BCCI का ऐतिहासिक फैसला- अब महिला क्रिकेट खिलाडि़यों को भी मिलेगा पुरुषों की तरह एकसमान वेतन

By yourstory हिन्दी
October 27, 2022, Updated on : Thu Oct 27 2022 11:06:04 GMT+0000
BCCI का ऐतिहासिक फैसला- अब महिला क्रिकेट खिलाडि़यों को भी मिलेगा पुरुषों की तरह एकसमान वेतन
महिला क्रिकेट टीम लंबे समय से इस भेदभाव को खत्‍म करने की मांग कर रही थी, जिस पर BCCI ने अंतत: अपनी सहमति की मुहर लगा दी है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने 27 सितंबर, गुरुवार को एक ऐतिहासिक फैसला लिया. बीसीसीआई ने तय किया है कि अब उनके सेंट्रल कॉन्‍ट्रैक्‍ट में पुरुष और महिला क्रिकेट खिलाडि़यों को एकसमान (women cricketers equal pay) वेतन दिया जाएगा. बीसीसीआई ने दोनों टीमों के लिए समान वेतन की घोषणा की है. महिला क्रिकेट टीम की तरफ से लंबे समय से यह मांग की जा रही थी, जिस पर आखिरकार क्रिकेट बोर्ड ने अपनी सहमति की मुहर लगा ही दी.  


समान वेतन की यह ऐतिहासिक घोषणा करते हुए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के सचिव जय शाह ने कहा कि ये जेंडर भेदभाव को खत्‍म करने की दिशा में उठाया गया एक जरूरी कदम है.


इस फैसले का आधिकारिक घोषणा करते हुए जय शाह ने अपने ऑफिशियल ट्विटल हैंडल पर लिखा, "मुझे भेदभाव को दूर करने की दिशा में BCCI के इस पहले कदम की घोषणा करते हुए बहुत प्रसन्‍नता हो रही है. हम अपने साथ अनुबंध करने वाली महिला क्रिकेट खिलाडि़यों के लिए एकसमान वेतन की नीति लागू कर रहे हैं. अब पुरुष और महिला, दोनों क्रिकेट खिलाडि़यों का मैच का वेतन समान होगा क्योंकि हम लैंगिक बराबरी के एक नए युग में कदम रख चुके हैं."


पूर्व भारतीय क्रिकेटर हरभजन सिंह ने क्रिकेट खिलाडि़यों के साथ जेंडर के आधार पर लंबे समय से होते रहे इस भेदभाव की समाप्ति और समान वेतन लागू किए जाने के बीसीसीआई के फैसले की सराहना की है.


इस महान स्पिन बॉलर हरभजन सिंह ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर लिखा, "बीसीसीआई ने अन्य खेल निकायों के सामने एक उदाहरण पेश किया है. इससे क्रिकेट में महिलाओं की और अधिक भागीदारी को प्रोत्साहन मिलेगा. वास्तव में यह ऐतिहासिक फैसला मील का पत्थर है."


एकसमान वेतन का नियम लागू होने के बाद अब  हरमनप्रीत कौर और उनकी टीम को प्रत्‍येक टेस्ट मैच के लिए 15 लाख रुपए, प्रत्‍येक वनडे मैच के लिए 6 लाख रुपए और प्रत्‍येक T20 मैच के लिए 3 लाख रुपए फीस दी जाएगी, जो पुरुष खिलाड़ियों के समान है.


भारत की महिला राष्ट्रीय क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान मिताली राज ने भी भारतीय क्रिकेट इतिहास के इस महत्वपूर्ण दिन के बारे में अपनी खुशी जाहिर की है. वह लिखती हैं, "यह भारत में महिला क्रिकेट के लिए एक ऐतिहासिक निर्णय है. अगले साल विमेनआईपीएल के साथ-साथ अब एकसमान वेतन नीति भी लागू हो गई है. निश्चित ही हम भारत में महिला क्रिकेट के एक नए युग की शुरुआत कर रहे हैं.” मिताली राज ने इस ऐतिहासिक फैसले के लिए बीसीसीआई को धन्‍यवाद दिया है.   

 

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने भी खेलों में लैंगिक समानता को बढ़ावा देने के बीसीसीआई के इस फैसले की खूब सराहना की है. कौर ने लिखा है, "महिलाओं और पुरुषों के लिए घोषित वेतन समानता के साथ यह वास्‍तव में भारतीय महिला क्रिकेट के लिए एक अविस्‍मरणीय दिन है."


भारतीय महिला टीम ने हाल के महीनों में खेल में काफी शानदार प्रदर्शन किया है. हाल ही में भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने श्रीलंका की टीम को फाइनल में 8 विकेट से हराकर एशिया कप जीता था. यह मैच बांग्लादेश में खेला गया था. इसके अलावा इस साल की शुरुआत में विमेन क्रिकेट टीम ने बर्मिंघम में राष्ट्रमंडल खेलों में क्रिकेट में देश का पहला रजत पदक भी जीता था.  


बीसीसीआई ने अपनी पिछली वार्षिक आम बैठक (एजीएम) में घोषणा की थी कि अगले साल यानी वर्ष 2023 से महिला आईपीएल मैच खेला जाएगा. उस फैसले के बाद अब समान वेतन का यह फैसला भारत में महिला क्रिकेट को मजबूत बनाने की दिशा में उठाया गया ऐतिहासिक कदम है.


इस साल की शुरुआत में न्यूजीलैंड क्रिकेट (NZC) ने भी अपने देश में दोनों जेंडर की क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों को एकसमान वेतन दिए जाने की घोषणा की थी.


Edited by Manisha Pandey