तमिलनाडु के इस एग्रीटेक ऑन्त्रप्रेन्योर से क्यों मिले Google के सुंदर पिचाई? वजह है खास

By Induja Raghunathan & रविकांत पारीक
December 25, 2022, Updated on : Sun Dec 25 2022 07:38:29 GMT+0000
तमिलनाडु के इस एग्रीटेक ऑन्त्रप्रेन्योर से क्यों मिले Google के सुंदर पिचाई? वजह है खास
तमिलनाडु के माथुर शहर के रहने वाले ऑत्रप्रेन्योर सेल्वा मुरली, Agrisakthi ऐप चलाते हैं, जो राज्य में किसानों को प्रोडक्ट्स, इंश्योरेंस, मार्केट प्राइस जैसी अहम जानकारी देता है. Google के सीईओ सुंदर पिचाई ने हाल ही में सेल्वा से मुलाकात की. इस मुलाकात की वजह बेहद खास है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

सेल्वा मुरली, तमिलनाडु के एक छोटे से शहर से आते हैं. वे ऑन्त्रप्रेन्योर हैं और एक एग्री ऐप Agrisakthi चलाते हैं. उन्हें हाल ही में दिल्ली में Alphabet Inc. और इसकी सहायक कंपनी Google के सीईओ सुंदर पिचाई (Sundar Pichai) के साथ बातचीत करने का अवसर मिला.


सेल्वा का Agrisakthi ऐप एक सूचना प्रसार मंच है जिसे किसानों के कल्याण के लिए बनाया गया है. वह कृष्णागिरी जिले के माथुर शहर में Visual Media Technologies नामक एक सॉफ्टवेयर कंपनी के भी मालिक हैं.


सेल्वा सुंदर से कैसे मिले?


इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सहयोग से Google की Appscale Academy की पहल के तहत, Google ने छह महीने के प्रशिक्षण के लिए देश भर से 100 ऐप डेवलपर्स का चयन किया था.


सेल्वा उनमें से एक थे, और उन्हें दिल्ली में सुंदर के साथ बातचीत करने के लिए चुना गया था. सेल्वा कहते हैं, यह एक आश्चर्यजनक मुलाकात थी, और जब तक वह वास्तव में उनसे नहीं मिले, तब तक उन्हें नहीं पता था कि वह सुंदर से मिल रहे हैं.


YourStory ने सेल्वा से बातचीत के लिए संपर्क किया.


उत्साहित सेल्वा का कहना है कि सुंदर ने उनसे 15 मिनट से अधिक समय तक तमिल में बात की. सेल्वा ने Google के सीईओ को Agrisakthi ऐप और इसके फीचर्स के बारे में बताया.


सेल्वा ने सुंदर के साथ अपनी मुलाकात को "आकस्मिक" बातचीत के रूप में वर्णित किया.

Google के सीईओ सुंदर पिचाई के साथ सेल्वा मुरली

Google के सीईओ सुंदर पिचाई के साथ सेल्वा मुरली

Agrisakthi ऐप

इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि किसान परिवार से आने वाले सेल्वा ने एक ऐसा ऐप बनाने का फैसला किया जिससे किसानों को फायदा होगा.


प्ले स्टोर पर उपलब्ध Agrisakthi ऐप तमिलनाडु में किसानों को प्रोडक्ट्स, इंश्योरेंस, न्यूट्रिशन, मार्केट प्राइस और कृषि प्रशिक्षण के बारे में जानकारी देता है.


"मैंने Google के फीचर्स को तमिल भाषा में एप्लिकेशन में बदल दिया है," वे कहते हैं.


उदाहरण के लिए, राज्य में किसानों के लाभ के लिए Agrisakthi ऐप तमिल भाषा में Google के 'वॉयस टू टेक्स्ट' फीचर को लागू करता है.


सेल्वा का कहना है कि Agrisakthi ऐप विज्ञापन के माध्यम से रेवेन्यू कमाता है. वह यह भी कहते हैं कि वह अपनी सॉफ्टवेयर फर्म से होने वाली इनकम के जरिए ऐप को चलाने में सक्षम है.


क्या वह देश भर में ऐप का विस्तार करने की योजना बना रहे हैं?


सेल्वा, जिनका उद्देश्य लोगों के कल्याण के लिए टेक्नोलॉजी का उपयोग करना है, बताते हैं, “जब सुंदर ने सुझाव दिया कि मैं इसे पूरे देश में फैला दूं, तो मैंने उनसे कहा कि इसमें भाषा अनुवाद और अतिरिक्त खर्च शामिल होंगे. उन्होंने मुझसे कहा कि मैं विभिन्न क्षेत्रीय भाषाओं में ऐप को लॉन्च करने और लागत को कम करने के लिए Google Translate फीचर पर गौर कर सकता हूं.”