पूरे भारत में 2.5 करोड़ भोजन के पैकेट वितरित करने जा रहे हैं स्टार शेफ विकास खन्ना

पूरे भारत में 2.5 करोड़ भोजन के पैकेट वितरित करने जा रहे हैं स्टार शेफ विकास खन्ना

Tuesday August 04, 2020,

2 min Read

करीब 50 प्रमुख ब्रांड के साथ ही निजी एवं सरकारी संगठनों और व्यक्तियों ने खन्ना के “फीड इंडिया” पहल के साथ साझेदारी की है।

शेफ विकास खन्ना

शेफ विकास खन्ना



न्यूयॉर्क, मिशेलिन स्टार शेफ विकास खन्ना कोविड-19 वैश्विक महामारी के बीच पूरे भारत में 2.5 करोड़ भोजन के पैकेट वितरित करने की उपलब्धि जल्द ही अपने नाम दर्ज कर लेगें। अब उनका लक्ष्य कोरोना वायरस के कारण मुश्किलों का सामना कर रहे एक करोड़ रेहड़ी-पटरी वालों और उनके परिवारों को जरूरी राशन एवं आपूर्ति उपलब्ध कराना है।


विश्व प्रख्यात 48 वर्षीय शेफ एवं लेखक ने भारत के कोरोना वायरस वैश्विक महामारी की गिरफ्त में आने के बाद से मैनहट्टन में अपने घर से भोजन वितरण के विशाल अभियान का समन्वय किया है।


खन्ना ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया,

“हम राशन इकट्ठा कर रहे हैं और देश भर में रेहड़ी-पटरी वालों को एक करोड़ भोजन के पैकेट उपलब्ध कराने की योजना बना रहे हैं जो असल में भारतीय व्यंजनों की सही विरासत को संभाले हुए हैं।”

उन्होंने राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की मदद से वाराणसी में असंख्य अनाथाश्रमों, वृद्धाश्रमों, कुष्ठ रोग केंद्रों, विधवा आश्रमों, मुंबई के प्रसिद्ध डब्बावालों, नौका वालों और शिल्पकारों के साथ-साथ प्रवासी श्रमिकों और भारत के 125 शहरों के जरूरतमंद लोगों को राशन, भोजन और आवश्यक आपूर्ति उपलब्ध कराई है।


करीब 50 प्रमुख ब्रांड के साथ ही निजी एवं सरकारी संगठनों और व्यक्तियों ने खन्ना के “फीड इंडिया” पहल के साथ साझेदारी की है और उनका सहयोग किया है।


खन्ना वैश्विक महामारी के बीच 2.5 करोड़ भोजन के पैकेट वितरित करने की कामयाबी हासिल कर लेंगे और उन्होंने कहा है कि वह इस उपलब्धि को भारत की प्रसिद्ध कलाकार स्वर साम्राज्ञी लता मंगेश्कर को समर्पित करेंगे जिनके साथ उनका विशेष रिश्ता है।


इसके अलावा खन्ना बिहार और असम के बाढ़ प्रभावित इलाकों में लोगों को 20 लाख भोजन के पैकेट, कपड़े, आवश्यक सामान जैसे मच्छर मारने की दवा, मोमबत्तियां और माचिस उपलब्ध करा रहे हैं।


खन्ना ने ट्वीट किया,

“बिहार और असम के बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत कार्य को समर्थन देने के लिए कई चुनौतियां हैं। लेकिन मैं प्रभावित इलाकों में 20 लाख से अधिक भोजन के पैकेट उलब्ध कराने का संकल्प लेता हूं। हम अपनी क्षमता के हिसाब से हरसंभव प्रयास करेंगे।”