फिनटेक स्टार्टअप Kissht ने कमाया 62.6 करोड़ रुपये का मुनाफा, 3 गुना बढ़ा रेवेन्यू

By रविकांत पारीक
October 20, 2022, Updated on : Thu Oct 20 2022 05:58:28 GMT+0000
फिनटेक स्टार्टअप Kissht ने कमाया 62.6 करोड़ रुपये का मुनाफा, 3 गुना बढ़ा रेवेन्यू
Kissht ने वित्तीय वर्ष में 50 करोड़ रुपये के लाभ के साथ 500 करोड़ रुपये का रेवेन्यू हासिल करने का अनुमान लगाया था और अपनी फाइलिंग के अनुसार, स्टार्टअप इससे आगे जाने में सफल रहा है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

मुंबई स्थित फिनटेक स्टार्टअप Kissht ने वित्तीय वर्ष 2021-22 (FY22) में 62.6 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया है. जबकि कंपनी ने पिछले वर्ष में 58.4 करोड़ रुपये का नुकसान दर्ज किया था. Kissht की पैरेंट कंपनी OneEMI Technology Solutions ने रेगूलेटरी फाइलिंग में इसकी जानकारी दी है.


वित्त वर्ष 2021 में कोविड-19 महामारी से उबरने के बाद, स्टार्टअप का ऑपरेशनल रेवेन्यू भी वित्त वर्ष 2022 में तीन गुना बढ़कर 513.6 करोड़ रुपये हो गया, जो वित्त वर्ष 2211 में 170.3 करोड़ रुपये था. लेंडिंग टेक स्टार्टअप जो अपने यूजर्स को छोटे-छोटे लोन देता है, का कुल रेवेन्यू वित्त वर्ष 22 में बढ़कर 517.2 करोड़ रुपये हो गया, जो पिछले वित्तीय वर्ष में 175.9 करोड़ रुपये था.


Kissht ने अपने प्लेटफॉर्म पर प्रोसेसिंग फीस से सबसे अधिक 291.6 करोड़ रुपये का रेवेन्यू हासिल किया है, जिसके बाद 92.8 करोड़ रुपये की मार्केटिंग इनकम हुई है.


Kissht ने वित्तीय वर्ष में 50 करोड़ रुपये के लाभ के साथ 500 करोड़ रुपये का रेवेन्यू हासिल करने का अनुमान लगाया था और अपनी फाइलिंग के अनुसार, स्टार्टअप इससे आगे जाने में सफल रहा है.


कृष्णन विश्वनाथन और रणवीर सिंह द्वारा 2015 में स्थापित, Kissht बिक्री के समय तेज और आसान EMI (equated monthly installment) देकर मर्चेंट स्टोर पर ऑनलाइन और ऑफलाइन खरीदारी को सक्षम बनाता है. RBI-रजिस्टर्ड NBFCs (Non-Banking Financial Company) जिन्होंने किश्त के साथ करार किया है, वे अपने प्लेटफॉर्म पर वस्तुओं और सेवाओं की खरीद के लिए क्रेडिट मूल्यांकन, KYC प्रोसेसिंग, क्रेडिट अप्रुवल और कंज्यूमर लोन के फाइनेंस का ध्यान रखते हैं.


Kissht वर्तमान में देश में महामारी के बाद आर्थिक सुधार से लाभान्वित हो रहा है, जिसके कारण मांग में भारी वृद्धि हुई है. हाल ही में क्रेडिट ब्यूरो की रिपोर्ट के अनुसार, भारत का उधार बाजार (India’s lending market) वित्त वर्ष 2022 में 11.1% साल-दर-साल (YoY) बढ़कर 174.3 लाख करोड़ रुपये हो गया.


Kissht वर्तमान में 500 से अधिक ऑनलाइन और 3,000 ऑफलाइन पार्टनर्स के साथ ग्राहकों को क्रेडिट देने के साथ 3.5 मिलियन ग्राहकों को संभालने का दावा करता है.


यहां गौर करने वाली बात यह है कि स्टार्टअप पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले इस वित्त वर्ष में में अपने कुल खर्चों में 2 गुना बढ़त के बावजूद मुनाफा हासिल करने में कामयाब रहा है. जहां वित्त वर्ष 2021 में इसका कुल खर्च 231.1 करोड़ रुपये था, जोकि वित्त वर्ष 2022 में 2 गुना बढ़कर 463.3 करोड़ रुपये हो गया.


इसी साल जून महीने की शुरूआत में फिनटेक स्टार्टअप ने अपने सीरीज ई फंडिंग राउंड में 80 मिलियन डॉलर जुटाने की घोषणा की थी. इस फंडिंग राउंड का नेतृत्व Vertex Growth और Brunei Investment Agency ने किया था. मौजूदा निवेशक - Vertex Ventures SEA and India, और Endiya Partners ने भी इस राउंड में भाग लिया.

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें