LIC ने IRCTC के 2 फीसदी शेयर और खरीदे, जानिए अब कुल कितनी हो गई हिस्सेदारी

By yourstory हिन्दी
December 20, 2022, Updated on : Tue Dec 20 2022 06:41:51 GMT+0000
LIC ने IRCTC के 2 फीसदी शेयर और खरीदे, जानिए अब कुल कितनी हो गई हिस्सेदारी
LIC ने अपनी कॉरपोरेट फाइलिंग में कहा कि शेयरों की खरीद 17 अक्टूबर से 16 दिसंबर के बीच 692.28 रुपये के औसत मूल्य पर हुई. IRCTC में LIC की हिस्सेदारी 4,00,42,625 से बढ़कर 5,82,22,948 इक्विटी शेयर हो गई है, जो कंपनी की चुकता पूंजी के 5.005% से बढ़कर 7.278% हो गई है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) ने इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाई है. होल्डिंग 5.005 फीसदी से बढ़कर 7.278 फीसदी हो गई है.


LIC ने अपनी कॉरपोरेट फाइलिंग में कहा कि शेयरों की खरीद 17 अक्टूबर से 16 दिसंबर के बीच 692.28 रुपये के औसत मूल्य पर हुई. LIC ने कहा, "होल्डिंग 5.005 प्रतिशत से बढ़कर 7.278 प्रतिशत हो गई, जो 17.10.2022 से 16.12.2022 की अवधि के दौरान 692.28 रुपये की औसत लागत पर 2.273% की वृद्धि है."


फाइलिंग में आगे कहा गया कि IRCTC में LIC की हिस्सेदारी 4,00,42,625 से बढ़कर 5,82,22,948 इक्विटी शेयर हो गई है, जो कंपनी की चुकता पूंजी के 5.005% से बढ़कर 7.278% हो गई है.


सरकार ने 15 और 16 दिसंबर को टिकटिंग सेवाओं में 5 फीसदी हिस्सेदारी बेचने के लिए बिक्री की पेशकश शुरू की थी. बिक्री के प्रस्ताव को संस्थागत निवेशकों से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली थी, जबकि खुदरा निवेशकों ने ठंडा रिस्पांस दिया.


फ्लोर प्राइस 680 रुपये प्रति शेयर तय किया गया था. उस कीमत पर, IRCTC के 5% ऑफलोडिंग से अनुमान के मुताबिक लगभग 2,720 करोड़ रुपये मिल सकते हैं.


बता दें कि, साल-दर-साल, आईआरसीटीसी के शेयरों में लगभग 19 फीसदी की गिरावट आई है, जो बेंचमार्क इंडेक्स निफ्टी 50 से पीछे है, जिसने 6 फीसदी सकारात्मक रिटर्न दिया है.


सरकार 2.5 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की योजना बना रही है, साथ ही 2.5% अतिरिक्त ऑफलोड करने का विकल्प भी है. पीएसयू ने एक नियामक फाइलिंग में कहा कि राज्य के स्वामित्व वाली फर्म के ओएफएस में 4,00,00,000 इक्विटी शेयरों की पेशकश की जाएगी.


इससे पहले LIC ने सार्वजनिक क्षेत्र की भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लि. (BPCL) में दो प्रतिशत से अधिक हिस्सेदारी खरीद ली है. यह प्रक्रिया पिछले साल दिसंबर में शुरू हुई थी और इस साल सितंबर तक चली थी. इस अधिग्रहण का मूल्य करीब 1,598 करोड़ रुपये है.


एलआईसी ने बताया था कि उसकी, बीपीसीएल में शेयरधारिता 15,25,08,269 से बढ़कर 19,61,15,164 शेयर हो गई है. कंपनी में एलआईसी की हिस्सेदारी चुकता पूंजी के 7.03 प्रतिशत से बढ़कर 9.04 प्रतिशत हो गई है.


बीपीसीएल का बाजार पूंजीकरण 67,301 करोड़ रुपये है. एलआईसी ने कहा कि 28 दिसंबर, 2021 से 26 सितंबर, 2022 की अवधि के दौरान बीपीसीएल में उसकी हिस्सेदारी दो प्रतिशत से अधिक बढ़ी है.

यह भी पढ़ें
Wipro देगी डाबर, इमामी, टाटा, आईटीसी को टक्कर, Nirapara का अधिग्रहण किया

Edited by Vishal Jaiswal