Koo ऐप ने लॉन्च किया ‘इमोटिव एडवरटाइजिंग’ फीचर, बना दुनिया का पहला सोशल प्लेटफॉर्म

By रविकांत पारीक
January 20, 2023, Updated on : Fri Jan 20 2023 05:55:07 GMT+0000
Koo ऐप ने लॉन्च किया ‘इमोटिव एडवरटाइजिंग’ फीचर, बना दुनिया का पहला सोशल प्लेटफॉर्म
Koo ऐप ने ब्रांड्स के लिए ‘इमोटिव एडवरटाइजिंग’ फीचर लॉन्च किया है. यह अपने विज्ञापनदाताओं के लिए एक्सक्लूसिव और प्रीमियम फीचर लॉन्च करने वाला एकमात्र सोशल मीडिया ऐप है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

दूसरे सबसे बड़े मल्टीलिंग्वल (बहुभाषी) माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म Koo App ने अपने विज्ञापनदाताओं के संपर्क को मजबूत करने के लिए एक नया इमोटिव फीचर लॉन्च किया है. इस फीचर के साथ, लाइक बटन 24 घंटे के लिए क्लिक करने पर ब्रांड के फ्लोटिंग ब्रांड आइकन में बदल जाएगा. इस तरह, ब्रांड उपयोगकर्ता की भावनात्मक यात्रा का हिस्सा बन जाते हैं, जब वे अपने Koo फीड पर स्क्रॉल कर रहे होते हैं.


Koo का कहना है कि कंपनी के लिए, इसके एडवर्टाइजर, यूजर और दूसरे स्टैकहोल्डर्स समान हैं. इस प्रकार, ऐप यूजर एक्सपीरियंस को बढ़ाने के लिए मज़ेदार और रोमांचक फीचर लाता रहता है. यह फीचर ब्रांड्स के लिए त्योहारों, राष्ट्रीय महत्व के कार्यक्रमों, प्रोडक्ट लॉन्च, महत्वपूर्ण ब्रांड घोषणाओं और ब्रांड्स द्वारा दिए जा रहे खास ऑफर्स को हमारे यूजर्स तक पहुँचाएगा.


एडवर्टाइजर MLK जैसे Koo फीचर्स का भी इस्तेमाल कर सकते हैं और कई भाषाओं में क्रिएटिव पोस्ट कर सकते हैं और अपनी पहुंच को बड़े यूजर बेस तक बढ़ा सकते हैं. एडवर्टाइजर्स के लिए उपलब्ध दूसरे फीचर्स Banner/Video Promotions, App Takeover, Sponsored Polls और Boosted Profiles हैं जो ब्रांड्स को उनके विज्ञापन अभियानों के लिए जागरूकता, विचार और रूपांतरण चलाने की अनुमति देती हैं.


इस खास नए फीचर के बारे में बात करते हुए Koo App के सीईओ और को-फाउंडर अप्रमेय राधाकृष्ण ने कहा, “हम इस नए फीचर को लॉन्च करने के साथ बेहद रोमांचित हैं. इस तरह के आकर्षक और इनोवेटिव यूजर एक्सपीरियंस देने वाला दुनिया में एकमात्र सोशल मीडिया ऐप होने पर गर्व है. इससे ब्रांड्स को बहुत फायदा मिलेगा. Koo ऐप नए जमाने की टेक्नोलॉजी के साथ नए-नए फीचर लॉन्च करने के मामले में हमेशा आगे रहा है. यह फीचर ब्रांड्स को Koo यूजर्स के साथ भारी जुड़ाव बनाने और ब्रांड की विजिबिलिटी बढ़ाने में मदद करेगी.”


बहुत कम समय में, Koo से 50+ एडवर्टाइजर जुड़ गए हैं जो BFSI (Banking, Financial Services and Insurance), गेमिंग, फिनटेक, B2C, D2C कॉमर्स, फूड एंड ग्रॉसरी, ओटीटी, ज्योतिष ऐप जैसे विभिन्न क्षेत्रों से सक्रिय रूप से जुड़ रहे हैं.


Koo पर विज्ञापन देने वाले ब्रांड हैं: Piramal Finance, Ministry of Culture & Tourism, Association of Mutual Funds in India (AMFI), Zupee, Fanclash, Myntra, Astroyogi, Tata Neu, Navi Finance, Pokerbazi, Groww, My 11 Circle आदि. Koo एक प्लेटफॉर्म के रूप में दुनिया भर के सभी यूजर्स के लिए सरल, पारदर्शी, सुरक्षित और मुफ्त है, जिसे एक समावेशी समुदाय बनाने के इरादे से बनाया गया है.


आपको बता दें कि कू ऐप (Koo App) मार्च 2020 में भारत में लॉन्च किया गया था और यह दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा बहुभाषी माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म बन गया है. भाषा-आधारित माइक्रो-ब्लॉगिंग में नया बदलाव लाने वाला कू ऐप लोगों को व्यापक भाषाई अनुभव देकर अपनी पसंद की भाषा में विचारों को साझा करने और स्वतंत्र रूप से अभिव्यक्ति के लिए सशक्त बनाकर उनकी आवाज को लोकतांत्रिक बनाता है. कू ऐप फिलहाल हिंदी, मराठी, गुजराती, पंजाबी, कन्नड़, तमिल, तेलुगू, असमिया, बंगाली और अंग्रेजी समेत 10 भाषाओं में उपलब्ध है.


Koo का दावा है इसे 60 मिलियन से अधिक बार डाउनलोड किया जा चुका है और 100 से अधिक देशों में इसका उपयोग किया जाता है.

यह भी पढ़ें
Koo ऐप बना दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा माइक्रो-ब्लॉग
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close