हर रोज 200 रुपये बचाकर बना सकते हैं 20 लाख का फंड, ये स्कीम करेगी मदद

By Ritika Singh
January 12, 2023, Updated on : Thu Jan 12 2023 01:31:34 GMT+0000
हर रोज 200 रुपये बचाकर बना सकते हैं 20 लाख का फंड, ये स्कीम करेगी मदद
अगर आप रोज अपने खर्चों में से 200 रुपये की बचत कर लें तो इसका अर्थ हुआ कि एक साल के अंदर 73000 रुपये की बचत.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कहते हैं कि बूंद-बूंद से सागर बनता है. यह कहावत बचत के मामले में भी इस्तेमाल होती है. आप चाहें तो छोटी-छोटी बचत (Savings) के माध्यम से लॉन्ग टर्म में बड़ा फंड क्रिएट कर सकते हैं. इसके लिए PPF (Public Provident Fund) एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है. PPF, EEE कैटेगरी वाली सेविंग्स स्कीम है यानी PPF में किया जाने वाला डिपॉजिट, मिलने वाला ब्याज और मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने पर मिलने वाला पैसा तीनों पर टैक्स से छूट है.


PPF का मैच्योरिटी पीरियड 15 साल है. इसके जरिए आप मौजूदा ब्याज दर पर 15 वर्षों के अंदर लगभग 20 लाख रुपये का फंड जुटा सकते हैं. वह भी 200 रुपये रोज से. कैसे आइए बताते हैं...

कैसे होगा ऐसा

अगर आप रोज अपने खर्चों में से 200 रुपये की बचत कर लें तो इसका अर्थ हुआ कि एक साल के अंदर 73000 रुपये की बचत. अगर इस 73000 रुपये की बचत को PPF में डाला जाए तो 7.1 प्रतिशत की वर्तमान सालाना ब्याज दर से 15 साल के बाद 19,79,862 रुपये का मैच्योरिटी अमाउंट प्राप्त होगा. वैसे तो PPF का मैच्योरिटी पीरियड 15 साल है लेकिन इस मैच्योरिटी पीरियड के पूरा होने के बाद PPF को 5-5 साल के ब्लॉक में और आगे बढ़ाने का भी विकल्प रहता है. अकाउंट एक्सटेंड कराने पर इसे आगे नए डिपॉजिट के साथ या बिना नए डिपॉजिट के जारी रखा जा सकता है.

मिनिमम और मैक्सिमम निवेश

PPF में एक वित्त वर्ष के अंदर न्यूनतम 500 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये का निवेश किया जा सकता है. PPF अकाउंट को कोई भी भारतीय खुलवा सकता है. इसे नाबालिग के नाम पर भी खुलवाया जा सकता है. PPF खाते को बैंक और पोस्ट ऑफिस में खुलवाया जा सकता है. लेकिन कोई भी व्यक्ति अपने नाम पर एक से ज्यादा PPF अकाउंट नहीं खुलवा सकता, फिर भले ही पोस्ट ऑफिस में खुलवाए या बैंक में. PPF अकाउंट जॉइंट में नहीं खुलवाया जा सकता लेकिन इसके लिए नॉमिनी बनाया जा सकता है.

हर तिमाही पर संशोधित होती है ब्याज दर

PPF, स्मॉल सेविंग्स स्कीम में आता है और स्मॉल सेविंग्स स्कीम की ब्याज दर हर तिमाही पर संशोधित होती है. इसलिए PPF की ब्याज दर को भी हर तिमाही पर संशोधित किया जाता है. याद रहे कि संशोधित ब्याज दर का असर नए PPF अकाउंट के साथ-साथ पहले से चल रहे PPF अकाउंट पर भी पड़ता है. जनवरी-मार्च 2023 तिमाही के लिए PPF की ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं हुआ है. इसके चलते इस पर जनवरी-मार्च 2023 तिमाही में भी 7.1 प्रतिशत का ही ब्याज मिलता रहेगा, जो अक्टूबर-दिसंबर 2022 तिमाही में भी मिल रहा था.

यह भी पढ़ें
HDFC Bank समेत इन 3 बैंकों ने भी कर्ज दरें 0.35% तक बढ़ाईं, ये हैं नई रेट