कई सालों से इंदौर बना हुआ देश का सबसे साफ-सुथरा शहर, जानें क्या है वजह

By yourstory हिन्दी
January 30, 2020, Updated on : Thu Jan 30 2020 10:31:30 GMT+0000
कई सालों से इंदौर बना हुआ देश का सबसे साफ-सुथरा शहर, जानें क्या है वजह
एक साहसी महापौर, एक संचालित नगर निगम आयुक्त, कुछ समर्पित जिम्मेदार नागरिकों, कम पैसे और 18 महीने की कड़ी मेहनत ने शहर का चेहरा बदलकर रख दिया।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

धरती पर, इंदौर मध्य भारत के किसी भी अन्य शहर की तरह दिखता है। इंदौर वास्तव में दृश्य सुंदरता और आकर्षण के मामले दिल छू रहा है। यहां तक कि तथ्य यह है कि यह मध्य प्रदेश का वाणिज्यिक केंद्र है जो बाहरी पर्यवेक्षक के लिए बहुत स्पष्ट नहीं है।


लेकिन वो कहते हैं ना "किसी किताब को उसके कवर से मत आंकिए।" इस समय, शहर में और विशेष रूप से शहरवासियों में एक मिनी क्रांति चल रही है।


अगर कोई शहर के चारों ओर लंबे समय से ड्राइव करता है तो एक और अजीब बात है। सभी सामान जो आम तौर पर देश भर में कई भारतीय फुटपाथों की तर्ज पर होते हैं, वे यहाँ गायब हैं। न अंकल चिप्स और हल्दीराम के पैकेट, न फलों के छिलके, न प्लास्टिक की थैलियां, न मक्खियां, न आवारा कुत्ते... कुछ भी नहीं। जहाँ भी आपकी नज़र जाएगी वहाँ का नज़ारा आपको साफ-सूथरा ही दिखेगा।


इंदौर शहर की सब्जी मंडी का नजारा भी देखने लायक है साथ ही यह सराहनीय भी है।


क

फोटो क्रेडिट: Twitter

आम आदमी की जागरूकता, इंदौर निगम कमिश्नर, नगर निगम के कर्मचारियों और सफाईकर्मियों की वज़ह इस सब्जी मंडी में स्वच्छता बरकार है।


आपको बता दें कि बच्चे भी जब कहीं चॉकलेट भी खाते है तो रैपर अपनी जेब में रख लेते है। स्वच्छ भारत अभियान का यह शहर और यह सब्जी मंडी सबसे अच्छा उदाहरण है।


देश के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर में करीब 700 से अधिक नए शौचालय और मूत्रालय बनाए गए हैं। शहर में करीब 3 हजार से अधिक सड़क के किनारे डिब्बे लगाए गए। अलग-अलग कॉलोनियों में डोर-टू-डोर कूड़ा संग्रह भी रखे गए हैं। यहां गारबैज वैन की निगरानी के लिए लाइव ट्रैकिंग सिस्टम बनाया गया है।


Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें