Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

ADVERTISEMENT
Advertise with us

17 साल के श्रेयान ने 10वीं के बाद पढ़ाई छोड़ किया स्टार्टअप, मिली 90 लाख रुपये की फंडिंग

मुंबई के श्रेयान डागा ने महज 17 साल की उम्र में स्टार्टअप किया. उन्होंने 10वीं के बाद पढ़ाई छोड़ दी और Online Live Learning नाम से एडटेक स्टार्टअप किया. अब उनके स्टार्टअप को 90 लाख रुपये की फंडिंग मिली है.

17 साल के श्रेयान ने 10वीं के बाद पढ़ाई छोड़ किया स्टार्टअप, मिली 90 लाख रुपये की फंडिंग

Friday September 09, 2022 , 4 min Read

आज के दौर में पढ़ाई के बगैर कुछ भी नहीं है. उम्र, ज्ञान और सफलता को कागज़ की डिग्री से आंका जाता है. वहीं, श्रेयान की कहानी इसके ठीक उलट है. न तो उनके पास डिग्री है, और न ही उनकी उम्र ज्यादा है. लेकिन बावजूद इसके उन्होंने जो किया है, उसकी दूसरी मिसाल कम ही देखने को मिलती है.

मुंबई के श्रेयान डागा ने महज 17 साल की उम्र में स्टार्टअप किया. उन्होंने 10वीं के बाद पढ़ाई छोड़ दी और Online Live Learningनाम से एडटेक स्टार्टअप किया. अब उनके स्टार्टअप को 90 लाख रुपये की फंडिंग मिली है.

We Founder Circleजोकि शुरुआती चरण के स्टार्टअप्स में निवेश करता है, ने Online Live Learning (OLL) को सीड फंडिंग दी है. वी फाउंडर सर्कल (WFC) द्वारा ग्लोबल एक्सेलेरेटर प्रोग्राम EvolveX के जरिए 115K डॉलर (90 लाख रुपये) का निवेश किया गया. इसके साथ ही स्थापना के बाद से स्टार्टअप द्वारा जुटाई गई की कुल फंडिंग 1.1 करोड़ रुपये हो गई है. WFC ने स्टार्टअप को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए कई स्ट्रैटेजिक एंजेल्स के साथ हाथ मिलाया है और साथ ही साथ एडटेक इंडस्ट्री में प्रतिस्पर्धा में बढ़त हासिल करने में मदद की है.

OLL उत्साही शिक्षकों और उत्सुक छात्रों के लिए एक बाज़ार है. स्टार्टअप की स्थापना 2 छात्रों श्रेयान डागा और कोशिका महाजन ने की थी, जो शिक्षा के क्षेत्र में क्रांति लाने और एक समुदाय बनाने के लिए समान जुनून रखते हैं. मंच शिक्षकों को अपनी विशेषज्ञता का विस्तार करने में सक्षम बनाता है, और छात्र अपने नॉलेज बैंक का विस्तार करने के लिए आसानी से नामांकन कर सकते हैं.

OLL छात्रों को टेक्नोलॉजी (कोडिंग, रोबोटिक्स), कला, भाषा, लाइफस्किल्स (पब्लिक स्पीकिंग) और 100 से अधिक क्षेत्रों में अपनी रुचि के मुताबिक सीखने में मदद करता है. OLL द्वारा पेश किए जाने वाले सभी कोर्स लाइव इंटरएक्टिव हैं और STEM और UNESCO जैसे संगठनों द्वारा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रमाणित हैं. OLL टियर 2 और 3 शहरों में पहली से 10वीं कक्षा के छात्रों को टारगेट करता है क्योंकि इस आयु वर्ग में स्किल डेवलपमेंट की मांग बहुत अधिक है. कंपनी के को-फाउंडर श्रेयन डागा 17 साल के हैं और उन्होंने OLL के माध्यम से 1 बिलियन छात्रों को अपस्किल करने के अपने सपने को पूरा करने के लिए 10 वीं कक्षा के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी.

इस सीड फंडिंग राउंड में स्टार्टअप को गौरव वीके सिंघवी, नीरज त्यागी, भावना भटनागर, संदीप बालाजी, मिली श्रीवास्तव, दीपेश हिंदुजा, मोनिका गुप्ता, राहुल हिंगमिरे, मिलन मोदी, हर्ष मेथा, मनन एस पटेल समेत कई सफल एंजेल इन्वेस्टर्स और लीडर्स से जोरदार समर्थन मिला है.

वी फाउंडर सर्कल (WFC) की को-फाउंडर भावना भटनागर ने कहा: "वी फाउंडर सर्कल हमेशा से ही शुरुआती चरण के स्टार्टअप्स को सलाह देने और उनकी सहायता करने के लिए समर्पित है. हमने OLL में निवेश किया क्योंकि उन्होंने मेहनत और लगन से कंपनी खड़ी की और सफलता की नई इबारत लिखी है. OLL के सफल होने से एजुकेशन सिस्टम में बड़े बदलाव आ सकते हैं, जिससे समाज को काफी लाभ मिल सकता है. इसलिए, हम व्यापार रणनीति, सामुदायिक निर्माण और कुशल और सही व्यावसायिक सलाहकारों के साथ जुड़ने सहित विकास के सभी चरणों में उनकी सहायता करेंगे.”

वहीं, ऑनलाइन लाइव लर्निंग (OLL) के को-फाउंडर श्रेयान डागा ने कहा: “WFC का रणनीतिक निवेश भागीदार के रूप में होना OLL टीम और ग्राहकों के लिए अच्छी खबर है. हमें विश्वास है कि यह निवेश हमारे लिए फायदेमंद साबित होगा. हमें तेजी से बढ़ने में मदद करते हुए हमारे बिजनेस को भी नई ऊंचाई मिलेगा. हमारा बिजनेस मॉडल पहले से ही 70% का जीएम पैदा करता है, और ऐसे स्ट्रैटेजिक एंजेल्स के साथ, हम अपनी महत्वाकांक्षा को सफलता की राह बनाने का इरादा रखते हैं. हम स्पष्ट रूप से साल-दर-साल 50% से अधिक की वृद्धि देखने का लक्ष्य रखते हैं.“

ब्रांड पूरे भारत में स्कूल और शिक्षक नेटवर्क को स्केल करने के लिए ताजा फंडिंग का उपयोग करने की योजना बना रहा है. इसके साथ ही नए टैलेंट को हायर करने के लिए भी इस फंडिंग का इस्तेमाल किया जाएगा.

आपको बता दें कि मुंबई में 2020 में स्थापित, We Founder Circle सफल फाउंडर्स और स्ट्रैटेजिक एंजेल्स की एक ग्लोबल कम्यूनिटी है जो स्टार्टअप इंडस्ट्री को आगे बढ़ाने और इसे विकास की नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए एक साथ आए हैं. WFC ने शुरुआती चरण के स्टार्टअप में 50K-2Mn डॉलर तक की राशि का निवेश किया है जो महत्वाकांक्षा, स्थिरता और एक रणनीतिक दृष्टिकोण से प्रेरित हैं. WFC स्टार्टअप्स को सीड फंडिंग, बिजनेस डेवलपमेंट और ग्लोबल नेटवर्किंग के अवसर प्रदान करता है क्योंकि इसका मानना है कि शुरुआती चरण के स्टार्टअप को स्केलेबल और सस्टेनेबल बनने के लिए फाइनेंशियल सपोर्ट से परे भी बहुत कुछ चाहिए होता है. इसने अकेले वर्ष 2021 में 33 स्टार्टअप डील्स में पहले ही 12 मिलियन डॉलर का निवेश किया है और अपनी शुरुआत के बाद से अब तक कुल 56 स्टार्टअप में निवेश किया है.