2022 की बड़ी फ्लॉप फ़िल्में: क्या बॉलीवुड की स्टार इकॉनमी बदल रही है?

पहले बड़े स्टार्स के दम से फ़िल्में बॉक्स ऑफिस पर खूब धूम मचाती थी. मगर अब ऐसा नहीं है. बड़े-बड़े स्टार्स का स्टारडम भी फिल्मों को फ्लॉप होने से नहीं बचा पा रहा. बड़े बजट से बनी फ़िल्में अपनी मूल लागत तक नहीं निकाल पा रही हैं.

2022 की बड़ी फ्लॉप फ़िल्में: क्या बॉलीवुड की स्टार इकॉनमी बदल रही है?

Sunday September 18, 2022,

6 min Read

बॉलीवुड की इकॉनमी बड़े सितारों पर बहुत निर्भर करती है. पिछले कुछ सालों में इसमें कुछ बदलाव आने शुरू हुए हैं. सितारों के साथ-साथ कहानी और प्रोडक्शन वैल्यू  फ़िल्मों के बिज़नेस को प्रभावित करने लगे हैं. फ़िल्मी अर्थशास्त्र के बिगड़ने का एक बड़ा कारण कोरोना भी हैं. कोरोना महामारी के बाद हुए लॉकडाउन के चलते मल्टीप्लेक्स बंद होने की वजह से ऑडियंस का एक वर्ग OTT प्लेटफॉर्म्स की ओर शिफ्ट हो गया है. OTT पर अपने पसंद के कंटेंट को अपनी कम्फर्ट जोन में रहकर कम पैसे देकर देखना लोगों को अब ज्यादा पसंद आ रहा है. OTT पर लोगों के पास कंटेंट को स्किप करने का भी विकल्प रहता है. जितने रुपए में बड़े शहरों में एक बार टिकट लेकर मूवी देखते हैं, उतने में ही एक OTT प्लेटफार्म का महीने भर का सब्सक्रिप्शन मिल जाता है.

साल 2022 में इस ट्रेंड को हम कुछ बड़ी लागत और बड़े स्टार के साथ रीलीज हुई फ़िल्मों की असफलता में मज़बूत होता हुआ देख सकते हैं. इस साल बॉलीवुड ने बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप फिल्में देने का ऐसा रिकॉर्ड बनाया है, जो कि लगातार  कायम है। साल की शुरुआत से ही एक के बाद एक फिल्में टिकट खिड़की पर धराशाही होती नज़र आई. एक ओर जहां साउथ की फ़िल्में धमाल मचा रहीं थी, बॉलीवुड फ़िल्में कुछ खास नहीं कर पाई. चाहे वो बड़े बजट की फिल्म हो या छोटे बजट की, सुपरस्टार की हो या न्यूकमर की.. ज्यादातर फिल्में औंधे मुंह गिरीं. फिल्म के गाने और वीएफएक्स भी फिल्म को फ्लॉप होने से नहीं बचा पाए.

बदलते समय के साथ लोगों का फिल्मों को पसंद करने का नज़रियां भी बदल गया है. पहले बड़े स्टार्स के दम से फ़िल्में बॉक्स ऑफिस पर खूब धूम मचाती थी. मगर अब ऐसा नहीं है. बड़े-बड़े स्टार्स का स्टारडम भी फिल्मों  को फ्लॉप होने से नहीं बचा पा रहा. बड़े बजट से बनी फ़िल्में अपनी मूल लागत तक नहीं निकाल पा रही हैं. तो चलिए आज आपको बताते हैं 2022 की उन बॉलीवुड फिल्मों के बारे में जिन्होंने फ्लॉप मूवीज की लिस्ट में टॉप किया है.

धाकड़

Kangana Ranaut, Arjun Rampal, Divya Dutta की एक्शन फिल्म Dhaakad बॉक्स ऑफिस पर औंधे मुंह गिरी. फिल्म का ट्रेलर लोगों ने पसंद किया गया था, लेकिन फिल्म बुरी तरह फ्लॉप हो गई. एक लंबे अरसे से हिंदी सिनेमा में सीक्रेट एजेंट की सीरीज में सलमान खान, अजय देवगन, अक्षय कुमार जैसे स्टार्स ने ही कमान संभाल रखी थी, ऐसे में कंगना रनौत को स्पाई और सुपर सीक्रेट एजेंट के तौर पर फिल्म में देखना निसंदेह एक बड़ा चेंज साबित था. मगर फिल्म थिएटर में कुछ ख़ास नहीं कर सकी. 93 करोड़ की लागत से बनी ये फिल्म भारत में  मात्र 2.58 करोड़ की कमाई ही कर सकी. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो धाकड़ पहले दिन मात्र 50 लाख का ही बिजनेस कर पाई थी. 

सम्राट पृथ्वीराज 

Akshay Kumar, Sanjay Dutt, Sonu Sood, Ashutosh Rana, Manushi Chhillar के अभिनय से सजी फिल्म Samrat Prithviraj महान योद्धा पृथ्वीराज चौहान की यश गाथा पर आधारित है. फिल्म में पृथ्वीराज चौहान के किरदार को अक्षय कुमार ने निभाया है. भारतीय इतिहास के गौरवशाली पन्नों को पलटती इस फिल्म से उम्मीद की जा रही थी कि ये बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाएगी, मगर ऐसा हुआ नहीं. पृथ्वीराज चौहान के गौरवशाली इतिहास पर चंदबरदाई द्वारा लिखी किताब ‘पृथ्वीराज रासो’ पर आधारित कहानी को डॉ. चन्द्र प्रकाश द्विवेदी के निर्देशन में फिल्माई गई ये फिल्म दर्शकों को लुभा पाने में नाकाम साबित हुई. 200 करोड़ के बड़े बजट से बनी ये फिल्म भारत में मात्र 68 करोड ही कमा पाई

बड़े बजट की फिल्म हो या छोटे बजट की, सुपरस्टार की हो या न्यूकमर की.. बॉलीवुड की ज्यादातर फिल्में बॉक्स ऑफिस पर औंधे मुंह गिरीं

लाल सिंह चड्ढा

Laal Singh Chaddha 1994 में आई हॉलीवुड के मशहूर अभिनेता Tom Hanks की 6 एकेडमी पुरस्कार जीत चुकी फिल्म 'Forrest Gumps' की ऑफिशियल रीमेक है. फिल्म के मुख्य पात्र ‘लाल सिंह चड्ढा’ का किरदार बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान ने निभाया है. अतुल कुलकर्णी के लेखन और अद्वैत चंदन के निर्देशन में बनी ये फिल्म 1984 की इमर्जेन्सी से शुरू होकर मोदी सरकार तक घटित कई प्रमुख घटनाओं को दर्शाती है, जिसमे बाबरी मस्जिद, मंडल आयोग, ऑपरेशन ब्लू स्टार, कसाब का आतंकी हमला जैसे राजनीतिक और धार्मिक मुद्दों का भी ज़िक्र है. फिल्म के रिलीज़ होने से पहले ही आलोचकों ने फिल्म को बायकॉट करना शुरू करदिया था. आमिर खान प्रोडक्शन और वायकॉम 18 मोशन पिक्चर्स द्वारा बनाई गई इस फिल्म को दर्शकों ने नकार दिया. तील साल के शूट और 180 करोड़ के भारी बजट से बनी ये फिल्म भारत में मात्र 61 करोड़ की कमाई ही कर सकी

रक्षा बंधन 

रक्षाबंधन के दिन रिलीज़ हुई फिल्म ‘Raksha Bandhan’ में भाई और बहन के रिश्ते को दरसाया है. फिल्म की कहानी बहनों की शादी के लिए भाई द्वारा किए प्रयासों पर आधारित है. हिमांशु शर्मा और कनिका ढिल्लन की लिखी कहानी और आनंद एल राय के निर्देशन में बनी यह फिल्म दहेज जैसी कुप्रथा को मजबूती से उठाती है, जो आज भी भारतीय समाज में कुंडली मारे बैठी है. फिल्म में अक्षय कुमार और भूमि भूमि पेडनेकर के साथ बहनों के किरदार में सादिया खतीब (Sadia khateeb), सहजमीन कौर (Sahejmeen kaur), दीपिका खन्ना (Deepika khanna), स्मृति श्रीकांत (Smrithi srikanth) नज़र आई हैं. फ़िल्मी जानकारों की माने तो फिल्म में दहेज़ देने को स्वाभाविक माना गया है, और फिल्म का मुख्य किरदार दहेज़ की व्यवस्था करने के लिए हर मुमकिन प्रयास करता है. फिल्म दर्शकों को लुभाने में नाकाम नज़र आई. 158 करोड़ की लागत से बनी ये फिल्म भारत में मात्र 45 करोड़ की कमाई ही कर सकी. 

शमशेरा 

रणबीर कपूर, संजय दत्त और वाणी कपूर की एक्शन फिल्म ‘Shamshera’ बॉक्स ऑफिस पर अपनी पकड़ बनाने में असफल रही. मुख्य किरदार खमिरन समुदाय के सरगना शमशेरा का रणबीर कपूर ने निभाया है. फिल्म का निर्देशन करण मल्होत्रा ने किया है. करण मल्होत्रा ‘अग्निपथ’ और ‘मैं हूँ ना’ जैसी हिट फ़िल्में पहले भी दे चुके हैं. 183 करोड़ से बनी ये फिल्म भारत में मात्र 41 करोड़ ही कमा पाई.

इन बड़े सितारों वाली फ़िल्मों की असफलता क्या अब बड़े बजट, बड़े सेट और बड़े स्टार्स के फ़ार्मूले की जगह मज़बूत कहानी और अच्छे अभिनय की ओर जा रहे ट्रेंड को मज़बूत करेगी. क्या बॉलीवुड की इकॉनमी बड़े सितारों वाली फ़िल्मों की असफलता झेल पाएगी? या स्टार वापसी करेंगे?