अब कचरा बेचकर पिज्जा खरीद सकते हैं आप, इस आंत्रप्रेन्योर का स्टार्टअप खींच रहा है लोगों का ध्यान

By शोभित शील
September 09, 2021, Updated on : Mon Sep 13 2021 05:13:42 GMT+0000
अब कचरा बेचकर पिज्जा खरीद सकते हैं आप, इस आंत्रप्रेन्योर का स्टार्टअप खींच रहा है लोगों का ध्यान
लंबे समय तक आईटी क्षेत्र में बतौर इंजीनियर काम करने के बाद हार्दिक शाह ने साल 2017 में इनोवेट ग्रीन टेक्नालजीज़ प्राइवेट लिमिटेड नाम के इस स्टार्टअप की शुरुआत की थी, जिसका उद्देश्य ग्राहकों के लिए कचरे के बदले रिसाइकल समान की खरीद को सुलभ बनाना था।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

क्या हो अगर आप एक ऐप के माध्यम से अपने घर के कचरे को बेचकर उसके बदले एक स्वादिष्ट पिज्जा अपने घर पर पा सकें। हालांकि आपको जानकर खुशी होगी कि ऐसा वास्तव में हो रहा है और अहमदाबाद आधारित स्टार्टअप इनोवेट ग्रीन टेक्नालजीज़ प्राइवेट लिमिटेड ऐसा करके बड़े स्तर पर पर्यावरण को बेहतर करने का काम कर रहा है।


आज जहां बड़े पैमाने पर लोग ऑनलाइन माध्यम से खरीददारी को प्राथमिकता दे रहे हैं, ऐसे में लोगों के घरों में बेहद बड़ी तादाद में कार्डबोर्ड के डब्बे आदि इकट्ठा हो जाते हैं। ऐसे में आज कस्बों में फिर भी कबाड़ खरीदने वाले नज़र आ जाते हैं लेकिन महानगरों में लोगों के लिए इन डब्बों का ढंग से निस्तारण करना एक प्रमुख समस्या है। इसी समस्या को इस स्टार्टअप की सब्सिडरी रिसाइकल-ग्रीन हल कर रही है।


लंबे समय तक आईटी क्षेत्र में बतौर इंजीनियर काम करने के बाद हार्दिक शाह ने साल 2017 में इनोवेट ग्रीन टेक्नालजीज़ प्राइवेट लिमिटेड नाम के इस स्टार्टअप की शुरुआत की थी, जिसका उद्देश्य ग्राहकों के लिए कचरे के बदले रिसाइकल समान की खरीद को सुलभ बनाना था।

f

(चित्र: हार्दिक शाह/फेसबुक)

जापान यात्रा से मिला आइडिया

हार्दिक को इस स्टार्टअप का आइडिया तब आया जब वे जापान की यात्रा पर गए थे। वहाँ पर वे कचरे के प्रबंधन को देखकर काफी आश्चर्यचकित हुए और फिर भारत में तकनीक के साथ हाथ मिलाते हुए उसी पद्धति पर काम करने का निर्णय कर लिया।


हार्दिक अपने इस स्टार्टअप के जरिये पर्यावरण संरक्षण में सक्रिय योगदान देना चाहते हैं, जहां देश भर के लोग तकनीक का सहारा लेकर इसमें लगातार भागीदारी करें। हार्दिक अब सर्कुलर इकॉनमी मॉडल पर काम करते हुए आगे बढ़ रहे हैं जहां लोग रिसाइकल हुए उत्पादों को फिर से इस्तेमाल कर सकते हैं, ऐसे में उत्पादों की आयु बढ़ने के साथ ही कचरा उत्पन्न होने में कमी दर्ज़ की जा रही है।


सर्कुलर इकॉनमी मॉडल को लेकर हार्दिक का कहना है कि इसके जरिये लोग पर्यावरण की मदद करते हुए अपने जीवनयापन की लागत को भी कम कर सकते हैं। ऐसे में एक ओर जहां लोग पैसे बचा सकेंगे, वहीं दूसरी ओर डंप होने वाले कचरे में भी बड़े पैमाने पर कमी लाई जा सकेगी।

कचरे से खरीदें पिज्जा

आज स्टार्टअप द्वारा तैयार की गई ऐप गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद हैं, जो ग्राहकों को न सिर्फ कचरा बेचने की अनुमति देती है बल्कि उसके बदले ग्राहक रिसाइकल उत्पाद या पिज्जा भी खरीद सकते हैं। इतना ही नहीं, ऐप के जरिये ग्राहक अपने पैसों को दान भी कर सकते हैं, जिसका उपयोग बाद में जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए किया जाएगा।


स्टार्टअप का यह दावा है कि उसकी ऐप के जरिये किए गए कचरा प्रबंधन के जरिये अब तक बड़ी मात्रा में पेड़ों को कटने से बचाया गया है, इसी के साथ उसमें जल और वायु प्रदूषण को कम करने में भी सहयोग किया है। अभी तक कचरे के लिए स्टार्टअप की पिकअप सेवा केवल अहमदाबाद में उपलब्ध है, लेकिन टीम जल्द ही अन्य शहरों में भी अपनी सेवाओं का विस्तार करना चाहती है।


गौरतलब है कि शुरुआत में कई चुनौतियों के बावजूद हार्दिक डटे रहे और अपने शुरुआती आइडिया पर सफलतापूर्वक काम करते हुए दो राउंड की फंडिंग भी जुटाई है।


YourStory की फ्लैगशिप स्टार्टअप-टेक और लीडरशिप कॉन्फ्रेंस 25-30 अक्टूबर, 2021 को अपने 13वें संस्करण के साथ शुरू होने जा रही है। TechSparks के बारे में अधिक अपडेट्स पाने के लिए साइन अप करें या पार्टनरशिप और स्पीकर के अवसरों में अपनी रुचि व्यक्त करने के लिए यहां साइन अप करें।


TechSparks 2021 के बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए यहां क्लिक करें।


Tech30 2021 के लिए आवेदन अब खुले हैं, जो भारत के 30 सबसे होनहार टेक स्टार्टअप्स की सूची है। Tech30 2021 स्टार्टअप बनने के लिए यहां शुरुआती चरण के स्टार्टअप के लिए अप्लाई करें या नॉमिनेट करें।


Edited by रविकांत पारीक