कोरोना वायरस के बाद चीन की जगह ले लेगा भारत!

By भाषा पीटीआई
April 23, 2020, Updated on : Thu Apr 23 2020 10:01:30 GMT+0000
कोरोना वायरस के बाद चीन की जगह ले लेगा भारत!
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारत केंद्रित एक अमेरिकी व्यापार वकालत समूह का दावा है कि कोरोना वायरस महामारी के बाद भारत के पास चीन की जगह लेने का अच्छा मौका है।

सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र



वाशिंगटन, भारत केंद्रित एक अमेरिकी व्यापार वकालत समूह ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी के बीच रिलायंस जियो में फेसबुक के 5.7 अरब डॉलर के निवेश से इस बात का पता चलता है कि विदेशी कंपनियों को भारतीय अर्थव्यवस्था की क्षमता और भविष्य में इसके विकास पर पूरा भरोसा है।


अमेरिका भारत रणनीतिक और साझेदारी मंच (यूएसआईएसपीएफ) के अध्यक्ष मुकेश अघी ने पीटीआई-भाषा से कहा कि कोविड-19 संकट के चलते भारत को विदेशी निवेश जुटाने और दुनिया के विनिर्माण केंद्र के रूप में चीन की जगह लेने का एक बढ़िया मौका मिला है।


अघी ने कहा,

‘‘मुझे पक्का भरोसा है कि एक बार जब कोविड-19 संकट खत्म हो जाएगा, तब भारत के पास सैकड़ों विदेशी कंपनियों को आकर्षित करने का सबसे अच्छा मौका होगा।’’

उन्होंने कहा कि इससे न सिर्फ रोजगार मिलेंगे, बल्कि निवेश भी आएगा और भारतीय अर्थव्यवस्था की गति तेज होगी।


उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के बीच एक भारतीय कंपनी में फेसबुक के कई अरब डॉलर के निवेश से पता चलता है कि भारत अभी भी डिजिटल वाणिज्य के लिए बेहद आकर्षक बाजार है।


अघी ने कहा,

‘‘फेसबुक और जियो के बीच साझेदारी न सिर्फ दोनों कंपनियों के हित में हैं, बल्कि इससे भारतीय नागरिकों और उपभोक्ताओं को भी फायदा होगा। ये भारत की अर्थव्यवस्था और भविष्य में वृद्धि संभावनाओं पर विदेशी कंपनियों के विश्वास को भी दर्शाता है।’’