गौतम अडानी को दो और कंपनियों के अधिग्रहण की मंजूरी मिली, अब इस सेक्टर में दबदबे की तैयारी

By yourstory हिन्दी
September 30, 2022, Updated on : Fri Sep 30 2022 06:04:35 GMT+0000
गौतम अडानी को दो और कंपनियों के अधिग्रहण की मंजूरी मिली, अब इस सेक्टर में दबदबे की तैयारी
BSE लिमिटेड के साथ-साथ नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड में सूचीबद्ध शेयरों के साथ भारत में शामिल एक सार्वजनिक सूचीबद्ध कंपनी, अडानी पावर के भारत में आठ परिचालन बिजली संयंत्र हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) ने गुरुवार को अडानी ग्रुप Adani Group की कंपनी अडानी पावर लिमिटेड द्वारा डिलिजेंट पावर प्राइवेट लिमिटेड और डीबी पावर प्राइवेट लिमिटेड की 100 प्रतिशत शेयर पूंजी के अधिग्रहण को मंजूरी दे दी. प्रस्तावित सौदे में अडानी पावर द्वारा डिलिजेंट पावर और डीबी पावर के शेयर पूंजी और आर्थिक अधिकारों का 100 प्रतिशत अधिग्रहण शामिल है.


BSE लिमिटेड के साथ-साथ नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड में सूचीबद्ध शेयरों के साथ भारत में शामिल एक सार्वजनिक सूचीबद्ध कंपनी, अडानी पावर के भारत में आठ परिचालन बिजली संयंत्र हैं.


इसकी बिजली उत्पादन क्षमता 13,650 मेगावाट है जिसमें गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में थर्मल पावर प्लांट और गुजरात में 40 मेगावाट की सौर ऊर्जा परियोजना शामिल है. डिलिजेंट पावर मुख्य रूप से एक होल्डिंग कंपनी की गतिविधियों में लगी हुई है.


यह डीबी पावर को परियोजना प्रबंधन और परामर्श सेवाएं भी प्रदान करता है. डीबी पावर छत्तीसगढ़ में 1,200 मेगावाट की स्थापित क्षमता वाला कोयला आधारित थर्मल पावर प्लांट संचालित करता है.

अडानी पावर ने अगस्त में की थी सौदे की घोषणा

अगस्त में अडानी पावर ने डीबी पावर लि. का 7,017 करोड़ रुपये के उपक्रम मूल्य पर अधिग्रहण करने की घोषणा की थी. डीबी पावर लि. के पास छत्तीसगढ़ के जांजगीर चंपा जिले में 600-600 मेगावॉट की दो इकाइयां (दो गुना 600) हैं जिनका वह परिचालन करती है.


अडाणी पावर ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा था कि कंपनी के पास 923.5 मेगावॉट क्षमता को लेकर दीर्घकालीन और मध्यावधि बिजली खरीद समझौता है. साथ ही ईधन आपूर्ति के लिये कोल इंडिया लि. के साथ करार है और कंपनी लाभ में है.


अधिग्रहण की समयसीमा के बारे में कंपनी ने कहा था कि शुरुआती समझौते के तहत यह तीन अक्टूबर, 2022 तक पूरा होगा. हालांकि, आपसी सहमति से इसे आगे बढ़ाया जा सकता है. इस अधिग्रहण से अडाणी पावर छत्तीसगढ़ में तापीय बिजली क्षेत्र में विस्तार कर सकेगी.

JSW Neo Energy-Mytrah Energy deal को भी मंजूरी

इसके साथ ही, सीसीआई ने JSW Neo Energy Limited (JSW Neo Energy) द्वारा Mytrah Energy (India) Private Limited (Mytrah Energy) की 18 कंपनियों में हिस्सेदारी के अधिग्रहण को भी मंजूरी दे दी है.


प्रस्तावित सौदा अधिग्रहणकर्ता को 1,753 मेगावाट के परिचालन नवीकरणीय पोर्टफोलियो का अधिग्रहण करने का अवसर प्रदान करता है. जेएसडब्ल्यू नियो एनर्जी लिमिटेड जेएसडब्ल्यू एनर्जी लिमिटेड (जेईएल) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है और इसे जेईएल के अपने ऊर्जा व्यवसाय के ग्रे (थर्मल) और ग्रीन (रिन्यएबल) में प्रस्तावित पुनर्गठन के अनुसार शामिल किया गया था. वर्तमान में, अधिग्रहणकर्ता पनबिजली और सौर जैसे ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोतों के माध्यम से बिजली उत्पादन में लगा हुआ है.


Edited by Vishal Jaiswal