेंगे.

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, एंडी जेसी ने कहा, “Amazon अतीत में अनिश्चित दौर गुजरी है और कई मुश्किल दौर से उबरी है. हम आगे भी ऐसा करते रहेंगे. इन चुनौतियों से हमें एक मजबूत कॉस्ट स्ट्रक्चर के साथ लंबी अवधि के अवसरों को भुनाने में मदद मिलेगी.”

बता दें, कंपनी ने बीते साल यानी नवंबर 2022 में 10 हजार छंटनी की घोषणा की थी.

इस बारे में कंपनी ने ट्विट करते हुए Amazon के सीईओ एंडी की घोषणा को शेयर किया है.

मौजूदा मंदी के दौर में Amazon का 18 हजार कर्मचारियों को हटाना अभी तक की सबसे बड़ी छंटनी होगी. सितंबर के अंत तक Amazon के साथ 15 लाख से अधिक कर्मचारी जुड़े थे. इस छंटनी का अर्थ है कि नवीनतम कटौती कार्यबल के लगभग 1% होगा. Amazon के पास दुनिया भर में लगभग 350,000 कॉर्पोरेट कर्मचारी हैं.

वैश्विक आर्थिक मंदी की आशंका के बीच दुनिया भर की टेक कंपनियों में हड़कंप मचा हुआ है. हाल ही में पेप्सिको ने भी छंटनी का ऐलान किया था.

Amazon के इस ऐलान पर उसके इनवेस्टर्स ने सकारात्मक प्रतिक्रिया दी. सबसे पहले वाल स्ट्रीट जनरल की तरफ से यह खबर सामने आने के बाद Amazon का शेयर लगभग 2 फीसदी मजबूत हो गया.

मौजूदा मंदी के दौरान टेक कंपनियों के लिए 18,000 एम्प्लॉइज की छंटनी सबसे बड़ी कटौती होगी. हालांकि, सिलिकन वैली की दूसरी प्रतिस्पर्धी कंपनियों की तुलना में Amazon के कर्मचारियों की संख्या खासी ज्यादा है. बीते साल सितंबर के अंत तक उसके कर्मचारियों की संख्या 15 लाख से ज्यादा थी. इस प्रकार, मौजूदा छंटनी उसकी कुल वर्कफोर्स की तुलना में लगभग 1 फीसदी है.

Amazon के फाउंडर जेफ बेजोस का मानना है कि साल 2023 में देशभर में जबरदस्त आर्थिक मंदी आ सकती है. दुनियाभर की कई कंपनियां अपने कर्मचारियों की छंटनी कर रही हैं. ऐसे में लोगों को इस मुश्किल आर्थिक दौर में समझदारी से पैसे खर्च करने की जरूरत है.

जेफ बेजोस ने कहा, "यदि आप अकेले रहते हैं और आप बिग स्क्रीन टीवी खरीदने के बारे में सोच रहे हैं तो इस समय आपको इंतजार करने की जरूरत है. आर्थिक मंदी के खतरों के मद्देनजर आपको पैसे बचाने चाहिए और आने वाले मुश्किल वक्त के लिए तैयार रहना चाहिए." उनका कहना है कि अगर छोटे कारोबार के लिए थोड़ा रिस्क कम कर दिया जाए तो यह इनके लिए बहुत लाभकारी साबित हो सकता है.