[फंडिंग अलर्ट] एग्रीटेक स्टार्टअप बिगहाट ने प्री-सीरीज़ के ए राउंड में जुटाया 2 मिलियन डॉलर का निवेश

By yourstory हिन्दी
August 12, 2020, Updated on : Sat Aug 15 2020 05:02:54 GMT+0000
[फंडिंग अलर्ट] एग्रीटेक स्टार्टअप बिगहाट ने प्री-सीरीज़ के ए राउंड में जुटाया 2 मिलियन डॉलर का निवेश
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

फंडिंग राउंड का नेतृत्व जापानी निवेशक बियॉन्ड नेक्स्ट वेंचर्स ने किया है। स्टार्टअप पूंजी का उपयोग अपने डेटा और प्रौद्योगिकी को बढ़ाने के लिए करेगा।

बिगहाट टीम

बिगहाट टीम



बेंगलुरु स्थित बिगहाट ने प्री-सीरीज़ ए फंडिंग राउंड में 2 मिलियन डॉलर से अधिक का निवेश जुटाया है। स्टार्टअप पूंजी का उपयोग अपने डेटा और प्रौद्योगिकी को बढ़ाने के लिए करेगा। कंपनी अपने कारोबार के विभिन्न विभागों में भर्ती करने जा रही है और अगले 24 महीनों में पूरे भारत में 10 मिलियन से अधिक किसानों को शामिल करने का लक्ष्य है।


बिगहाट के सह-संस्थापक सचिन नंदवाना ने एक विज्ञप्ति में कहा, “मैं उम्मीद करता हूं कि अगले दो से तीन वर्षों में प्रत्येक परिवार के पास कम से कम एक स्मार्टफोन होगा। यह डिजिटल प्लेटफॉर्म के लिए एक गेम-चेंजर होगा, जिससे किसानों को तकनीक सुलभ होगी।”


मौजूदा दौर में रॉकस्टड कैपिटल, बिगहाट के मौजूदा निवेशक अंकुर कैपिटल और एंजेल निवेशकों की भागीदारी देखी गई।


सतीश नुकाला और सचिन नन्दवाना द्वारा 2015 में स्थापित बिगहाट एक एग्री-इनपुट ईकॉमर्स प्लेयर है। संस्थापकों की यह जोड़ी उनके कृषि परिवार की पृष्ठभूमि और MNCs में प्रौद्योगिकी और उत्पादों के विकास के दशकों के अनुभवों से प्रेरित थी।





बिगहाट का मिशन कृषि इमपुट्स के पारिस्थितिकी तंत्र को डिजिटल बनाना और किसानों को उच्च-गुणवत्ता वाले कृषि इनपुट्स तक पहुंच प्रदान करना है। यह विज्ञान, डेटा और प्रौद्योगिकी का लाभ उठाता है ताकि किसानों को डेटा के नेतृत्व वाली फसल की सलाह दी जा सके।


बिगहाट के सीईओ सतीश नकुला ने कहा,

“पारंपरिक कृषि-इनपुट आपूर्ति-श्रृंखला एक टूटा हुआ अनुभव है, जिससे किसान को आर्थिक परेशानी होती है। प्रौद्योगिकी इस गंभीर समस्या का समाधान कर सकती है और किसान की पूर्व फसल यात्रा को लाभदायक में बदल सकती है।”

डिजिटल प्लेटफॉर्म वर्तमान में पूरे भारत में तीन मिलियन से अधिक किसानों के साथ जुड़ा है। बिगहाट का मंच किसानों को सलाहकार और उत्पादों के लिए ओमनी-चैनल की सुविधा प्रदान करता है। यह डिजिटल टच-पॉइंट्स (मोबाइल ऐप / वेब), गैर-इंटरनेट उपयोगकर्ताओं के लिए एक मिस्ड कॉल और फ़ुट-ऑन-स्ट्रीट उपस्थिति के माध्यम से इसे प्राप्त करता है। यह कई क्षेत्रीय भाषाओं में ग्रामीण उपयोगकर्ताओं के लिए शानदार सलाह प्रदान करता है।