कैसे छोटे सैलून को अपने SaaS प्लेटफॉर्म के माध्यम से उनके व्यवसायों को डिजिटाइज करने में मदद कर रहा है यह स्टार्टअप

कैसे छोटे सैलून को अपने SaaS प्लेटफॉर्म के माध्यम से उनके व्यवसायों को डिजिटाइज करने में मदद कर रहा है यह स्टार्टअप

Friday August 27, 2021,

6 min Read

भारत में लोगों के बीच समग्र भलाई के बारे में जागरूकता बढ़ने के साथ, सौंदर्य और स्वास्थ्य उत्पादों और सेवाओं पर खर्च में वृद्धि हुई है।


इंडियन ब्यूटी एंड हाइजीन एसोसिएशन (IBHA) के अनुसार, भारत में सौंदर्य और कल्याण बाजार यानी ब्यूटी और वेलनेस मार्केट 2024 तक 2,463.49 बिलियन रुपये तक पहुंचने की उम्मीद है, जो 2019-2024 की अवधि के दौरान ~18.40 प्रतिशत की चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (CAGR) से बढ़ रहा है।


हालांकि, बड़े सैलून ब्रांडों की तुलना में, छोटे चेन या स्टैंडअलोन पार्लर बार-बार ग्राहक जुड़ाव से चूक जाते हैं क्योंकि उनके पास अपने ग्राहकों की प्राथमिकताओं, विजिट पैटर्न और कभी-कभी कैचमेंट क्षेत्रों के बारे में डेटा नहीं होता है।


बेंगलुरू स्थित स्टार्टअप  Glamplus का लक्ष्य सौंदर्य और कल्याण के क्षेत्र में रेडी-टू-यूज सास प्लेटफॉर्म के साथ इस समस्या को दूर करना है ताकि इस सेगमेंट के छोटे व्यवसाय इस्तेमाल में आसान ग्राहक प्रबंधन समाधान के साथ अपने स्मार्टफोन-प्रेमी ग्राहक आधार में टैप कर सकें। 

क

(L-R) दिव्यांशु कुमार सिंह, रोहन सिंह और वात्सल्य अग्रवाल, को-फाउंडर्स, ग्लैमप्लस

जुलाई 2020 में महामारी के दौरान जन्मे, Glamplus संस्थापकों की एक युवा टीम - दिव्यांशु कुमार सिंह (32), रोहन सिंह (30), और वात्सल्य अग्रवाल (29) के दिमाग की उपज है।


ग्लैमप्लस के मुख्य परिचालन अधिकारी (सीओओ) रोहन कहते हैं, "हमारा डिजिटल समाधान असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले सैलून को विश्वसनीय डेटा के साथ उनकी सेवाओं, मूल्य निर्धारण और यहां तक कि उनके कर्मियों के वितरण को बेहतर ढंग से प्रबंधित करने में मदद करता है।"

सैलून और स्पा का डिजिटलीकरण

डिजिटलीकरण के साथ, ग्लैमप्लस सैलून मालिकों को अपने ग्राहक अनुभव को बेहतर बनाने में मदद कर रहा है। वेब वर्जन और एंड्रॉइड पर उपलब्ध, Glamplus का SaaS प्लेटफॉर्म सैलून प्रबंधकों को दिन-प्रतिदिन के बिलों से लेकर स्टाफ प्रबंधन से लेकर खर्चों तक हर चीज में मदद करता है। यह प्लेटफॉर्म सैलून को डिजिटल इनवॉयस जारी करने में भी मदद करता है।


रोहन कहते हैं, "फ्यूचर बुकिंग के लिए या किसी भी क्वेरीज के लिए, ग्राहक सैलून के व्हाट्सएप चैटबॉट से भी बातचीत कर सकते हैं।" इसके अलावा, प्लेटफॉर्म एनालिटिक्स रिपोर्टिंग भी प्रदान करता है जो दुकान मालिकों को उनके पैसों, कर्मचारियों की उत्पादकता और बहुत कुछ की निगरानी करने में मदद करता है। 


दिव्यांशु, रोहन और वात्सल्य एक दूसरे को पिछले पांच सालों से जानते हैं। दिव्यांशु, जो कंपनी के सीईओ हैं, पहले पगारबुक, बाउंस, निन्जाकार्ट और ओला सहित विभिन्न स्टार्टअप्स के साथ काम कर चुके हैं।


रोहन Glamplus से पहले Transln Logistics और Blackbuck के साथ काम कर चुके हैं। स्टार्टअप के सीटीओ वात्सल्य ने पहले कोटिएंट टेक्नोलॉजी, नव्या नेटवर्क्स और क्यूबिटो में एक फुल स्टैक डेवलपर के रूप में काम किया है, और जीरो से उत्पादों को विकसित करने के लिए कोर टीमों का हिस्सा रहे हैं। 

क

ग्लैमप्लस फीचर्स


20+ की टीम के साथ, Glamplus का लक्ष्य 200 बिलियन डॉलर SMB-प्रभुत्व वाली ऑफलाइन अर्थव्यवस्था को डेटा-संचालित सहभागिता प्लेटफॉर्म पर ले जाना है।

बिजनेस मॉडल और रेवेन्यू

सैलून और स्पा के लिए B2B SaaS प्लेटफॉर्म के रूप में शुरू किया गया स्टार्टअप अब सैलून को ब्यूटी प्रोडक्ट्स बेचकर B2B2C मॉडल में प्रवेश कर गया है।


Glamplus ने Berdo, Mamaearth, L'Oreal Matrix और कई अन्य कंपनियों के साथ करार किया है।


वह कहते हैं, “हम एक सिंगल प्लेटफॉर्म बन गए हैं जहां से सैलून मालिक ऐप के माध्यम से कई ब्रांडों से ऑर्डर कर सकते हैं। हम सभी उत्पादों की आपूर्ति करते हैं और सैलून को उन पर अच्छा मार्जिन देते हैं क्योंकि हम सीधे कंपनियों के साथ जुड़े हुए हैं और निर्माता से सीधे खरीद करते हैं।”


सब्सक्रिप्शन मॉडल के संदर्भ में, प्लेटफॉर्म में 7-दिवसीय नि:शुल्क टेस्टिंग और तीन महीने, छह महीने, एक साल और मल्टी-इयर पैकेज 1,500 रुपये से 5,000 रुपये तक है।


स्टार्टअप अधिक ग्राहकों को बनाए रखने और आकर्षित करने के लिए सदस्य सैलून के लिए 50 डॉलर पर व्हाट्सएप के माध्यम से प्रचार अभियान भी चलाता है।


Glamplus का दावा है कि इसके प्लेटफॉर्म पर 20 हडार से अधिक B2B2C ग्राहक हैं, और B2B स्पेस से 1,000+ भुगतान करने वाले साझेदार हैं, साथ ही महीने-दर-महीने 3 गुना बढ़ रहे हैं।


यह महसूस करते हुए कि सैलून भागीदारों की विशिष्ट जरूरतें हैं, जैसे ज्यादातर पेशेवर उत्पाद, इसलिए ग्लैमप्लस ने अपनी सेवा को स्पेंसर, बिग बाजार, शॉपिंग मॉल और मेडिकल स्टोर जैसे आधुनिक व्यापार केंद्रों तक बढ़ा दिया है।


वह कहते हैं, “हम इन ब्रांडों को व्यक्तिगत देखभाल उत्पादों की आपूर्ति कर रहे हैं। इन सभी चैनलों को खुला रखते हुए, हम अपने राजस्व में बहुत तेजी से वृद्धि कर रहे हैं।”


वर्तमान में, 1 करोड़ रुपये के एआरआर पर, स्टार्टअप अगले छह महीनों में 3 करोड़ रुपये के एआरआर को हिट करने की योजना बना रहा है।

COVID-19 प्रभाव

स्टार्टअप को महामारी वर्ष में लॉन्च किया गया था, जब अधिकांश सैलून बंद रहे। रोहन कहते हैं कि शुरुआती दिन बहुत आसान नहीं थे।


हालांकि, एक बार जब सैलून ने हमेशा की तरह काम करना शुरू कर दिया, तो उनमें से कई ने ग्राहकों को महामारी से पहले के स्तर पर आकर्षित करने के लिए अपने रोजमर्रा के व्यवसाय में डिजिटलीकरण को अपनाने का विकल्प चुना।

क

रोहन बताते हैं, “सैलून उद्योग चल रही महामारी से बुरी तरह प्रभावित हुआ है। हालांकि, इसने लागत बचाने और अपने मौजूदा संसाधनों को बेहतर तरीके से आवंटित करने के लिए तेजी से डिजिटल समाधान अपनाने की आवश्यकता को भी ट्रिगर किया है।” उनका दावा है कि ऐप में दैनिक राजस्व और डेटा को ट्रैक करना कितना आसान है, यह देखने के बाद व्यवसाय के मालिक ग्लैमप्लस को अपनाकर खुश थे। वे कहते हैं, "हमारा सॉफ्टवेयर भी तुलनात्मक रूप से बेहतर कीमत वाला है।" 

फंडिंग और आगे का रास्ता

मई 2021 में, स्टार्टअप ने इन्फ्लेक्शन पॉइंट वेंचर्स के नेतृत्व में प्री सीरीज ए राउंड में $400K जुटाए थे। बूटस्ट्रैप और शुरुआती तकनीक को बनाने के लिए, संस्थापकों ने सामूहिक रूप से अपनी बचत से 10 लाख रुपये लगाए।


सौंदर्य और कल्याण बाजार साल-दर-साल 15 प्रतिशत बढ़ रहा है, और वर्तमान में 200 अरब डॉलर के करीब होने का अनुमान है। भारतीय बाजार के अलावा, स्टार्टअप का लक्ष्य दक्षिण पूर्व एशियाई सैलून व्यवसाय के 30 प्रतिशत का भी दोहन करना है, जिसके लगभग 10 मिलियन सैलून होने का अनुमान है।


रोहन का कहना है कि जेनोटी, मियोसैलॉन और ईज़ी सैलून कुछ बड़े खिलाड़ी हैं जो इस क्षेत्र में काम कर रहे हैं, लेकिन ज्यादातर विदेशों में हैं। 


वर्तमान में बैंगलोर, दिल्ली-एनसीआर, मध्य प्रदेश और राजस्थान में मौजूद स्टार्टअप की योजना साल के अंत तक दक्षिण पूर्व एशियाई देशों में विस्तार करने की है। Glamplus का नोएडा में एक वेयरहाउस है, और जल्द ही दक्षिण में एक और वेयरहाउस खोलने की योजना है, जहां से वे अपने B2B उत्पादों की आपूर्ति कर सकते हैं।




YourStory की फ्लैगशिप स्टार्टअप-टेक और लीडरशिप कॉन्फ्रेंस 25-30 अक्टूबर, 2021 को अपने 13वें संस्करण के साथ शुरू होने जा रही है। TechSparks के बारे में अधिक अपडेट्स पाने के लिए साइन अप करें या पार्टनरशिप और स्पीकर के अवसरों में अपनी रुचि व्यक्त करने के लिए यहां  साइन अप करें।


TechSparks 2021 के बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए यहां क्लिक करें।


Tech30 2021 के लिए आवेदन अब खुले हैं, जो भारत के 30 सबसे होनहार टेक स्टार्टअप्स की सूची है। Tech30 2021 स्टार्टअप बनने के लिए यहां  शुरुआती चरण के स्टार्टअप के लिए अप्लाई करें या नॉमिनेट करें।


Edited by Ranjana Tripathi