Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

फरवरी 2024 के दौरान 1,68,337 करोड़ रुपये का ग्रोस GST कलेक्शन; सालाना 12.5% की वृद्धि

चालू वित्त वर्ष के लिए फरवरी 2024 तक रिफंड का जीएसटी राजस्व शुद्ध 16.36 लाख करोड़ रुपये है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 13.0% की वृद्धि दर्शाता है.

फरवरी 2024 के दौरान 1,68,337 करोड़ रुपये का ग्रोस GST कलेक्शन; सालाना 12.5% की वृद्धि

Saturday March 02, 2024 , 2 min Read

हाइलाइट्स

  • वित्त वर्ष 2023-24 के लिए औसत मासिक सकल संग्रह ₹1.67 लाख करोड़ है, जो वित्त वर्ष 2022-23 के ₹1.5 लाख से अधिक है
  • वित्त वर्ष 2023-24 के लिए सकल जीएसटी संग्रह ₹18.40 लाख करोड़ तक पहुंच गया, साल-दर-साल 11.7% बढ़ा
  • महीने के लिए शुद्ध राजस्व 13.6% बढ़कर ₹1.51 लाख करोड़ और वार्षिक राजस्व 13% बढ़कर ₹16.36 लाख करोड़ हुआ

फरवरी 2024 में सकल माल और सेवा कर (जीएसटी) राजस्व 1,68,337 करोड़ रुपये एकत्र किया गया, जो 2023 के इसी महीने की तुलना में 12.5% की मजबूत वृद्धि दर्शाता है. यह वृद्धि घरेलू लेनदेन से जीएसटी में 13.9% की वृद्धि से प्रेरित रही और वस्तुओं के आयात से जीएसटी में 8.5% की वृद्धि दर्ज की गई. फरवरी 2024 के लिए रिफंड का जीएसटी राजस्व शुद्ध ₹1.51 लाख करोड़ है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 13.6% की वृद्धि दर्शाता है.

फरवरी 2024 तक, चालू वित्त वर्ष के लिए कुल सकल जीएसटी संग्रह ₹18.40 लाख करोड़ रहा जो वित्त वर्ष 2022-23 की समान अवधि के संग्रह से 11.7% अधिक है. वित्त वर्ष 2023-24 के लिए औसत मासिक सकल संग्रह ₹1.67 लाख करोड़ है, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि में एकत्रित ₹1.5 लाख करोड़ से अधिक है. चालू वित्त वर्ष के लिए फरवरी 2024 तक रिफंड का जीएसटी राजस्व शुद्ध ₹16.36 लाख करोड़ है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 13.0% की वृद्धि दर्शाता है. कुल मिलाकर, जीएसटी राजस्व के आंकड़े निरंतर विकास गति और सकारात्मक प्रदर्शन को दर्शाते हैं.

फरवरी 2024 के कलेक्शन में केंद्रीय वस्तु एवं सेवा कर (सीजीएसटी) ₹31,785 करोड़ रहा, जबकि राज्य वस्तु एवं सेवा कर (एसजीएसटी) ₹39,615 करोड़ रहा. और एकीकृत वस्तु एवं सेवा कर (आईजीएसटी) ₹84,098 करोड़ रहा, जिसमें आयातित वस्तुओं पर एकत्र ₹38,593 करोड़ शामिल हैं. वहीं उपकर ₹12,839 करोड़ रहा, जिसमें आयातित वस्तुओं पर एकत्र ₹984 करोड़ शामिल हैं.

केंद्र सरकार ने एकत्रित आईजीएसटी से सीजीएसटी को ₹41,856 करोड़ और एसजीएसटी को ₹35,953 करोड़ का निपटान किया. नियमित निपटान के बाद इसका कुल राजस्व सीजीएसटी के लिए ₹73,641 करोड़ और एसजीएसटी के लिए ₹75,569 करोड़ है.