दृष्टि

लोकसभा चुनाव: जानिए इस बार चुनाव लड़ रहे सितारों के पास कितनी है संपत्ति

ये क्या है, चुनाव है या खजांचियों का मैराथन, इस अखाड़े में उनका क्या काम, जो पर्दे पर डांस-गाने, स्टेडियम में हॉकी-बल्ला घुमाते रहने के सिवा इससे पहले कभी भी जनता का दुखदर्द साझा न किया, न लोगों के लिए किसी आंदोलन, किसी संघर्ष में शिरकत की हो! आखिर ऐसे प्रत्याशी क्यों हमारे बीच आकाश से टपक पड़ते हैं

जय प्रकाश जय
16th May 2019
7+ Shares
  • Share Icon
  • Facebook Icon
  • Twitter Icon
  • LinkedIn Icon
  • Reddit Icon
  • WhatsApp Icon
Share on

सनी देओल, गौतम गंभीर और उर्मिला मातोडकर

लोकसभा चुनाव प्रतिनिधित्व के लिए जनविश्वास जीतना एक राष्ट्रीय राजनीतिक उद्देश्य होता है लेकिन हमारी समाज व्यवस्था में दशकों से एक अजीब सा सिलसिला, एक ऐसी विचित्र किस्म की उदारता बरती चली आ रही है, जिसने आज सियासत को तमाशा बना दिया है। ऐसे-ऐसे सेलिब्रिटीज पार्टियों की कृपा से टिकट लेकर राजनीतिक अखाड़े में उतर पड़ते हैं, जिनका अतीत में जनता के दुखदर्द अथवा देश के राजनीतिक प्रतिनिधित्व से पहले कोई लेना देना नहीं रहा होता है। चुनाव तो उसे लड़ना चाहिए, जो जनता की समस्याओं को लेकर संघर्ष करता रहा हो लेकिन कोई मनोरंजन कर पैसा कमाने के बाद सियासत करने चल पड़ा है तो कोई हॉकी-बल्ला घुमाते हुए करोड़ों की संपत्ति अर्जित कर लेने के बाद उस सदन में सुरक्षित ठिकाना पा लेना चाहता है, जिसे लोकतंत्र का देवालय कहा जाता है, जहां सिर्फ सच्चे जनप्रतिनिधि को होना चाहिए।


हमारी इसी सामाजिक मनोवृत्ति ने, लोकतांत्रिक व्यवस्थाओं को हल्के में लेने के आचरण ने, और सिस्टम की ढील ने हार्ड कोर क्रिमिनल तक को सदनों में बैठने की गुंजायश पैदा कर दी है। इसका सबसे खतरनाक परिणाम ये हुआ है कि राजनीति को सबसे गर्हित कर्म माना जाने लगा है। लोग वोट भले डाल आएं, अपने इस किस्म के मजबूरी में चुने गए प्रतिनिधियों पर लोगों का अब पहले जैसा विश्वास नहीं रहा है। इस बार के भी लोकसभा चुनाव अखाड़े में जो करोड़पति खिलाड़ी, कलाकार दिख रहे हैं, उनसे आम लोगों के दुखदर्द में कभी साझीदार होने की अब कैसे उम्मीद की जा सकती है, जबकि वे इससे पहले ऐसा कुछ भी नहीं करते रहे हैं! क्या सिर्फ टिकट थाम लेने से वे जनप्रतिनिधि कह लाने के हकदार हो सकते हैं, सवाल गंभीर है लेकिन फिर भी आइए, कुछ ऐसे करोड़पति प्रत्याशियों के माल-मत्ते पर एक नजर डाल ही लेते हैं।


जरा इन गायक प्रत्याशियों की संपत्ति का ब्योरा तो देखिए, जो अब तक सिर्फ गाना-बजाना करते रहे हैं। कभी जनता के साथ राजनीतिक रूप से सक्रिय नहीं रहे हैं। एक हैं हंसराज हंस, जो उत्तर-पश्चिमी दिल्ली से चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने वर्ष 2017-18 में 9.28 लाख रुपये का आयकर रिटर्न भरा था। इससे 2013-14 में उनकी आय 22.64 लाख रुपये थी। उनकी पत्नी के पास क्रमश: 1.44 करोड़ रुपये और 18.50 लाख रुपये की चल संपत्ति है। उनके चुनावी हलफनामे में उनकी अचल संपत्ति की वैल्यू 11.48 करोड़ रुपये बताई गई है।


एक हैं बाबुल सुप्रियो, जो आसनसोल से लड़ रहे हैं। उनके पास 3.85 करोड़ रुपये की संपत्ति है, जो वर्ष 2014 के हलफनामों के मुताबिक 7.34 करोड़ रुपये की संपत्ति की तुलना में 3.49 करोड़ रुपये कम है। उनके पास मुंबई में 2.55 करोड़ रुपये का एक फ्लैट, प. बंगाल के हावड़ा में एक घर और उत्तराखंड में 2,700 वर्गफुट की एक गैर-फार्म जमीन है। इसी तरह भोजपुरी गायक मनोज तिवारी उत्तर-पूर्वी दिल्ली सीट पर किस्मत आजमा रहे हैं। उनके पास 24 करोड़ रुपये की संपत्ति है, जो 2014 के चुनाव के वक्त 4.33 करोड़ रुपये थी। वर्ष 2017-18 में उन्होंने 48.03 लाख रुपये का टैक्स चुकाया था।


अब आइए, जरा खेल-अखाड़े में रहे कुछ नवोदित प्रत्य़ाशियों की माली हालत जान लेते हैं। एक हैं गौतम गंभीर, जो पूर्वी दिल्ली सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने वर्ष 2017-18 में 12.40 करोड़ रुपये का टैक्स भरा था। वे कुल 147 करोड़ रुपये की दौलत के मालिक हैं। दिल्ली से चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों में वह सबसे अमीर हैं। उनकी चल संपत्ति 116 करोड़ और अचल संपत्ति 28 करोड़ रुपये की है। उनकी पत्नी नताशा के पास भी 6.15 लाख रुपये की घोषित संपत्ति है। इसी तरह बॉक्सिंग चैम्पियन विजेंदर सिंह कांग्रेस के टिकट पर दक्षिणी दिल्ली से चुनाव लड़ रहे हैं। उनके पास 3.57 करोड़ रुपये की चल, 5.05 करोड़ रुपये की अचल संपत्ति और भिवाड़ी में 75 लाख रुपये की प्रॉपर्टी है।


अब आइए, जरा जन-विश्वास के हाशिये पर खड़े धनाढ्य फिल्मी उम्मीदवारों की सिर्फ घोषित संपत्ति को जान लेते हैं। चंडीगढ़ से चुनाव लड़ रहीं अभिनेत्री किरण खेर के पास 45.91 करोड़ रुपये की दौलत है। उनकी चल संपत्ति 16.97 करोड़ रुपये, अचल संपत्ति 13.91 करोड़ रुपये के अलावा उनके पास 16 किलो सोना और 8 किलो चांदी है, जिनकी वैल्यू 4.64 करोड़ रुपये है। उनके पति अनुपम खेर पास 14.68 करोड़ रुपये की चल संपत्ति और 1.75 करोड़ रुपये की अचल संपत्ति है। कांग्रेस की उंगली थामकर उत्तर मुंबई सीट पर अभी-अभी राजनीति में घुसीं अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर के पास 68.28 करोड़ रुपये की संपत्ति है।


गुरदासपुर (पंजाब) सीट से दो-दो हाथ कर रहे अभिनेता सनी देओल के पास कुल 87.18 करोड़ रुपये की संपत्ति है। उनकी सिर्फ घोषित चल संपत्ति 60.46 करोड़ है। उन्ही के परिवार की जानीमानी अभिनेत्री एवं निवर्तमान सांसद हेमा मालिनी एक बार फिर मथुरा सीट पर अपनी किस्मत आजमा रही हैं। उनके पास 101 करोड़ की घोषित संपत्ति है। बीते पांच सालों में उनकी संपत्ति में 34.46 करोड़ रुपये इजाफा हुआ है। इस दौरान उनके पति धर्मेंद्र की दौलत भी 12.30 करोड़ रुपये बढ़कर 123.85 करोड़ रुपये हो चुकी है।


यह भी पढ़ें: बंधनों को तोड़कर बाल काटने वालीं नेहा और ज्योति पर बनी ऐड फिल्म


7+ Shares
  • Share Icon
  • Facebook Icon
  • Twitter Icon
  • LinkedIn Icon
  • Reddit Icon
  • WhatsApp Icon
Share on
Report an issue
Authors

Related Tags