Economics Nobel Prize 2022 : इन तीन अर्थशास्त्रियों को मिला है नोबेल पुरस्कार

By Rajat Pandey
October 11, 2022, Updated on : Tue Oct 11 2022 09:10:14 GMT+0000
Economics Nobel Prize 2022 : इन तीन अर्थशास्त्रियों को मिला है नोबेल पुरस्कार
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

सभी नोबेल पुरस्कारों (Nobel Prize 2022 for Economics) की घोषणा के बाद आखिर में अर्थशास्त्र (Economics) के क्षेत्र में भी नोबेल पुरस्कार विजेता का एलान कर दिया गया है. रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज (Royal Swedish Academy of Sciences) ने वर्ष 2022 के लिए ये पुरस्कार एक नहीं बल्कि तीन अर्थशास्त्रियों को दिया है. समिति ने बेन एस बर्नानके (Ben S Bernanke), डगलस डब्ल्यू डायमंड (Douglas W Diamond) और फिलिप एच डायबविग (Philip H Dybvi) को अर्थशास्त्र के लिए नोबेल पुरस्कार देने का फैसला किया है. 


नोबेल समिति ने पुरस्कार की घोषणा करते हुए कहा कि इन अमेरिकी अर्थशास्त्रियों को बैंकों और वित्तीय संकट (Financial Crisis) पर उनके उत्कृष्ट कार्यों के लिए इस प्रतिष्ठित पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. पिछले वर्ष 2021 में भी अर्थशास्त्र के लिए तीन लोगों को ये पुरस्कार दिया गया था. डेविड कार्ड (David Card), जोशुआ एंग्रिस्ट (Joshua Angrist) और गुइडो इम्बेन्स (Guido Wilhelmus) 2021 के अर्थशास्त्र में नोबल पुरस्कार विजेता थे.


इस शोध की शुरुआत 1980 के दशक की आरंभ में बेन बर्नानके, डगलस डायमंड और फिलिप डायबविग ने की थी. रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज ने अपनी प्रेस रिलीज में कहा कि वित्तीय मार्केट को रेगुलेट करने और वित्तीय संकटों (Financial Crisis) से निपटने में उनके विश्लेषण का बहुत व्यावहारिक महत्व है.


2020 में जब कोरोना महामारी ने दस्तक दी तब वैश्विक वित्तीय संकट से बचने के लिए महत्वपूर्ण उपाय किए गए थे. पुरस्कार विजेताओं की सूझ बूझ ने यह सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी महामारी के दूरगामी असर समाज पर ज्यादा ना पड़े.


प्रेस रिलीज के अनुसार, रिसर्च ने बैंकों पर कुछ महत्वपूर्ण प्रश्नों की नींव रखी है. "यदि बैंकिंग पतन से इतना नुकसान हो सकता है, तो क्या हम बैंकों के बिना मैनेज कर सकते हैं? क्या बैंकों को इतना अस्थिर होना चाहिए और यदि हां, तो क्यों? समाज बैंकिंग प्रणाली की स्थिरता को कैसे सुधार सकता है? बैंकिंग संकट के परिणाम इतने लंबे समय तक क्यों रहते हैं? और, अगर बैंक विफल हो जाते हैं, तो तुरंत नए क्यों नहीं स्थापित किए जा सकते हैं ताकि अर्थव्यवस्था जल्दी से अपने पैरों पर वापस आ जाए?


यह सवाल बड़ी समस्या हैं, जो बैंकों और पैसों को अस्थिरता के प्रति संवेदनशील बनाते हैं. उदाहरण के लिए, जब लोग इस साल की शुरुआत में चीन के कुछ ग्रामीण बैंकों से अपना पैसा निकालने में असमर्थ थे, तो उन्होंने बैंक रन देखें. एक बैंक रन हो सकता है जहां कई बचतकर्ता एक साथ अपना पैसा निकालने का प्रयास करते हैं, जिससे बैंक का पतन हो सकता है

2022 के नोबेल पुरस्कार विजेता 

नोबेल पुरस्कारों की घोषणा का सप्ताह सोमवार को चिकित्सा के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार विजेता स्वीडिश वैज्ञानिक Svante Paabo के नाम की घोषणा से हुई थी. इसके बाद भौतिकी में  एलेन एस्पेक्ट (Alain Aspect), जॉन एफ क्लॉजर (John F. Clauser) और एंटोन ज़िलिंगर (Anton Zeilinger) , रसायनशास्त्र में कैरोलिन बेट्रोजी (Carolyn Bertozzi), मोर्टन मेल्डल (Morten Meldal) और के. बैरी शार्पलेस (Barry Sharpless), साहित्य में फ्रेंच लेखिका एनी एनॉक्स (Annie Ernaux) और  शांति का नोबेल पुरस्कार एलेस बियालियात्स्की (Ales Bialiatski) के साथ-साथ रूसी मानवाधिकार संगठन मेमोरियल (Memorial) और यूक्रेन के मानवाधिकार संगठन सेंटर फॉर सिविल लिबर्टीज (Center for Civil Liberties) को दिया गया. 


अर्थशास्त्र के क्षेत्र में नोबेल की घोषणा के बाद अब सभी नोबल पुरस्कारों की घोषणा की समाप्ति हो चुकी है.