कोरोना की रोकथाम के लिए हुबली के कंडक्टर और ड्राइवर की अच्छी पहल, अपनी बस के यात्रियों को बांटे फ्री मास्क

By yourstory हिन्दी
March 16, 2020, Updated on : Mon Mar 16 2020 08:01:30 GMT+0000
कोरोना की रोकथाम के लिए हुबली के कंडक्टर और ड्राइवर की अच्छी पहल, अपनी बस के यात्रियों को बांटे फ्री मास्क
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

धीरे-धीरे कोरोना वायरस (COVID-19) ने विकराल रूप लेना शुरू कर दिया है। रिपोर्ट्स की मानें तो रविवार को इटली में एक दिन में 300 से अधिक लोगों की मौत हो गई। इटली में मरने वालों की संख्या 1500 को पार कर गई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) पहले ही कोरोना को महामारी घोषित कर चुका है। सभी देशों की सरकारें अपने लोगों की सुरक्षा करने और इस महामारी की रोकथाम के लिए कई प्रयास कर रही हैं। हालांकि केवल सरकार ही नहीं आम लोगों को भी इसमें भागीदारी देनी होगी।


k

फोटो क्रेडिट: ANI/Twitter



कर्नाटक के हुबली में एक बस ड्राइवर और कंडक्टर कुछ ऐसा कर रहे हैं कि लोग उनकी जमकर तारीफ कर रहे हैं। दरअसल बस ड्राइवर एचटी मायान्नवर और कंडक्टर एमएल नदफ अपनी बस में यात्रा करने वाले लोगों को फ्री मास्क बांट रहे हैं। साथ ही वे यात्रियों को इस महामारी से बचने के लिए रखी जाने वाली सावधानियों के बारे में भी बताते हैं।


न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए एमएल नदफ कहते हैं,

'हमने यह पहल इसलिए शुरू की क्योंकि कोरोना वायरस के कारण लोग ट्रैवल करने से बच रहे हैं। मैं सरकार से अनुरोध करता हूं कि वह लोगों को फ्री मास्क बांटे।'

इनकी बस यरागुप्पी से हुबली तक चलती है। दोनों ने यह कदम यात्रियों के सफर को सुरक्षित बनाने के लिए उठाया है। इनका कहना है कि लोग कोरोना के कारण डरे हुए हैं और यात्रा करने से परहेज कर रहे हैं। इसी को देखते हुए लोगों की यात्रा को सुरक्षित बनाने के उन्होंने यह कदम उठाया है। साथ ही वे सरकार से रिक्वेस्ट भी करते हैं कि इस महामारी से बचने के लिए सभी लोगों को फ्री में मास्क उपलब्ध करवाए। 


मालूम हो, चीन के वुहान शहर से निकलकर इस बीमारी ने पूरी दुनिया को अपनी जद में ले लिया है। लाखों लोग इसकी चपेट में हैं और 5 हजार से अधिक लोग इसके कारण अपनी जिंदगी गंवा चुके हैं।


अगर भारत की बात करें तो भारत के 15 राज्य इसकी चपेट में हैं। देश में अभी तक 110 लोग इससे पीड़ित हैं। सबसे अधिक मरीज महाराष्ट्र से 33 हैं। यूपी, हिमाचल, मध्यप्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, छत्तीसगढ़ और हरियाणा सहित लगभग आधा देश बंद पड़ा है।


देश में अधिकतर राज्य सरकारों ने शिक्षण संस्थानों पर 31 मार्च तक रोक लगा दी है। आईआईटी, जेएनयू जैसी यूनिवर्सिटीज ने भी वायरस को देखते हुए क्लासेज को रोक दिया है। इसी वायरस का खौफ है कि सिनेमाघर बंद पड़े हैं, सड़कें खाली हैं, आईपीएल 16 दिन आगे खिसका दिया गया है और कई फिल्मों ने अपनी रिलीज डेट को आगे बढ़ा दिया है।


ऐसे में आप सभी को भी सलाह है कि महामारी की रोकथाम के लिए WHO और बाकी सरकारी संस्थाओं द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों का पालन करें।