कोरोना से लड़ने के लिए इस छोटे देश ने उठाया ऐसा कदम कि WHO के डीजी सहित हर कोई कर रहा तारीफ

By कुमार रवि
March 13, 2020, Updated on : Fri Mar 13 2020 09:01:30 GMT+0000
कोरोना से लड़ने के लिए इस छोटे देश ने उठाया ऐसा कदम कि WHO के डीजी सहित हर कोई कर रहा तारीफ
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कोरोना वायरस (COVID-19) के फैलने की गति से पूरी दुनिया सकते में है। रोज नए मामले सामने आते-आते कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 1 लाख को पार कर गई है। इससे मरने वालो की संख्या भी 5 हजार को छूने वाली है। इस वायरस से सबसे अधिक खतरा चीन, इटली और ईरान पर मंडरा रहा है। हर देश कोरोना से अपने नागरिकों की सुरक्षा करने के लिए कड़े कदम उठा रहा है और तैयारियां कर रहा है। ऐसी ही तैयारियां एक छोटे से देश ने की हैं जिसका विडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।


k

फोटो क्रेडिट: dailyexpress



सेंट्रल अफ्रीकी देश रवांडा ने कोरोना की रोकथाम के लिए ऐसा कदम उठाया है जिसकी सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ हो रही है। रवांडा में अभी तक कोरोना संक्रमण का एक भी केस सामने नहीं आया है। फिर भी वहां की सरकार इस खतरनाक वायरस की रोकथाम के लिए पूरी तरह से चौकन्नी है।


कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए हाथों को सही से धोना बेहद जरूरी है। रवांडा की राजधानी किगाली में पब्लिक ट्रांसपोर्ट में बैठने से पहले लोग अपने हाथों को सही से साफ करते हैं। सरकार ने इसके लिए उचित व्यवस्था की है जिसका विडियो सोशल मीडिया पर चर्चा में है। पहले आप विडियो देखिए...

विडियो में आप देख सकते हैं कि किगाली बस पार्क पर रास्ते में कई सारे पोर्टेबल वॉश बेसिन लगाए गए हैं। अगर कोई भी यात्री पब्लिक ट्रांसपोर्ट का प्रयोग करना चाहे तो उसे पहले यहां पर अपने हाथ सही से साफ करने होंगे। उसके बाद ही वह पब्लिक ट्रांसपोर्ट का प्रयोग कर सकेंगे। विडियो में कई लोग इनका इस्तेमाल करते भी देखे जा सकते हैं। रवांडा के इस कदम के बाद सोशल मीडिया पर वहां की सरकार की तारीफ हो रही है।


यहां तक कि वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) के डायरेक्टर जनरल टेद्रोस अडानोम गेब्रेयेसस ने भी रवांडा सरकार की तारीफ की है।


टेड्रोस ने ट्वीट कर लिखा,

'लोगों को सुरक्षित रखने और कोरोना की रोकथाम की तैयारियों का यह अद्भुत उदाहरण है। अच्छा काम रवांडा।'

WHO पहले ही कोरोना को महामारी घोषित कर चुका है।


मालूम हो, रवांडा एक सेंट्रल अफ्रीकी देश है। यह अफ्रीका के सबसे छोटे देशों में से एक है। इसकी सीमाएं कॉन्गो, बुरुंडी, तन्जानिया और युगांडा से लगती हैं। साल 1994 में यहां भीषण गृहयुद्ध हुआ था जिसमें लाखों लोगों की मौत हुई थी।


वर्ल्ड इकनॉमी फोरम के मुताबिक यह सेंट्रल अफ्रीका की सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था है।


बात करें भारत की तो भारत में केंद्र और सभी राज्य सरकारें पूरी तरह से अलर्ट पर हैं। दिल्ली और हरियाणा ने कोरोना को महामारी घोषित कर दिया है। वहीं पीएम मोदी ने लोगों से कहा है कि घबराएं नहीं लेकिन सावधानी बरतें।