सरकार ने हर साल 23 जनवरी को “पराक्रम दिवस” के रूप में मनाने की घोषणा की

भारत सरकार ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती वर्ष को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मनाने का निर्णय लिया है, जो 23 जनवरी, 2021 से शुरू होगा।

सरकार ने हर साल 23 जनवरी को “पराक्रम दिवस” के रूप में मनाने की घोषणा की

Wednesday January 20, 2021,

1 min Read

भारत सरकार ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती वर्ष को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मनाने का निर्णय लिया है, जो 23 जनवरी, 2021 से शुरू होगा। कार्यक्रमों को तय करने और स्मरणोत्सव के निरीक्षण और मार्गदर्शन के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया गया है।


राष्ट्र के प्रति नेताजी की अदम्य भावना और निस्वार्थ सेवा को सम्मान देने और स्मरण करने के लिए, भारत सरकार ने उनके जन्मदिन 23 जनवरी को हर साल “पराक्रम दिवस” के रूप में मनाने का निर्णय लिया है, ताकि देश के लोगों को, विशेष रूप से युवाओं को प्रेरित किया जा सके, विपत्ति में धैर्य के साथ काम करने, जैसा नेताजी ने किया था, की प्रेरणा दी जा सके और देशभक्ति की भावना का संचार किया जा सके।


23 जनवरी को “पराक्रम दिवस” के रूप में घोषित करने संबंधी राजपत्र अधिसूचना प्रकाशित की गई है।