भारतीय गेमर्स को गेमिंग की दुनिया में करियर संवारने की ललक: HP India स्टडी

आमदनी की बेहतरीन संभावनाओं के चलते गेमिंग के प्रति दिलचस्‍पी बढ़ी, गेमर्स की निगाह इस क्षेत्र में अलग-अलग करियर विकल्‍पों पर टिकी. 56% महिला गेमर्स को पसंद है गेमिंग कॅरियर, अब शौक को करियर में बदलने की धुन. ज्‍यादातर गेमर्स मानते हैं गेमिंग को मनोरंजन, मानसिक खुशहाली और सोशलाइज़‍िग का जरिया.

भारतीय गेमर्स को गेमिंग की दुनिया में करियर संवारने की ललक: HP India स्टडी

Friday November 25, 2022,

4 min Read

एचपी इंडिया गेमिंग लैंडस्‍केप स्‍टडी 2022 के मुताबिक, भारतीय गेमर्स ने गेमिंग में करियर बनाने की इच्‍छा जतायी है. इस अध्‍ययन के लिए देश के 14 शहरों से करीब 2000 प्रतिभागियों को चुना गया था जिन्‍होंने बताया कि गेमिंग से अच्‍छी आमदनी कमाने के साथ-साथ मल्‍टीपल करियर विकल्‍पों की उपलब्‍धता के चलते गेमर्स इसे पसंद कर रहे हैं.

The HP India Gaming Landscape Study 2022.

भारत में एचपी की गेमिंग स्‍टडी के इस दूसरे संस्‍करण में, पीसी को गेमिंग के लिए सबसे पसंदीदा डिवाइस बताया गया है. 68% गेमर्स ने पीसी को पहली पसंद बताया क्‍योंकि इससे बेहतर प्रोसेसर्स, डिजाइन और ग्राफिक्‍स के रूप में लाभ मिलता है और इमर्सिव डिस्‍प्‍ले भी अनुभव बेहतर बनाते हैं.

करियर विकल्‍प के तौर पर गेमिंग

इस अध्‍यन के अनुसार, करीब गंभीर किस्‍म के दो-तिहाई गेमर्स ने गेमिंग को फुल-टाइम या पार्ट-टाइम करियर के तौर पर आजमाने की मंशा जतायी है. गेमर्स के इस ओर झुकाव का एक और कारण है कि वे अपने शौक को करियर में बदलने की संभावना भी टटोलना चाहते हैं. गेमिंग को मनोरंजन तथा रिलैक्‍सेशन (92%), मानसिक सक्रियता बढ़ाने (58%) और सोशलाइज़‍िंग (52%) के स्रोत के रूप में भी देखा जाता है.

HP India

साभार: HP India

भारत में गेमिंग इंडस्‍ट्री के विकास से भारतीय गेमर्स को इस क्षेत्र में करियर संवारने के विभिन्‍न अवसरों को टटोलने का अवसर मिल रहा है. हालांकि गेमर बनना सर्वोच्‍च पसंद है, वहीं इंफ्लुएंसर या गेमिंग सॉफ्टवेयर डेवलपर के तौर पर भी करियर बनाने की इच्‍छा जताने वाले बहुत से लोग हैं.

HP India

साभार: HP India

विक्रम बेदी, सीनियर डायरेक्‍टर, पर्सनल सिस्‍टम्‍स, एचपी इंडिया मार्केट ने कहा, "भारत में जैसे-जैसे गेमिंग इंडस्‍ट्री आगे बढ़ रही है, उसके चलते गेमिंग को एक करियर विकल्‍प के तौर पर देखा जाने लगा है. देश के पीसी गेमिंग लैंडस्‍केप में युवाओं के लिए जबर्दस्‍त अवसर मौजूद हैं एचपी में हम गेमर्स को OMEN कम्‍युनिटी पहल के जरिए, जानकारी, साधन तथा अवसर उपलब्‍ध कराने और अपस्किल बनाने के उनके सफर में सहयोग कर उन्‍हें आगे बढ़ने का मौका देना चाहते हैं."

उन्‍होंने कहा, "पीसी गेमिंग को ज्‍यादा पसंद किया जाना हमारे लिए शानदार बिज़नेस अवसर है. हम यूज़र इन्‍साइट्स के आधार पर सर्वश्रेष्‍ठ अनुभव प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं ताकि भारत में गेमिंग का संपूर्ण और उन्‍नत गेमिंग इकोसिस्‍टम तैयार हो सके."

पीसी ने गेमिंग के सर्वाधिक पसंदीदा डिवाइस के तौर पर पहचान बनायी

पीसी गेमिंग के फायदों के मद्देनज़र मोबाइल गेमर्स भी इसे अपनाने के लिए उत्‍सुक हैं. 39% मोबाइल गेमर्स ने गेमिंग के लिए पीसी को चुनने की इच्‍छा जतायी है.

गेमिंग के लिए पीसी को काफी लोगों द्वारा पसंद किए जाने के प्रमुख कारण:

HP India

साभार: HP India

गेमिंग से जैंडर संबंधी दीवारें भी ढह रही हैं:

भारत में महिला गेमर्स की संख्‍या बढ़ रही है. महिलाएं अब न सिर्फ गेमिंग में करियर बनाने को उत्‍सुक हैं, बल्कि वे अपने शौक को प्रोफेशन (50%) में बदलने की भी इच्‍छुक हैं और इसमें उन्‍हें आजीविका के अच्‍छे अवसर (45%) दिखायी दे रहे हैं.

महिलाएं गेमिंग को करियर विकल्‍प के तौर पर अपनाने को दे रही हैं प्राथमिकता:

HP India

साभार: HP India

गेमिंग से सीखने और विकास के अवसर

एचपी इंडिया के इस अध्‍ययन के अनुसार, केवल 2% प्रतिभागियों ने ही गेमिंग में औपचारिक प्रशिक्षण लिया है. जहां एक ओर अधिकांश गेमर्स अपनी गेमिंग परफॉरमेंस को उन्‍नत बनाने के लिए अपनी स्किल्‍स बढ़ाने पर ज़ोर देते हैं वहीं, 32% किसी गेमिंग स्‍टार को फौलो कर अपने हुनर को धार देना चाहते हैं.

भारत के गेमिंग इकोसिस्‍टम को बढ़ावा देने के लिए एचपी की पहल

गेमर्स हमेशा से ही अपने गेम को बेहतर बनाने के लिए खुद को अपस्किल करने और कन्‍टेंट कंज्‍यूम करने पर ज़ोर देते हैं. OMEN प्‍लेग्राउंड कम्‍युनिटी के लिए, एचपी गेमर्स के लिए अपस्किल, एंगेज तथा एम्‍पावर करने के लिहाज से वन-स्‍टॉप मंजिल है. इस प्‍लेग्राउंड में, प्रो गेमर्स द्वारा गेमिंग वीडियो उपलब्‍ध कराए जाते हैं ताकि इनसे सीखकर OMEN स्‍क्‍वाड का हिस्‍सा बना जा सके. इसके अलावा, एचपी ने कई जाने-माने इंडियन गेमर्स से भी नाता जोड़ा है, ताकि उदीयमान और गेमर बनने की आकांक्षा रखने वाले गेमर्स के लिए नियमित रूप से कन्‍टेंट उपलब्‍ध कराया जा सके.

विधि

2022 में कराए इस सर्वे में कुल 2010 प्रतिभागियों ने हिस्‍सा लिया जो कि भारत के 14 टियर 1 एवं टियर 2 शहरों से थे. इंटरव्‍यू के लिए 18 से 40 वर्ष की आयुवर्ग के (75%) पुरुषों और (25%) महिलाओं को शामिल किया गया था. इनमें (60%) पीसी यूज़र्स थे जबकि (40%) मोबाइल फोन यूज़र्स थे.

1490 लोगों ने इस स्टोरी को पसंद किया

क्यों ZestMoney को खरीदने की तैयारी कर रही है PhonePe?