कोविड-19 : जब एक अमेरिकी डॉक्टर ने चेतावनी दी कि उन्हें गोलियों के बगैर ही युद्ध में भेजा रहा

By भाषा पीटीआई
May 14, 2020, Updated on : Thu May 14 2020 07:01:31 GMT+0000
कोविड-19 : जब एक अमेरिकी डॉक्टर ने चेतावनी दी कि उन्हें गोलियों के बगैर ही युद्ध में भेजा रहा
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

वाशिंगटन, अमेरिका में कोविड-19 के मामले बढ़ने के साथ चिकित्सा सामग्रियों की आपूर्ति का अभाव होने से नाराज एक चिकित्सक ने चेतावनी दी कि उन्हें गोलियों के बगैर युद्ध में भेजा जा रहा है।


k

सांकेतिक फोटो (साभार: ShutterStock)


उसी दिन लॉस एंजिलिस अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर चिकित्सकों और नर्सों के लिए एन 95 मास्क और अन्य जरूरी सामान लेकर एक मालवाहक विमान उतरा।


उल्लेखनीय है कि कोविड-19 मरीजों का इलाज करने के दौरान अहम सुरक्षा उपकरण के अभाव के चलते देश में कई स्वास्थ्यकर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं।


अमेरिकन कॉलेज ऑफ इमरजेंसी फिजियशन के मुताबिक उसी दिन आपात सेवा कक्ष के चिकित्सक की संक्रमण से मौत हो गई।


उन्होंने अपने एक मित्र को मोबाइल पर संदेश भेजा था कि वह सुरक्षा उपकरण या एन 95 मास्क के बगैर असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। अमेरिका में इस तरह की यह पहली मौत थी।


मार्च के अंत में उस रात चिकित्सा उपकरणों की जो खेप पहुंची, वह समस्या का हल करने वाली नहीं थी। समाचार एजेंसी एपी की छानबीन में यह पता चला कि ये मास्क नकली थे- जैसा देश भर में अस्पतालों में इस्तेमाल किये जा रहे लाखों मेडिकल मास्क, दस्ताने, गाउन और अन्य चिकित्सा सामग्री नकली हैं।



Edited by रविकांत पारीक