दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने कोविड-19 से जान गंवाने वाले डॉक्टर के परिजनों को एक करोड़ रुपये का चेक सौंपा

दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने कोविड-19 से जान गंवाने वाले डॉक्टर के परिजनों को एक करोड़ रुपये का चेक सौंपा

Saturday July 04, 2020,

2 min Read

दिल्ली सरकार कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से जान गंवाने वाले फ्रंटलाइन पर खड़े अपने कर्मचारियों के परिवारों को एक-एक करोड़ रुपये की अनुग्रह राशि प्रदान कर रही है।

(चित्र: सोशल मीडिया)

(चित्र: सोशल मीडिया)



नयी दिल्ली, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने डॉक्टर असीम गुप्ता के परिजनों से शुक्रवार को मुलाकात की और उन्हें अनुग्रह राशि के रूप में एक करोड़ रुपये का चेक सौंपा। एलएनजेपी अस्पताल के डॉक्टर असीम गुप्ता की कोविड-19 के चलते मौत हो गई थी।


केजरीवाल ने दिवंगत गुप्ता को ‘‘जनता का डॉक्टर’’ करार दिया और कहा कि यह सरकार का दायित्व है कि वह दूसरों के लिए अपना बलिदान करने वाले लोगों के परिजनों की मदद करे।


मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘कोरोना वायरस की वजह से जान गंवाने वाले दिवंगत डॉ. असीम गुप्ता जी के परिवार से मुलाकात की। ‘‘जनता के डॉक्टर’’ को वापस लाने के लिए हम कुछ नहीं कर सकते, लेकिन यह हमारा दायित्व है कि हम उन लोगों के परिवारों की मदद करें जो हमारे लिए अपना जीवन बलिदान कर रहे हैं। आज परिवार को एक करोड़ रुपये की अनुग्रह राशि दी गई।’’

दिल्ली सरकार महामारी के खिलाफ अग्रिम पंक्ति के योद्धाओं के रूप में दायित्व निभाते समय कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से जान गंवाने वाले अपने कर्मचारियों के परिवारों को एक-एक करोड़ रुपये की अनुग्रह राशि प्रदान कर रही है।


गुप्ता एलएनजेपी अस्पताल में डॉक्टर थे और वह दायित्व निभाते समय कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए थे। छह जून को आई जांच रिपोर्ट में उनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी। उन्हें हल्के लक्षण थे और वह एक पृथक-वास केंद्र में भेजे गए थे।


सात जून को उनकी हालत बिगड़ गई और उन्हें एलएनजेपी अस्पताल की गहन देखभाल इकाई में भर्ती किया गया। बाद में, उन्होंने दक्षिणी दिल्ली के साकेत स्थित मैक्स स्मार्ट अस्पताल में दम तोड़ दिया।


वह 52 साल के थे और उन्हें अपने रोगियों की हरसंभव मदद करने के लिए जाना जाता था।