Hindi Diwas: हिंदी की है अच्छी नॉलेज तो इन करियर ऑप्शंस पर कर सकते हैं गौर

By Ritika Singh
September 14, 2022, Updated on : Wed Sep 14 2022 07:00:56 GMT+0000
Hindi Diwas: हिंदी की है अच्छी नॉलेज तो इन करियर ऑप्शंस पर कर सकते हैं गौर
हिंदी भाषा पर पकड़ रखने वालों की भी अच्छी मांग है. ऐसे में हिंदी में एक्सपर्ट होने के दम पर भी कमाई की जा सकती है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

आज 14 सितंबर को पूरा देश हिंदी दिवस (Hindi Diwas 2022) सेलिब्रेट कर रहा है. आज का दिन हिंदी भाषा को समर्पित करने का कारण है ​कि 14 सितंबर 1949 को हिंदी को संविधान सभा द्वारा भारत की आधिकारिक भाषा का दर्जा मिला था. तब से इस दिन को हिंदी दिवस के तौर पर मनाया जाता है. आज के दौर में हिंदी केवल बातचीत की भाषा भर नहीं रह गई है. हिंदी को फुल टाइम प्रोफेशन भी बनाया जा रहा है. हिंदी भाषा पर पकड़ रखने वालों की भी अच्छी मांग है. ऐसे में हिंदी में एक्सपर्ट होने के दम पर भी कमाई की जा सकती है. आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ प्रोफेशंस के बारे में, जिन्हें अच्छी हिंदी लिखने और बोलने में एक्सपर्ट कमाई का जरिया बना सकते हैं...

हिंदी टीचिंग

हिंदी से कमाई का सबसे पुराना और सिंपल तरीका है हिंदी टीचिंग. अगर आप दूसरों को सिखाने में अच्छे हैं तो हिंदी टीचिंग का प्रोफेशन आपके लिए अच्‍छा साबित हो सकता है. आप परंपरागत टीचर या फिर ऑनलाइन ट्यूटर बन सकते हैं. देश के बाहर ऐसे कई लोग हैं, जो हिंदी सीखना चाहते हैं. ऑनलाइन ट्यूटर बन आप उन लोगों से जुड़ सकते हैं. इसके लिए साइट्स भी मौजूद हैं, जो आपकी मदद करती हैं.

ट्रान्‍सलेशन

अगर आप अन्‍य भाषाओं से हिंदी में जल्द और सटीक ट्रान्‍सलेशन करने में माहिर हैं तो ट्रांसलेटिंग को कमाई का जरिया बना सकते हैं. ऐसी कई कंपनियां हैं, जो दूसरी भाषाओं की किताबों, स्क्रिप्‍ट, रिसर्च पेपर, जर्नल्‍स, रिलीज आदि के हिंदी ट्रांसलेशन के लिए ट्रांसलेटर्स यानी अनुवादक हायर करती हैं. कुछ लोगों ने तो इसे फुल टाइम जॉब बना रखा है तो कुछ फ्रीलान्सर बनकर हिंदी ट्रांसलेशन कर रहे हैं. कई सरकारी ऑफिसेज में भी ट्रांसलेटर के लिए वैकेन्‍सी निकलती रहती हैं.

राजभाषा अधिकारी

राजभाषा अधिकारी बैंकों में व केन्द्र के विभिन्न मंत्रालयों/विभागों में कार्यरत होते हैं. हिंदी में जारी होने वाले आधिकारिक दस्तावेजों की जिम्मेदारी राजभाषा अधिकारी की होती है. जैसे सरकारी विज्ञापन, टेंडर, आधिकारिक बयान, सर्कुलर, नोटिफिकेशंस आदि. केंद्र सरकार के विभिन्न मंत्रालयों व विभागों में राजभाषा अधिकारी हिंदी अनुवाद के अलावा राजभाषा हिंदी के अन्य कामकाज जैसे हिंदी दिवस, हिंदी पखवाड़ा मनाना, हिंदी कार्यशालाओं का आयोजन करना, गृह पत्रिका का संपादन करना, हिंदी तिमाही बैठकों का आयोजन, राजभाषा निरीक्षण आदि कार्य करते हैं. राजभाषा अधिकारी पदों का सृजन राजभाषा विभाग के आदेशानुसार हर कार्यालय में किया जाता है.

इंटरप्रेटर यानी दुभाषिया

अगर आप हिंदी के साथ-साथ एक या दो अन्‍य विदेशी भाषाओं में भी एक्‍सपर्ट हैं और उनका अच्‍छा व फास्ट ट्रांसलेशन कर सकते हैं तो इंटरप्रेटर का प्रोफेशन आपके लिए एकदम सही है. जैसे-जैसे भारतीय लोगों और बिजनेसेज का ग्लोबली जुड़ाव बढ़ रहा है, इंटरप्रेटर की जरूरत में भी इजाफा हो रहा है. प्रधानमंत्री व राष्‍ट्रपति तक के साथ विदेश दौरों या विदेशी लीडर्स के देश में आने पर वहां की भाषाओं को समझाने के लिए एक इंटरप्रेटर साथ रहता है.

कंटेंट राइटिंग

इसके अलावा कंटेंट राइटिंग का प्रोफेशन भी काफी पॉपुलर हो चुका है. आप ब्रांड्स, फिल्‍मों, सीरियल्‍स, विज्ञापनों आदि के लिए कटेंट राइटिंग कर कमाई कर सकते हैं. आप इसके लिए किसी कंपनी/पब्लिकेशन हाउस के साथ जुड़ सकते हैं या फिर फ्रीलांसर कंटेंट राइटर भी बन सकते हैं. ब्लॉगिंग, मार्केटिंग कॉपी, और सोशल मीडिया पर लिखकर पैसे कमा सकते हैं. इसके अलावा कहानीकार, लेखक, नॉवलिस्ट भी ऑप्शंस हैं.

डबिंग और वॉइस ओवर

आप हिंदी डबिंग आर्टिस्‍ट के तौर पर भी करियर बना सकते हैं. मौजूदा दौर में अंग्रेजी, जापानी, तमिल, कन्‍नड़, मलयालम आदि भाषाओं में बनी फिल्‍मों की हिंदी डबिंग की जाती है, ताकि हिंदी भाषी दर्शकों तक पहुंच बनाई जा सके. अगर आप इन भाषाओं की समझ रखते हैं तो डबिंग की कुछ टेक्‍नीक्‍स को सीखकर आप एक डबिंग आर्टिस्‍ट बन सकते हैं और कमाई कर सकते हैं. आप विज्ञापनों, वीडियोज या सीरियल्स में अपनी केवल अपनी आवाज देकर भी कमाई कर सकते हैं. इसे वॉइस ओवर कहा जाता है.

पत्रकारिता

हिंदी जर्नलिज्म के क्षेत्र में भी करियर संवार सकते हैं. आप न्यूज राइटर, रिपोर्टर, एंकर, एडिटर बन सकते हैं. देश भर के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल मीडिया हाउस में आपके लिए कई अवसर हैं. किसी अच्छे संस्थान से जर्नलिज्म/मास कम्युनिकेशन का कोर्स कर इस करियर में कदम रखा जा सकता है.

स्क्रीन राइटर

ड्रामा, फिल्म, नाटकों आदि के लिए लिखने वालों को स्क्रीन राइटर कहा जाता है. ओटीटी कॉन्टेंट की पॉपुलैरिटी दिनोंदिन बढ़ने से स्क्रीनराइटिंग करियर में भी बूम देखने को मिला है. बॉलीवुड इंडस्ट्री तो हिंदी कॉन्टेंट पर बेहद ज्यादा निर्भर है. इसलिए हिंदी क्रिएटिव राइटर्स की मांग भी बनी हुई है. एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के अलावा स्क्रीन राइटर, एड एजेंसियों, न्यूज मीडिया हाउसेज, फिल्म व टेलिविजन प्रॉडक्शन में भी काम करते हैं.