जून में भारत के रोजगार बाजार में 3 फीसदी की वृद्धि हुई

स्थायी वित्त, हरित नौकरियों और आतिथ्य क्षेत्र में भी प्रतिभाओं की मांग में वृद्धि हुई है. जून, 2022 में मॉन्स्टर रोजगार सूचकांक 279 रहा, जो पिछले वर्ष समान अवधि में 271 था. मई, 2022 में यह 284 था.

जून में भारत के रोजगार बाजार में 3 फीसदी की वृद्धि हुई

Thursday July 07, 2022,

2 min Read

भारत के रोजगार बाजार में जून के दौरान विभिन्न उद्योग श्रेणियों में सालाना आधार पर तीन प्रतिशत की वृद्धि हुई है. मॉन्स्टर डॉट कॉम के मॉन्स्टर रोजगार सूचकांक के मुताबिक, पिछले वर्ष जून की तुलना में इस वर्ष बैंकिंग, वित्तीय सेवाएं एवं बीमा, यात्रा, पर्यटन और रसायन उद्योग में नियुक्तियां बढ़ी हैं.

इसके अलावा स्थायी वित्त, हरित नौकरियों और आतिथ्य क्षेत्र में भी प्रतिभाओं की मांग में वृद्धि हुई है. जून, 2022 में मॉन्स्टर रोजगार सूचकांक 279 रहा, जो पिछले वर्ष समान अवधि में 271 था. मई, 2022 में यह 284 था.

क्वेस कॉर्प की कंपनी मॉन्स्टरडॉटकॉम के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) शेखर गरीसा ने कहा, ‘‘हरित क्रांति और नई श्रेणियों के साथ भारतीय रोजगार बाजार लगातार बढ़ रहा है. प्रौद्योगिकी सक्षम उद्योगों ने अधिक वृद्धि की और इस दौरान नवोन्मेष किया.’’

उन्होंने कहा, ‘‘स्टार्टअप द्वारा लोगों को नौकरी से निकालने को लेकर चिंताएं बनी हुई हैं लेकिन रोजगार बाजार में उनकी हिस्सेदारी बहुत कम है. कई उद्योगों ने अपने लक्ष्यों से पार जाकर बेहतरीन प्रदर्शन किया है और इस तरह देश की वृद्धि में अपना योगदान दिया है.’’

दूसरी ओर, कुछ उद्योगों में पेशेवरों की मांग में लगातार गिरावट आई है जिनमें मीडिया और मनोरंजन (26 फीसदी गिरावट), इंजीनियरिंग, सीमेंट, निर्माण, लौह/इस्पात (20 फीसदी कमी) शामिल हैं.

सूचकांक के मुताबिक, महानगरों में सर्वाधिक 23 प्रतिशत की वृद्धि मुंबई के रोजगार बाजार में हुई. वहीं दूसरी श्रेणी के बाजारों में सर्वाधिक 19 फीसदी वृद्धि कोयंबटूर में रही.

हैदराबाद में 15 प्रतिशत, दिल्ली-एनसीआर में 13 प्रतिशत और अहमदाबाद में 11 प्रतिशत की वृद्धि  हुई, जबकि चेन्नई में 8 प्रतिशत, पुणे में 9 प्रतिशत और बैंगलोर में 4 प्रतिशत की वृद्धि हुई.ॉ