लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंदों और दैनिक मजदूरों की लगातार मदद कर रहे हैं कानपुर के ये छात्र और पेशेवर

By प्रियांशु द्विवेदी
May 15, 2020, Updated on : Tue May 19 2020 04:55:09 GMT+0000
लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंदों और दैनिक मजदूरों की लगातार मदद कर रहे हैं कानपुर के ये छात्र और पेशेवर
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

‘हेल्प अदर्स फाउंडेशन’ बीते कुछ सालों से कानपुर शहर में सक्रिय तौर पर जरूरतमंदों की मदद का रहा है।

राशन किट बांटते हेल्प अदर्स फाउंडेशन के सदस्य

जरूरतमंद लोगों को राशन किट बांटते हेल्प अदर्स फाउंडेशन के सदस्य



कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते प्रकोप को काबू में करने के लिए देशभर में लॉकडाउन जारी है, जिसके परिणामस्वरूप दैनिक मजदूर और निम्नवर्ग के लोगों को जीवनयापन की बुनियादी सुविधाओं के लिए भी परेशान होना पड़ रहा है। सरकारें अपने स्तर पर मदद के लिए आगे आ रही हैं, लेकिन अभी उन लोगों की स्थिति में कोई सुधार देखने को नहीं मिला है।


कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की संख्या देश में लगातार बढ़ रही है। उत्तर प्रदेश के कानपुर नगर में कोरोना वायरस संक्रमित मामलों की संख्या शुक्रवार तक 312 पाई गई है, जिसमें 170 लोग इससे रिकवर भी हो चुके हैं। शहर में बढ़े हुए संक्रमण के मामलों को देखते हुए इस रेड ज़ोन में रखा गया है। कानपुर में लॉकडाउन का सख्ती से पालन सुनिश्चित किया जा रहा है और इसी के साथ देश के अन्य हिस्सों की तरह ही शहर में भी गरीब तबके के लोग और दैनिक मजदूर विकट समस्या का सामना कर रहे हैं। ऐसे ही जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए मौजूदा समय में कानपुर में ‘हेल्प अदर्स फाउंडेशन’ काम कर रहा है।


‘हेल्प अदर्स फाउंडेशन’ एक गैर सरकारी संगठन (NGO) है, जिसे साल 2017 में कुछ छात्रों और निजी पेशेवरों ने मिलकर स्थापित किया था। यह एनजीओ अपनी स्थापना के समय से लगातार कानपुर शहर में जरूरतमंदों की मदद कर रहा है।


संस्था के संस्थापकों में से एक सागर यादव ने योरस्टोरी से बात कर संस्था की इस मुहिम के बारे में जानकारी दी। उन्होने बताया,

"जैसे ही लॉकडाउन की घोषणा हुई हमने यह अनुमान लगा लिया था कि इस समय निचले तबके को सबसे अधिक समस्या का सामना करना पड़ेगा। इस कठिन समय में हम उनकी मदद के लिए सामने आना चाहते थे और हमने ऐसा ही किया।"

सागर बताते हैं कि उन्होने क्राउडफंडिंग के जरिये अब तक करीब 65 हज़ार रुपये जुटाये हैं और यह सिलसिला जारी है, इसी के साथ बहुत से लोगों ने सामने आकर जरूरत का सामान उपलब्ध कराने की भी पेशकश की है। सागर के अनुसार इस मुहिम में बहुत से दुकानदारों ने भी संस्था का सहयोग किया है।





शहर में जहां पर भी ऐसे लोगों का पता चलता है जिन्हे इस समय मदद की बेहद आवश्यकता है, टीम वहाँ उन्हे राशन किट उपलब्ध कराती है। संस्था द्वारा तैयार की गई राशन किट में आटा, चावल, दाल, तेल, नमक, आलू, प्याज़, बिस्किट और नमकीन होता है। संस्था ने राशन किट के साथ ही लोगों को 3 लेयर मास्क भी उपलब्ध कराये हैं।


राशन किट तैयार करते संस्था के सदस्य

राशन किट तैयार करते संस्था के सदस्य



संस्था की तरफ से अब तक करीब 900 परिवारों को राशन किट और 15 सौ से अधिक लोगों को मास्क बांटे जा चुके हैं। राशन वितरण के साथ ही संस्था के सदस्यों ने इस दौरान लोगों को कोरोना वायरस महामारी के प्रति जागरूक करने का काम भी किया है।


सागर बताते हैं,

“शुरुआती दौर में यहाँ लोगों के लिए यह वायरस एकदम नई चीज़ थी, उन्हे इसके बारे में कुछ नहीं पता था। हमने उन्हे जागरूक करते हुए बताया कि इस समय उनका घर रहना क्यों आवश्यक है? इसी के साथ हमने उन्हे उन सावधानियों के बारे में भी बताया जिनका पालन इस समय बेहद जरूरी है। हम खुद भी उन्हे राशन वितरित करते समय सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन सुनिश्चित करते हैं।”

आगे की स्थिति को देखते हुए संस्था अभी और अधिक लोगों तक मदद करने की योजना बना रहे हैं। संस्था अगले तीन महीनों के लिए योजना तैयार कर रही है।


संस्था के इसी के साथ इस दौरान शहर के आवारा कुत्तों के लिए भी खाना उपलब्ध कराने का काम किया है, वहीं संस्था के सदस्यों ने ग्रामीण हिस्सों में महिलाओं को सैनेटरी पैड उपलब्ध कराये हैं।


अगर आप इस नेक मुहिम में ‘हेल्प अदर्स फाउंडेशन’ की मदद करना चाहते हैं तो आप उनके इंस्टाग्राम पेज पर जाकर वहाँ यूपीआई के माध्यम से डोनेट कर सकते हैं।