Meta, Twitter में छंटनी के बीच इस कंपनी ने किया वर्कफोर्स चौगुनी करने का ऐलान, भारत में होगी हायरिंग

By Ritika Singh
November 11, 2022, Updated on : Fri Nov 11 2022 09:47:55 GMT+0000
Meta, Twitter में छंटनी के बीच इस कंपनी ने किया वर्कफोर्स चौगुनी करने का ऐलान, भारत में होगी हायरिंग
व्यवधानों के चलते Apple को इस सप्ताह प्रीमियम iPhone 14 मॉडल के शिपमेंट के लिए अपने पूर्वानुमान को कम करना पड़ा.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

Apple की आपूर्तिकर्ता फॉक्सकॉन (Foxconn) ने भारत में अपने iPhone कारखाने में दो वर्षों में कर्मचारियों की संख्या को चौगुना करने की योजना बनाई है. रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, मामले की जानकारी रखने वाले दो सरकारी अधिकारियों ने यह जानकारी दी है. उन्होंने इसे उत्पादन समायोजन का हिस्सा बताया है क्योंकि कंपनी को चीन में व्यवधानों का सामना करना पड़ रहा है.


फॉक्सकॉन हाल के हफ्तों में सुर्खियों में रही है. इसकी वजह कंपनी के झेंग्झौ संयंत्र में कड़े वायरस प्रतिबंध हैं. यह फैक्ट्री, दुनिया की सबसे बड़ी आईफोन फैक्ट्री है और यहां उत्पादन प्रभावित हो रहा है. वैश्विक आपूर्ति श्रृंखलाओं पर चीन की वायरस नीति के प्रभाव को लेकर चिंताएं पैदा हो गई हैं. इन व्यवधानों के चलते Apple को इस सप्ताह प्रीमियम iPhone 14 मॉडल के शिपमेंट के लिए अपने पूर्वानुमान को कम करना पड़ा. इससे व्यस्त ईयर-एंड हॉलिडे सीजन के लिए इसका बिक्री आउटलुक कम हो गया.

तमिलनाडु प्लांट में वर्कफोर्स 70000 तक ले जाने का प्लान

रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि ताइवान स्थित फॉक्सकॉन अब अगले दो वर्षों में और 53,000 वर्कर्स को जोड़कर दक्षिणी भारत में अपने संयंत्र में कर्मचारियों की संख्या को 70,000 तक करने की योजना बना रही है. भारत के दक्षिणी राज्य तमिलनाडु में संयंत्र का आकार फॉक्सकॉन के झेंग्झौ संयंत्र की तुलना में छोटा है. झेंग्झौ संयंत्र में 200,000 कर्मचारी कार्यरत हैं. फॉक्सकॉन को औपचारिक रूप से Hon Hai Precision Industry Co Ltd कहा जाता है. कंपनी ने 2019 में भारत में संयंत्र शुरू किया था और यह उत्पादन में तेजी ला रही है. इसने इसी साल iPhone 14 का उत्पादन शुरू किया.

तमिलनाडु प्रशासन के साथ चल रही बात

फॉक्सकॉन के चेयरमैन लियू यंग-वे ने गुरुवार को एक अर्निंग्स कॉल पर कहा कि कंपनी अपनी उत्पादन क्षमता और आउटपुट को समायोजित करेगी ताकि क्रिसमस और चंद्र नव वर्ष की छुट्टियों के लिए आपूर्ति पर संभावित व्यवधानों का कोई प्रभाव न पड़े. रॉयटर्स की रिपोर्ट में कहा गया है कि एक सरकारी सूत्र ने कहा है कि फॉक्सकॉन ने चीन में व्यवधान के कारण भारतीय संयंत्र में अपने हायरिंग प्रयासों में तेजी लाने के बारे में तमिलनाडु के अधिकारियों के साथ योजनाओं को साझा किया है.


आईफोन के अलावा प्लांट अन्य वैश्विक टेक फर्मों के लिए भी उत्पाद बनाता है, लेकिन नया हायरिंग पुश मुख्य रूप से आईफोन की बढ़ती मांग को पूरा करने की आवश्यकता से प्रेरित है. मामले की जानकारी रखने वाले ताइवान के एक व्यक्ति का कहना है कि फॉक्सकॉन भारत में अपने परिचालन का विस्तार, बेसिक मॉडल्स के लिए क्षमता बढ़ाने और भारतीय मांग को पूरा करने के लिए कर रही है. रॉयटर्स को भारत में दूसरे सरकारी सूत्र, जो कि तमिलनाडु प्रशासन में एक वरिष्ठ अधिकारी है, ने बताया है कि राज्य सरकार फॉक्सकॉन के साथ विस्तार को अंतिम रूप देने के लिए काम कर रही है.

भारत में 3 कंपनियां असेंबल करती हैं iPhones

वर्तमान में, iPhones को भारत में Apple के कम से कम तीन वैश्विक आपूर्तिकर्ताओं द्वारा असेंबल किया जाता है: तमिलनाडु में Foxconn और Pegatron, और निकटवर्ती कर्नाटक राज्य में विस्ट्रॉन द्वारा. जेपी मॉर्गन के विश्लेषकों ने सितंबर में अनुमान लगाया था कि 2025 तक Apple के हर 4 में से एक iPhone की मैन्युफैक्चरिंग भारत में होने की उपलब्धि हासिल की जा सकती है. Mac, iPad, Apple Watch और AirPods सहित सभी Apple उत्पादों का 25%, 2025 आते-आते चीन से बाहर बनने लग सकता है. अभी केवल 5% मैन्युफैक्चरिंग चीन के बाहर होती है.



Edited by Ritika Singh