2023 में 10% कर्मचारियों की छंटनी करेगी चिप बनाने वाली कंपनी Micron

By रविकांत पारीक
December 23, 2022, Updated on : Fri Dec 23 2022 05:46:12 GMT+0000
2023 में 10% कर्मचारियों की छंटनी करेगी चिप बनाने वाली कंपनी Micron
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अमेरिका की चिप बनाने वाली कंपनी Micron ने घोषणा की है कि वह साल 2023 में अपनी कुल वर्कफोर्स के लगभग 10 फीसदी कर्मचारियों की छंटनी करेगी. कंपनी ने अपने इस फैसले के पीछे वजह सप्लाई और डिमांड में आई कमी और चुनौतीपूर्ण हालात को बताया है.


कंपनी ने यह फैसला तब लिया है जब इसने वित्तीय वर्ष (अमेरिकी) 2023 की अपनी पहली तिमाही के परिणामों की सूचना दी, जो 1 दिसंबर, 2022 को समाप्त हो गया.


कंपनी ने हाल ही में यूएस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन (एसईसी) फाइलिंग में कहा, "21 दिसंबर, 2022 को हमने मार्केट के चुनौतीपूर्ण हालात से निपटने के लिए एक पुनर्गठन योजना की घोषणा की."


कंपनी ने आगे कहा, "पुनर्गठन योजना के तहत, हम उम्मीद करते हैं कि कैलेंडर वर्ष 2023 की तुलना में कर्मचारियों की संख्या में लगभग 10 प्रतिशत की कमी आएगी, स्वैच्छिक नौकरी छोड़ने और कर्मियों की कटौती के संयोजन के माध्यम से."


इसके अलावा, चिप-निर्माता ने एसईसी फाइलिंग में उल्लेख किया है कि, "योजना के संबंध में, हम वित्त वर्ष 2023 की दूसरी तिमाही में कम से कम 30 मिलियन डॉलर का शुल्क लगाने की उम्मीद करते हैं, जो काफी हद तक नकद व्यय में है".


मौजूदा तिमाही में, कंपनी ने कहा कि उसे 3.8 बिलियन डॉलर के राजस्व पर 62 सेंट प्रति शेयर के नुकसान की उम्मीद है.


वहीं, माइक्रोन के सीईओ संजय मेहरोत्रा ​​ने समझाया कि चिप की बहुत अधिक आपूर्ति और पर्याप्त मांग नहीं है, जिसके परिणामस्वरूप कंपनी को इन्वेंट्री रखने और मूल्य निर्धारण की शक्ति खोनी पड़ी है.


मेहरोत्रा ​​ने कहा, "पिछले कई महीनों में हमने मांग में बहुत अधिक गिरावट देखी है."


उन्होंने कहा, "जबकि मार्केट के हालात चुनौतीपूर्ण बने हुए हैं, हम वर्तमान में दूसरी छमाही के वित्त वर्ष 2023 के राजस्व में पहली छमाही से सुधार की उम्मीद करते हैं."


मुद्रास्फीति, बढ़ती ब्याज दरें, भू-राजनीतिक तनाव और चीन में COVID-19 लॉकडाउन ने व्यवसायों और उपभोक्ताओं को खर्चों पर लगाम लगाने, पीसी और स्मार्टफोन बाजार को प्रभावित किया है. इसका सीधा असर चिप निर्माताओं के बिजनेस पर भी पड़ा है. स्थिति पिछले साल चिप की कमी से एक क्विक यू-टर्न थी जिसने लैपटॉप से ​​लेकर कार निर्माताओं तक सब कुछ प्रभावित किया.


माइक्रोन, गर्मियों में मंदी के बाजार को सतर्क करने वाली पहली प्रमुख चिप निर्माता थी. कंपनी ने पहले कहा था कि यह 2023 में निवेश में कटौती करेगी.

यह भी पढ़ें
रतन टाटा की कंपनी Tata Projects हायर करेगी 400 फ्रेशर इंजीनियर
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close