विद्युत क्षेत्र में पूरे देश के लिए ग्रीन टर्म अहेड मार्केट की हुई शुरुआत

By yourstory हिन्दी
September 02, 2020, Updated on : Wed Sep 02 2020 07:01:30 GMT+0000
विद्युत क्षेत्र में पूरे देश के लिए ग्रीन टर्म अहेड मार्केट की हुई शुरुआत
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारत सरकार ने 2022 तक आरई में 175 जीडब्लू क्षमता प्राप्त करने का लक्ष्य निधारित किया है, जिससे नवीकरणीय ऊर्जा का पूरे देश में विस्तार हो रहा है।

सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र



भारतीय अल्पकालिक बिजली बाजार को हरित बनाने की दिशा में पहले कदम के रूप में,केन्द्रीय विद्युत तथा नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और कौशल विकास एवं उद्यमिता राज्य मंत्री श्री आर.के. सिंह ने 1 सितंबर, 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से विद्युत क्षेत्र में  पूरे देश के लिए ग्रीन टर्म अहेड मार्केट (जीटीएएम)की शुरुआत की।


लॉन्च के बाद श्री सिंह ने कहा,

“जीटीएएम प्लेटफॉर्म की शुरूआत आरई-समृद्ध राज्यों पर बोझ कम करेगी और अपने आरपीओ से आरई क्षमता को और अधिक विकसित करने के लिए उन्हें रियायत देकर प्रोत्साहित करेगी। यह आरई कारोबारी क्षमता संवर्धन को बढ़ावा देगा और देश के आरई क्षमता वृद्धि के लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करेगा।" 

उन्होंने आगे कहा कि जीटीएएम प्लेटफॉर्म नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र में प्रतिभागियों की संख्या में वृद्धि करेगा। यह प्रतिस्पर्धी कीमतों तथा पारदर्शी और लचीली खरीद के माध्यम से आरई के खरीदारों को लाभान्वित करेगा। पूरे देश के बाज़ार तक पहुंच प्राप्त करने से विक्रेताओं को भी लाभ होगा।



भारत सरकार ने 2022 तक आरई में 175 जीडब्लू क्षमता प्राप्त करने का लक्ष्य निधारित किया है, जिससे नवीकरणीय ऊर्जा का पूरे देश में विस्तार हो रहा है। ग्रीन टर्म अहेड मार्केट अनुबंधों से आरई उत्पादकों को नवीकरणीय ऊर्जा बेचने के लिए अतिरिक्त अवसर प्राप्त होंगे। 


संस्थान अपने नवीकरणीय खरीद दायित्व (आरपीओ) को पूरा करने के लिए प्रतिस्पर्धी कीमतों पर नवीकरणीय बिजली प्राप्त करने में सक्षम होंगे। यह हरित बिजली खरीदने के लिए पर्यावरण के प्रति जागरूक उपभोक्ताओं और संस्थाओं को एक मंच प्रदान करेगा।


(सौजन्य से- PIB_Delhi)