कैप्टन तानिया शेरगिल ने सैन्य दिवस पर की परेड की अगुवाई, गणतन्त्र दिवस पर भी करेंगी नेतृत्व

By yourstory हिन्दी
January 16, 2020, Updated on : Thu Jan 16 2020 09:31:31 GMT+0000
कैप्टन तानिया शेरगिल ने सैन्य दिवस पर की परेड की अगुवाई, गणतन्त्र दिवस पर भी करेंगी नेतृत्व
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कैप्टन तानिया शेरगिल ने सैन्य दिवस के मौके पर परेड में पुरुषों का नेतृत्व किया है। कैप्टन तानिया गणतंत्र दिवस के मौके पर भी परेड का नेतृत्व करेंगी।

कैप्टन तानिया शेरगिल

कैप्टन तानिया शेरगिल



15 जनवरी को 72वें सेना दिवस के मौके पर कैप्टन तानिया शेरगिल ने परेड का नेतृत्व किया। ऐसा पहली बार हुआ है जब इस मौके पर किसी महिला अधिकारी ने पुरुष जवानों का नेतृत्व किया है, इस परेड की सलामी सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुन्द नरवणे ने ली।


तान्या अपने परिवार की चौथी पीढ़ी हैं जो सेना में रहकर अपनी सेवाएँ दे रही हैं। तान्या से पहले उनके पिता, दादा और परदादा भी सेना में अपनी सेवाएं दे चुके हैं।


तानिया शेरगिल पंजाब के होशियारपुर स्थित गुड़दीवाल गाँव की निवासी हैं। तानिया ने सेना में आने से पहले इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन से बीटेक किया है। तानिया साल 2017 में चेन्नई की ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकादमी में दाखिल हुई थीं।


तानिया शेरगिल इस बार के गणतंत्र दिवस में भी परेड की कमान संभालेंगी, जबकि पिछले साल गणतंत्र दिवस पर कैप्टन भावना कस्तूरी ने परेड की कमान संभाली थी। इस बार गणतन्त्र दिवस पर मुख्य अतीति के तौर पर मुख्‍य अतिथि ब्राजील के राष्‍ट्रपति जायर बोल्‍सोनारो शामिल होंगे।


गौरतलब है कि तान्या एक सैन्य पृष्ठभूमि से आती हैं। तान्या के पिता, दादा और परदादा सभी सेना में अपनी सेवाएँ दे चुके हैं। तान्या के पिता सूरज सिंह 101 रेजीमेंट (जिसे तोपखाना रेजीमेंट कहा जाता है) में थे, जबकि इनके दादा 14वीं सशस्त्र रेजीमेंट और परदादा सिख रेजीमेंट में थे।


परिवार के सेना से जुड़े इतिहास को देखते हुए तान्या ने भी इंजीनियरिंग के बाद सेना को ही अपने भविष्य के रूप में चुना और अपनी काबिलियत के दम पर यह मुकाम हासिल किया।