Amazon, Google, Microsoft के बाद Apple ने भी धीमी की हायरिंग प्रॉसेस

By Vishal Jaiswal
July 19, 2022, Updated on : Tue Jul 19 2022 07:22:23 GMT+0000
Amazon, Google, Microsoft के बाद Apple ने भी धीमी की हायरिंग प्रॉसेस
इससे पहले अमेजन, अल्फाबेट की कंपनी गूगल और माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन ने भी अपने खर्चों पर लगाम लगाने की घोषणा की है. हालांकि, इस बीच अधिकतर दिग्गज टेक्नोलॉजी कंपनियां छंटनी करने की बजाय हायरिंग प्रॉसेस को धीमा करने की योजना पर काम कर रही हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अमेजन Amazon , गूगल Google और माइक्रोसॉफ्ट Microsoft के बाद एक और दिग्गज टेक्नोलॉजी कंपनी एप्पल Apple ने अपनी हायरिंग और स्पेंडिंग प्लांस पर लगाम लगाने जा रही है. इससे पता चलता है कि आगामी महीनों में मंदी की आशंका को देखते हुए छोटी ही नहीं बल्कि सिलिकॉन वैली की दिग्गज कंपनियां भी चिंतित हैं.


ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, iPhone बनाने वाली कंपनी एप्पल अपने कुछ विभागों के खर्चों और जॉब ग्रोथ पर लगाम लगाने की योजना पर काम कर रही है. हालांकि, एप्पल इसे पूरी कंपनी में नहीं लागू करने जा रही है.


इससे पहले अमेजन, अल्फाबेट की कंपनी गूगल और माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन ने भी अपने खर्चों पर लगाम लगाने की घोषणा की है. हालांकि, इस बीच अधिकतर दिग्गज टेक्नोलॉजी कंपनियां छंटनी करने की बजाय हायरिंग प्रॉसेस को धीमा करने की योजना पर काम कर रही हैं. इसका मतलब है कि अमेरिका में जॉब ग्रोथ नहीं रूकी है.


मैन्यूफैक्चरिंग जॉब्स में लगातार हो रही बढ़ोतरी के कारण जून में 2 लाख 65 हजार पेरोल्स के अनुमान को पीछे छोड़ते हुए 3 लाख 72 हजार रही.


जून में अमेरिका में 25 हजार इंफॉर्मेशन जॉब्स के लिए हायरिंग हुई जिसके कारण महामारी के पहले की तुलना में अब इस सेक्टर में 1 लाख 5 हजार अधिक पेरोल्स हैं.


हालांकि, इस बीच कुछ टेक्नोलॉजी कंपनियां छंटनी भी कर रही हैं. इसमें माइक्रोसॉफ्ट भी शामिल है, जिसने पिछले हफ्ते कहा कि वह कंपनी के स्ट्रक्चर में कुछ बदलाव करने के लिए कुछ पदों को खत्म कर रही है.


इस छंटनी से माइक्रोसॉफ्ट की 1 लाख 80 हजार लोगों के वर्कफोर्स का करीब 1 फीसदी वर्कफोर्स प्रभावित होगा. मई में इसने विंडोज, ऑफिस और टीम्स डिविजन में हायरिंग को धीमा करने की बात कही थी. हालांकि, इसके बावजूद साल के अंत तक माइक्रोसॉफ्ट वर्कफोर्स में बढ़ोतरी की संभावना जता रहा है.


पिछले महीने दुनिया के सबसे अमीर कारोबारी एलन मस्क की कंपनी टेस्ला ने सैकड़ों कर्मचारियों को निकाल दिया था और अपनी ऑटोपायलट सेल्फ ड्राइविंग टेक्नोलॉजी वाली कैलिफोर्नियां स्थित ऑफिस को बंद कर दिया था.


इससे पहले ही टेस्ला सीईओ मस्क ने कह दिया था कि तेजी से अस्थिरता की ओर बढ़ रही अर्थव्यवस्था के माहौल में छंटनी जरूरी हो गई है.


उन्होंने कहा था कि अगले तीन महीनों में 10 फीसदी वैतनिक कर्मचारी अपनी नौकरियां खो देंगे. हालांकि, माइक्रोसॉफ्ट की तरह उन्होंने भी साल भर में कंपनी के कर्मचारियों की संख्या बढ़ने की संभावना जताई थी.


कोविड-19 महामारी के दौरान भारी उछाल देखने वाली कंपनियों नेटफ्लिक्स Netflix और पेलोटन इंटरेक्टिव ने भी हाल के महीनों में कर्मचारियों की छंटनी की है. नेटफ्लिक्स ने जून में सैकड़ों कर्मचारियों को निकाल दिया जबकि पेलॉटन ने अपनी इन-हाउस मैन्यूफैक्चरिंग प्लांस को बंद करने की घोषणा की है.


मेटा ने अपने शुरुआती स्मार्टवॉच प्रोटोटाइप में से एक को भी रोक दिया है और नियमित कंज्यूमर्स के बजाय बिजनेस कस्टमर्स पर अधिक ध्यान केंद्रित करने के लिए अपने इन-होम वीडियो डिवाइस, पोर्टल को फिर से स्थापित किया.


पिछले हफ्ते, Google के सीईओ सुंदर पिचाई ने भी चौंकाते हुए कर्मचारियों को बताया था कि इस साल वे हायरिंग प्रॉसेस को धीमा रखेंगे. जबकि गूगल हर साल हजारों कर्मचारियों को हायर करती है.