कर्मचारियों की छंटनी के बाद अब Google ने शुरू की रोबोट की छंटनी

कर्मचारियों की छंटनी के बाद अब Google ने शुरू की रोबोट की छंटनी

Monday February 27, 2023,

3 min Read

दुनिया भर में कंपनियों लागत में कटौती का हवाला देते हुए अब तक कर्मचारियों की छंटनी कर रही थी. हजारों कर्मचारियों को अपनी नौकरियों से हाथ धोना पड़ा. लेकिन अब छंटनी का अगला स्तर शुरू हो गया है. और Google ने इसे अंजाम दिया है. पहले हजारों कर्मचारियों को नौकरी से निकालने के बाद कंपनी ने अब रोबोट की छंटनी की है.

Google के बजट में कटौती ने न केवल मनुष्यों बल्कि रोबोट को भी सेवा से बाहर कर दिया है. वायर्ड वेबसाइट के अनुसार, टेक दिग्गज एक टीम की छंटनी कर रही है, जिसने 100 से अधिक रोबोट को दरवाजे खोलने, कैफेटेरिया टेबल साफ करने और कचरे को छांटने का प्रशिक्षण दिया था.

"एवरीडे रोबोट्स" (Everyday Robots) Google की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट (Alphabet) के प्रोजेक्ट "X - The Moonshot Factory" प्रोग्राम का हिस्सा हैं. इसका उद्देश्य सामान्य-उद्देश्य वाले कार्यों के लिए रोबोट का निर्माण करना था जो असंरचित वातावरण में स्वतंत्र रूप से और सुरक्षित रूप से काम कर सके.

google-alphabet-inc-layoffs-robots-everyday-robots

एक अधिकारी ने वायर्ड को बताया कि एवरीडे रोबोट्स अब से अलग प्रोजेक्ट नहीं होगा.

मार्केटिंग और संचार के एवरीडे रोबोट्स के निदेशक डेनिस गैंबोआ ने कहा, "कुछ टेक और टीम के हिस्से को Google रिसर्च के मौजूदा रोबोटिक्स प्रयासों में समेकित किया जाएगा."

एवरीडे रोबोट्स टीम में 200 से अधिक कर्मचारी थे, जिनमें रोबोट डिजाइन और प्रशिक्षित करने वाले भी शामिल थे. अनुमान है कि प्रत्येक रोबोट पर Google को हजारों डॉलर खर्च करने पड़े हैं.

लेकिन, वायमो (Waymo) - ऑटोनोमस ड्राइविंग टेक्नोलॉजी जिस पर Google ने बड़ा दांव लगाया है, के साथ उन्हें रखना संभव नहीं था. वायर्ड के अनुसार, 2022 में Everyday Robots को 1 बिलियन डॉलर से अधिक का नुकसान हुआ.

कुछ का कहना है कि एवरीडे रोबोट्स का बंद होना समय से पहले था.

"हम यह देखना शुरू कर रहे हैं कि रोबोट सामान्य तरीके से सार्थक काम कर सकते हैं," पूर्व Google कर्मचारी ने वायर्ड को बताया. "मुझे नहीं लगता कि यह प्रगति की कमी का संकेत है. सही फोकस के साथ, पांच साल में आपके पास बाजार में एक सार्थक प्रोडक्ट हो सकता है.

Google ने जनवरी में बड़े पैमाने पर पुनर्गठन की घोषणा की, जिसमें वैश्विक स्तर पर 12,000 कर्मचारियों की छंटनी करना शामिल था.

छंटनी के बाद माइक्रोसॉफ्ट, मेटा, अमेज़ॅन और ट्विटर में बड़े पैमाने पर कर्मचारियों की छंटनी हुई क्योंकि टेक सेक्टर आर्थिक मंदी की चपेट में आ गया. दुनिया की टॉप पांच कंपनियों में केवल Apple ही छंटनी टालने में सफल रही.

छंटनी की घोषणा के एक महीने बाद, Google ने 2022 की अंतिम तिमाही के लिए खराब परिणामों की सूचना दी.

इसने रेवेन्यू में 76 बिलियन डॉलर और 13.6 बिलियन डॉलर के मुनाफे की सूचना दी. ये दोनों ही एक साल पहले की कमाई से कम हैं.

Google की विज्ञापन बिक्री में भी गिरावट आई थी. गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने अर्निंग कॉल के दौरान कहा, "महामारी के दौरान डिजिटल खर्च में महत्वपूर्ण तेजी के बाद, वृहद आर्थिक माहौल अधिक चुनौतीपूर्ण हो गया है."

यह भी पढ़ें
Chatgpt, AI जैसी टेक्नोलॉजी को-वर्कर होंगी, नहीं खाएगी आपकी नौकरी: TCS