एलोन मस्क ने Tesla के साथ भारत में मारी एंट्री; बेंगलुरु में कराया यूनिट का रजिस्ट्रेशन

अमेरिका स्थित इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता Tesla ने बेंगलुरु में एक नई इंडियन यूनिट का रजिस्ट्रेशन किया है। कंपनी ने डेविड जॉन फ़ीनस्टीन, वैभव तनेजा और वेंकटरंगम श्रीराम को भारतीय सहायक के निदेशक के रूप में नामित किया है।
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति और टेस्ला (Tesla) के सीईओ एलोन मस्क आखिरकार बहुप्रतीक्षित टेस्ला को भारत में लाने का प्रयास कर रहे हैं।


रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज के दाखिलों के अनुसार, ईवी निर्माता टेस्ला ने 8 जनवरी को अपनी सहायक कंपनी के रूप में बेंगलुरु में टेस्ला इंडिया मोटर्स एंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड नामक एक नई संस्था को रजिस्टर किया है।


ईवी दिग्ग्ज ने ग्लोबल सीनियर डायरेक्टर डेविड जॉन फेंस्टीन, मुख्य लेखा अधिकारी वैभव तनेजा, और आंत्रप्रेन्योर वेंकटरंगम श्रीराम को नवगठित इकाई के निदेशक के रूप में नामित किया।

Tesla

फाइलिंग्स से पता चला है कि सब्सिडरी पार्ट्स, कॉम्पोनेंट्स, इक्यूपमेंट्स और सामान सहित इलेक्ट्रिक वाहनों और ऊर्जा उत्पादों की बिक्री को बढ़ावा देने के लिए जिम्मेदार होगी। यह व्हिकल पार्ट्स, कॉम्पोनेंट्स, इक्यूपमेंट्स की खरीद, और इंजीनियरिंग, तकनीकी सहायता और प्रशिक्षण सेवाएं प्रदान करने सहित गतिविधियों में शामिल होगा।


फाइलिंग्स के अनुसार, “इसके निगमन पर कंपनी द्वारा अपनाई जाने वाली वस्तुओं का आयात, वितरण, बिक्री, सेवा, रखरखाव और मरम्मत के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों और स्थिर ऊर्जा भंडारण प्रणालियों और उपकरणों, ऊर्जा उत्पादन प्रणालियों और उपकरणों.... आदि मार्केटिंग, सर्विसिंग और / या पूर्वगामी उत्पादों में से प्रत्येक की बिक्री के संबंध में सभी गतिविधियों को शुरू करने के लिए हैं।“


दस्तावेजों में कहा गया है कि सब्सिडियरी को 1 लाख रुपये की भुगतान पूंजी और 15 लाख रुपये की अधिकृत शेयर पूंजी के साथ रजिस्टर किया गया है, जो कि 10 रुपये के 150,000 इक्विटी शेयरों में विभाजित है।


यह डेवलपमेंट द इंडियन एक्सप्रेस की दिसंबर 2020 की एक रिपोर्ट के तुरंत बाद आता है जिसमें कहा गया था कि टेस्ला साल 2021 की शुरुआत में भारतीय परिचालन शुरू करेगी।


टेक अरबपति एलोन मस्क, जो हाल ही में पिछले 12 महीनों में अपने नेट वर्थ में 160 बिलियन डॉलर से अधिक की संपत्ति जोड़कर अमेज़न के जेफ बेजोस को पीछे छोड़ते हुए दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए थे, लगभग दो वर्षों से भारत में प्रवेश करने की अपनी योजना व्यक्त कर रहे थे।


2018 में, मस्क ने ट्विटर पर 2019 तक भारत में आंशिक उपस्थिति की अपनी योजनाओं के बारे में खुलासा किया था। पिछले साल उन्होंने एक बार फिर 2021 तक भारत में परिचालन का विस्तार करने के अपने इरादे की पुष्टि की थी।


मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कर्नाटक राज्य सरकार निवेश के लिए इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता के साथ बातचीत कर रही थी। कंपनी कथित तौर पर जमीन के लिए स्काउटिंग कर रही है और कर्नाटक, महाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश की सरकारों के साथ बातचीत कर रही है।


रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत में उपलब्ध होने वाली पहली टेस्ला कार मॉडल 3 होगी, जिसकी कीमत लगभग 55-60 लाख रुपये हो सकती है।