कोरोना से लड़ने के लिए दिमाग में है कोई आइडिया? सरकार को बताइए और 1 लाख रुपये ले जाइए

By कुमार रवि
March 17, 2020, Updated on : Thu Apr 08 2021 09:10:41 GMT+0000
कोरोना से लड़ने के लिए दिमाग में है कोई आइडिया? सरकार को बताइए और 1 लाख रुपये ले जाइए
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

एक संक्रमित वायरस से महामारी बन चुकी कोरोना (COVID-19) ने पूरी दुनिया को अपनी जद में ले लिया है। अब तक पूरी दुनिया में कोरोना के 1 लाख 80 हजार केस सामने आए हैं। इनमें 7 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। अकेले इटली में कोरोना से मरने वालों की संख्या 2100 से अधिक हो गई है। इससे लड़ने के लिए सरकारें अपनी ओर से पूरी कोशिश कर रही हैं। भारत में भी इस महामारी से लड़ने के लिए कई कदम उठाए गए हैं।


k

फोटो क्रेडिट: VTVGujarati



सरकार ने ऐहतियातन तौर पर 31 मार्च तक देश के सभी स्कूलों, कॉलेजों और मॉल्स को बंद करने का निर्देश दिया है। इसके अलावा सरकार ने एक नया हेल्पलाइन नंबर 1075 जारी किया है। अब सरकार इस खतरनाक महामारी से लड़ने के लिए यूनीक सॉल्यूशन खोज रही है। इसके लिए सरकार ने एक सॉल्यूशन चैलेंज लॉन्च किया है। इसमें आम जनता और स्टार्टअप्स से मदद मांगी गई है। अगर आपका सॉल्यूशन सबसे हटके और असरदार हुआ तो आप जीत सकते हैं 1 लाख रुपये। 


इस चैलेंज के बारे में प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर जानकारी दी। पीएम ने लिखा,

'एक स्वस्थ दुनिया के लिए इनोवेशन को काम में लेना। कई लोग कोरोना की रोकथाम के लिए तकनीक आधारित सॉल्यूशन साझा कर रहे हैं। मैं उनसे आग्रह करूंगा कि वे सॉल्यूशन्स को @mygovindia पर साझा करें। ये प्रयास कइयों की मदद कर सकते हैं।'


साथ में पीएम ने एक लिंक साझा किया।

दरअसल भारत सरकार ने इस महामारी की रोकथाम का असरदार और यूनीक सॉल्यूशन खोजने के लिए एक चैलेंज रखा है। इस चैलेंज को नाम है, 'कोविड-19 सॉल्यूशन चैलेंज'। इसमें भाग लेने वाले प्रतिभागियों को कोरोना के बचने के सॉल्यूशन बताने होंगे। अगर सरकार को आपका सॉल्यूशन पसंद आया तो आप 1 लाख रुपये जीत सकते हैं। चलिए तो हम आपको इस बारे में सब बता देते हैं...


भाग लेने की योग्यता

  • कोई भी व्यक्ति और स्टार्टअप इसमें भाग ले सकता है। अगर स्टार्टअप है तो वह ऐसा स्टार्टअप हो जो 19 फरवरी 2019 को डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड (DPIIT) द्वारा जारी किए गए ऑर्डर नंबर G.S.R. 127(E) में बताई गई स्टार्टअप की परिभाषा का पालन करता हो।


  • कोविड-19 सॉल्यूशन चैलेंज में विकसित किए जाने वाले किसी भी उत्पाद के लिए अगर किसी भी तरह की इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स (IPR) या पेटेंट का इस्तेमाल होता है तो उस भाग लेने वाले के पास ऐसा करने के लिए कानूनी अधिकार होना चाहिए।


मिलने वाला इनाम

बात करते हैं इनाम की तो इसमें शुरुआती तीन रैंक पर आने वाले प्रतिभागियों को इनाम मिलेगा। पहली रैंक पर आने वाले को 1 लाख रुपये, दूसरी रैंक वाले को 50,000 रुपये और तीसरे स्थान पर रहने वाले प्रतिभागी को 25,000 रुपये दिए जाएंगे।


समय सीमा

यहां ध्यान देने योग्य बात यह है कि इस चैलेंज की शुरुआत 16 मार्च से हुई है और इसमें भाग लेने की आखिरी तारीखी 31 मार्च है। यानी कि आपका आइडिया कितना भी असरदार हो लेकिन अगर लेट कर गए तो कोई फायदा नहीं है। और हां यह आधार-पैन लिंक कराने की आखिरी तारीख की तरह बढ़ने वाली भी नहीं है।


नियम और शर्तें

आवेदकों को सॉल्यूशन पूरा करके दिए गए लिंक पर सबमिट करना होगा। आवेदक अपने यूनीक सॉल्यूशन की या तो पीडीएफ फाइल (अधिकतम 3 A4 साइज के पेज जिनमें एरियल 12X फोंट का इस्तेमाल हो) या फिर यूट्यूब विडियो लिंक (अधिकतम 3 मिनट का) दे सकते हैं।


अधिक जानकारी के लिए इस लिंक पर कीजिए...

https://innovate.mygov.in/covid19/


अगर बात करें कोरोना की तो इस महामारी ने विकराल रूप लेना शुरू कर दिया है। चीन ने इस पर कुछ हद तक काबू पा लिया है लेकिन इटली इससे उबर नहीं पा रहा है। वहां पर एक ही दिन में 300 से अधिक लोगों की मौत इस महामारी की चपेट में आने से हुई है। भारत के मामले फिलहाल हालात काबू में हैं।


देश में अब तक कोरोना के 114 केस दर्ज किए गए हैं। इनमें से 2 की मौत हो चुकी है। माइक्रोसॉफ्ट की वेबसाइट बिंग की मानें तो अभी तक पूरी दुनिया में कोरोना के 1,82,422 केस दर्ज किए गए हैं। इनमें से 7,146 लोगों की मौत हो चुकी है और 96,678 लोग अभी भी इस वायरस से लड़ रहे हैं। 78598 लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने इस वायरस को मात दे दी है।