घर बैठे मंगानी है SBI की चेकबुक? नेट बैंकिंग की मदद से ऐसे करें अप्लाई

By Ritika Singh
November 21, 2022, Updated on : Mon Nov 21 2022 07:11:26 GMT+0000
घर बैठे मंगानी है SBI की चेकबुक? नेट बैंकिंग की मदद से ऐसे करें अप्लाई
याद रहे कि घर बैठे SBI चेकबुक पाने के लिए SBI नेट बैंकिंग का चालू होना जरूरी है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अगर आप भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के ग्राहक हैं, चेकबुक का इस्तेमाल करते हैं तो बिना बैंक जाए, घर बैठे नई चेकबुक ऑर्डर कर सकते हैं. SBI ग्राहक इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से चेकबुक को अपने मनचाहे पते पर मंगा सकते हैं. बैंक की इस सुविधा से वे ग्राहक भी SBI चेकबुक की डिलीवरी पा सकते हैं, जो वर्तमान में बैंक में रजिस्टर्ड कराए गए पते पर नहीं रह रहे हैं. याद रहे कि घर बैठे SBI चेकबुक पाने के लिए SBI नेट बैंकिंग का चालू होना जरूरी है. आइए जानते हैं कि कैसे आप इंटरनेट बैंकिंग से SBI चेकबुक ऑनलाइन ऑर्डर कर सकते हैं…

ये है प्रॉसेस

  • यूजर नेम और पासवर्ड की मदद से SBI के नेट बैंकिंग अकाउंट में लॉग-इन करें.
  • लॉग-इन के बाद ‘Request & Enquiries’ के विकल्प पर क्लिक करें.
  • ड्रॉप डाउन मेन्यू से ‘चेक बुक रिक्वेस्ट’ विकल्प पर क्लिक करें.
  • इसके बाद नए पेज पर आपके अकाउंट से जुड़ी सारी जानकारी दिख जाएगी.
  • आप जिस खाते के लिए नई चेकबुक चाहते हैं, उसे सेलेक्ट करें.
  • अब नए पेज पर आपको चेक लीफ की संख्या चुननी होगी यानी आप कितने चेक वाली चेकबुक चाहते हैं.
  • एक विकल्प को चुनने के बाद ‘Submit’ पर क्लिक करें.
  • नए पेज पर चेकबुक की डिलीवरी के लिए एड्रेस का चुनाव करना होगा. इसमें 3 विकल्प मिलते हैं- रजिस्टर्ड पता, लास्ट अवेलेबल डिस्पैच एड्रेस और नया पता. अपनी सुविधा के मुताबिक किसी एक विकल्प पर क्लिक करें.
  • एड्रेस सेलेक्ट करने के बाद सबमिट पर क्लिक करें.
  • चेक बुक रिक्वेस्ट पर क्लिक करें और आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर प्राप्त ओटीपी डालकर ‘Confirm’ पर क्लिक करें.
  • इसके बाद चेकबुक रिक्वेस्ट सबमिट हो जाएगी और मैसेज शो होगा.

इन तरीकों से भी पा सकते हैं SBI चेकबुक

-मोबाइल बैंकिंग की मदद से

-SMS फैसलिटी की मदद से

-नजदीकी SBI ATM से अप्लाई कर

-होम बैंक ब्रांच में जाकर

न भूलें यह फैक्ट

ध्यान दें कि SBI में बचत खाता खुलवाने पर फ्री मिलने वाली चेकबुक खत्म हो जाने के बाद नई चेकबुक लेने पर कुछ चार्ज देना होता है. यह खाते में उपलब्ध क्वार्टरली एवरेज बैलेंस (QAB) के बेसिस पर अलग-अलग होता है और प्रति चेक के हिसाब से रहता है. इस फीस की डिटेल चेक लीफ की संख्या चुनते वक्त स्क्रीन पर शो होती है.