कोरोना वायरस पर प्रैंक करना पड़ा भारी, अब हो सकती है 5 साल की जेल

By yourstory हिन्दी
February 13, 2020, Updated on : Thu Feb 13 2020 12:31:38 GMT+0000
कोरोना वायरस पर प्रैंक करना पड़ा भारी, अब हो सकती है 5 साल की जेल
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

रूस में कोरोना वायरस से जुड़ा प्रैंक करना एक ब्लॉगर को भारी पड़ गया। इस प्रैंक के लिए उसे 5 साल तक की सजा हो सकती है।

कोरोनावायरस से जुड़ा प्रैंक एक ब्लॉगर को भारी पड़ गया।

कोरोना वायरस से जुड़ा प्रैंक एक ब्लॉगर को भारी पड़ गया।



कोरोना वायरस ने एक ओर जहां दुनिया को सकते में डाल रखा है और चीन में इस वायरस की चपेट में आकर 1 हज़ार से भी अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। इसी बीच एक ब्लॉगर द्वारा कोरोना वायरस को लेकर किया गया प्रैंक उसे काफी भारी पड़ गया।


हुआ कुछ यूं कि मॉस्को शहर की मेट्रो में चढ़ा यह ब्लॉगर अचानक ट्रेन की फर्श पर लेट गया और तड़पने लगा, ऐसे में साथी यात्री परेशान होकर भागने लगे। ब्लॉगर में कोरोना वायरस से जुड़े लक्षण नज़र आ रहे थे, ऐसे में लोगों के बीच हड़कंप मच गया।

बाद में पता चला कि यह एक प्रैंक था, लेकिन इस प्रैंक के लिए ब्लॉगर करामत दज़बोरोव और उसके दोस्तों को रूस के अधिकारियों ने गिरफ्तार कर लिया। अब इस काम के लिए उसे और उसके साथियों को 5 साल तक की सजा भी हो सकती है।


ब्लॉगर ने यह वीडियो अपने सोशल मीडिया पेज पर 2 फरवरी को शेयर किया था, हालांकि बाद में इंस्टाग्राम और फेसबुक ने इस वीडियो को अपने प्लेटफ़ॉर्म से हटा दिया।


गौरतलब है कि चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ घटक कोरोना वायरस आज चीन समेत दुनिया के तमाम देशों पर प्रभाव डाल रहा है। चीन द्वारा जारी किए गए अंकाड़ों के अनुसार वहाँ कोरोना वायरस की चपेट में आने से 1 हज़ार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और 40 हज़ार से अधिक लोग इस वायरस से प्रभावित हुए हैं।


भारत ने चीन में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ने के साथ ही अपने नागरिकों को चीन से एयरलिफ्ट कर वापस बुला लिया था।


Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close