राष्ट्रीय महंगाई दर में कमी के बावजूद 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में बढ़ी महंगाई दर

By Vishal Jaiswal
July 15, 2022, Updated on : Fri Jul 15 2022 07:32:20 GMT+0000
राष्ट्रीय महंगाई दर में कमी के बावजूद 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में बढ़ी महंगाई दर
मई महीने की तुलना में 38 में से 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की महंगाई पर आधारित उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) में बढ़ोतरी दर्ज की गई. वहीं, एकमात्र राज्य सिक्किम में मई के बराबर ही जून में भी 8.28 फीसदी की मंहगाई दर्ज की गई.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

मई महीने की तुलना में जून में देश में खुदरा महंगाई दर घटकर 7.01 फीसदी रही हालांकि इस दौरान देश के अधिकतर राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में महंगाई दर में बढ़ोतरी देखी गई.


मई महीने की तुलना में 38 में से 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की महंगाई पर आधारित उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) में बढ़ोतरी दर्ज की गई. वहीं, एकमात्र राज्य सिक्किम में मई के बराबर ही जून में भी 8.28 फीसदी की मंहगाई दर्ज की गई.


इसका मतलब है कि 40 फीसदी से भी कम राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में मई की तुलना में जून में महंगाई दर कम हुई है. मई में खुदरा मंहगाई की राष्ट्रीय औसत दर 7.04 फीसदी थी.


जून में राष्ट्रीय औसत 7.01 प्रतिशत की तुलना में 13 राज्यों में मुद्रास्फीति की अधिक दर देखी गई. एक राज्य तेलंगाना में 10.05 प्रतिशत की दो अंकों की वृद्धि दर्ज की गई.


तेलंगाना में लगातार तीसरे महीने दोहरे अंकों की मुद्रास्फीति देखी गई. राज्य में यह मुख्य रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में 10 प्रतिशत से अधिक देखी गई.


तेलंगाना के अलावा, पुदुचेरी के ग्रामीण क्षेत्रों में भी जून में 10.09 प्रतिशत की मुद्रास्फीति दर देखी गई, जो पिछले महीने में 7.32 प्रतिशत थी.


हालांकि, जून में किसी अन्य राज्य ने ग्रामीण क्षेत्रों में मुद्रास्फीति के दहाई की दर की सूचना नहीं दी थी. मध्य प्रदेश और हरियाणा में अप्रैल में 10 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि दर देखी गई जो कि क्रमशः 10.12 प्रतिशत और 10.25 प्रतिशत थी. हालांकि, उन क्षेत्रों में यह जून में क्रमशः 8.07 प्रतिशत और 8.56 प्रतिशत पहुंच गई.


इसके अलावा, मणिपुर और मेघालय जैसे कुछ राज्यों में जून में उच्च मुद्रास्फीति देखी गई, जिनमें मूल्य वृद्धि की मध्यम दर थी. मेघालय में जून में महज़ 0.6 फीसदी महंगाई दर दर्ज की गई, जबकि इससे पिछले महीने में यह 0.27 फीसदी थी, जबकि मणिपुर में यह इस अवधि के 3.15 फीसदी से बढ़कर 3.8 फीसदी हो गई.


लक्षद्वीप एकमात्र ऐसा क्षेत्र था जहां जून में शहरी मुद्रास्फीति की दर दोहरे अंकों में थी. वहां महंगाई दर 10.84 फीसदी रही, जो पिछले महीने में महज 6.04 फीसदी थी.