बैंकर ने रिटायरमेंट लेकर पूरा किया पैशन, टोक्यो ओलंपिक में फोटोग्राफी कर छाए सुकुमार

बैंकर की नौकरी छोड़ शुरू की थी फोटोग्राफी, सचिन की एक तस्वीर ने कर दिया था फेमस

बैंकर ने रिटायरमेंट लेकर पूरा किया पैशन, टोक्यो ओलंपिक में फोटोग्राफी कर छाए सुकुमार

Friday August 27, 2021,

3 min Read

"फोटोग्राफी को लेकर सुकुमार की यात्रा साल 1978 में चेन्नई में तब शुरू हुई जब वह अपनी पहली नौकरी कर रहे थे। एक शौक की तरह शुरू हुई यह यात्रा जल्द ही उनके पैशन में तब्दील हो गई। फोटोग्राफी को लेकर सुकुमार की दीवानगी कुछ ऐसी थी कि उस समय उन्होने अपने लिए एक नया कैमरा खरीदने के लिए बैंक से लोन भी लिया था।"

k

फुटबॉल वर्ल्ड कप (FIFA 2018) के ऐतिहासिक पलों को अपने कैमरे में कैद करते सुकुमार, फोटो : फेसबुक

अपने पैशन को जीना शुरू करने के लिए उम्र कोई बंधन नहीं है और इस बात को साबित कर दिखाया है एस सुकुमार ने, जो कभी बैंकर हुआ करते थे लेकिन अपने पैशन के प्रति जुनूनी सुकुमार ने समय से पहले ही रिटायरमेंट लेने का फैसला कर लिया था। सुकुमार की गिनती आज देश के जाने-माने एक्शन फोटोग्राफर्स में होती है। 


66 साल के रिटायर्ड बैंकर सुकुमार ने इस साल हुए टोक्यो ओलंपिक को भी अपने कैमरे के जरिये कैप्चर किया था। ओलंपिक के दौरान सुकुमार ने बैडमिंटन, हॉकी, बॉक्सिंग और स्विमिंग आदि खेलों को कवर किया था। सुकुमार ने मीडिया से बात करते हुए अपनी इस यात्रा और इससे जुड़े अनुभवों को भी शेयर किया है।

क

गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा को फोटोग्राफी का हुनर सिखाते सुकुमार

खींच चुके हैं दिग्गजों की तस्वीरें

सुकुमार के अनुसार फोटोग्राफी के लिहाज से ओलंपिक के दौरान उन्हें आर्टिस्टिक जिम्नास्टिक कवर करना काफी अच्छा लगा। मीडिया से बात में सुकुमार ने बताया है कि इस तरह के बड़े इवेंट्स को कतई मिस नहीं करते हैं।

क

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सुकुमार

सेसाद्री सुकुमार सचिन तेंदुलकर, लिओनेल मेसी और क्रिस्टियानो रोनाल्डो जैसे महान खिलाड़ियों की तस्वीर अपने कैमरे के जरिये कैप्चर कर चुके हैं। 


ओलंपिक से पहले सुकुमार तमाम बड़ी फुटबॉल लीग, कई क्रिकेट विश्वकप, ग्रैंड प्रिक्स मोटरसाइकल रेसिंग और एशियन गेम्स के पलों को भी अपने कैमरे में कैद कर चुके हैं।

क

महेंद्र सिंह धोनी के साथ सुकुमार

सुकुमार के अनुसार दुनिया के सबसे तेज धावक रहे जमैका के उसैन बोल्ट की तस्वीर खींचना भी उनके लिए सबसे खास पलों में से एक रहा है।

लोन लेकर खरीदा था कैमरा

फोटोग्राफी को लेकर सुकुमार की यात्रा साल 1978 में चेन्नई में तब शुरू हुई जब वह अपनी पहली नौकरी कर रहे थे। एक शौक की तरह शुरू हुई यह यात्रा जल्द ही उनके पैशन में तब्दील हो गई। फोटोग्राफी को लेकर सुकुमार की दीवानगी कुछ ऐसी थी कि उस समय उन्होने अपने लिए एक नया कैमरा खरीदने के लिए बैंक से लोन भी लिया था।

क

सानिया मिर्ज़ा के साथ सुकुमार

बतौर बैंकर करीब दो दशक तक नौकरी करने के बाद सुकुमार ने साल 2001 में समय से पहले ही रिटायरमेंट ले लिया था। बस यहीं से सुकुमार ने खुद को पूरी तरह फोटोग्राफी के प्रति समर्पित कर दिया था।


सुकुमार ने चेन्नई के चेपक स्टेडियम में हुए भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट मैच के साथ खेलों में एक्शन फोटोग्राफी करने की शुरुआत की थी। 

खींची मास्टर ब्लास्टर की ऐतिहासिक तस्वीर

सुकुमार के लिए उनके जीवन का सबसे बड़ा पल तब आया जब साल 2014 में उनके द्वारा खींची गई मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर की तस्वीर को तेंदुलकर की आत्मकथा के कवर पर जगह मिली।

क

सचिन तेंदुलकर की वो ऐतिहासिक तस्वीर, जिसे सुकुमार ने अपने कैमरे में कैद किया था

गौरतलब है कि इसके लिए सैकड़ों फोटोग्राफरों ने हजारों तस्वीरें सचिन के सामने पेश की थीं, जिसमें से सचिन ने सुकुमार द्वारा खींची गई उस खास फोटो को ही चुना था।


यह तस्वीर दरअसल सचिन के आखिरी मैच की है, जबकि वे अंतिम पारी खेलकर पवेलियन की तरफ लौट रहे थे।

क

सचिन तेंदुलकर और उनकी पत्नी अंजली के साथ सुकुमार (फोटो : फेसबुक)

आज एक्शन फोटोग्राफी के महारथी कहे जाने वाले सुकुमार इस क्षेत्र में आगे बढ़ रहे युवाओं को टिप्स देते हुए कहते हैं कि खेल आदि की एक्शन फोटोग्राफी में आने से पहले उन्हें अन्य सभी तरह की फोटोग्राफी पर भी हाथ आजमाना चाहिए।


आपको बता दें, कि सुकुमार गरीब युवाओं के लिए खास वर्कशॉप्स का भी आयोजन करते हैं।


Edited by Ranjana Tripathi