Meesho ने दिल्ली में सत्तर हजार से अधिक MSME के डिजिटलीकरण में मदद की

By रविकांत पारीक
February 22, 2022, Updated on : Thu Feb 24 2022 05:47:06 GMT+0000
Meesho ने दिल्ली में सत्तर हजार से अधिक MSME के डिजिटलीकरण में मदद की
दिल्ली में महिला विक्रेताओं की संख्या में हुई शानदार पांच गुना वृद्धि, जो पूरे भारत में सबसे अधिक है।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

100 मिलियन छोटे व्यवसायों को ऑनलाइन सफल बनाने के अपने विजन को हासिल करने के लिए, भारत की सबसे तेजी से बढ़ती इंटरनेट कॉमर्स कंपनी, Meeshoने अब तक देश भर में 4 लाख से अधिक विक्रेताओं को अपने व्यवसायों को डिजिटाइज़ करने में मदद की है। Meesho के सभी विक्रेताओं में से लगभग 70% गुजरात, दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र के टियर 2+ शहरों से हैं।


Meesho पर 4 लाख सेलर्स में से करीब 70,000 दिल्ली के हैं। इस प्लेटफॉर्म पर राष्ट्रीय राजधानी की सबसे अधिक महिला विक्रेताएँ हैं। दिल्ली में महिला विक्रेताओं की संख्या में शानदार 5X वृद्धि हुई है, जो पूरे भारत में सबसे अधिक है।


विक्रेताओं को उनके ऑनलाइन कारोबार को बढ़ाने में मदद करने के लिए, Meesho ने जुलाई 2021 में इंडस्ट्री के पहले 0% कमीशन मॉडल की घोषणा की। परिणामस्वरूप, Meesho पर विक्रेताओं ने जुलाई - दिसंबर, 2021 के बीच के 5 महीनों में 2 बिलियन रु. से अधिक की बचत की। औसतन, Meesho पर विक्रेताओं की दो वर्षों की अवधि में उनके व्यवसाय में ~76% की वृद्धि हुई है।

Meesho

Meesho में सप्लाई ग्रोथ के सीएक्सओ लक्ष्मीनारायण स्वामीनाथन, कहते हैं, "Meesho, अपनी नवीन रणनीतियों के माध्यम से पूरे भारत में विक्रेता समुदायों के लिए अवसरों का लाभ उठाने में सक्षम रहा है। इसके प्रमाण के तौर पर, हमने हमारे प्लेटफॉर्म से जुड़ने वाले विक्रेताओं की संख्या मेंउल्लेखनीय वृद्धि देखी है। हमें विश्वास है कि यह प्रदर्शन हमें अपने लक्ष्य तक पहुंचने में मदद करेगा, जो कि भारत में 100 मिलियन छोटे व्यवसायों को ऑनलाइन सफल होने में सक्षम बनाना है।”


भारत के लिए ई-कॉमर्स को सर्वसुलभ कराने के मिशन के साथ, Meesho एमएसएमई को आर्थिक रूप से स्वतंत्र होने के साधन प्रदान करता है। दिल्ली की एक Meesho विक्रेता प्रियंका जायसवाल कहती हैं, "परिवार और अपने बेटे के प्रति अधिक समय देने के लिए अपनी पूर्णकालिक नौकरी से अवकाश लेने के बाद, मैंने आभूषण डिजाइन करने के अपने शौक को पूरा करने में अधिक समय व्यतीत करना शुरू किया। पति के प्रोत्साहन से, मैंने समृद्धि डीसी (डिजाइन क्रिएशन) नामक फैशन ज्वेलरी का अपना ब्रांड शुरू करने का फैसला किया। मुझे जरा भी अनुमान नहीं था कि अचानक एक शौक के रूप में जो शुरू हुआ वह अंततः मीशो पर एक फलते-फूलते व्यवसाय में बदल जाएगा।”

 

इयररिंग्स के साथ शुरुआत करते हुए, समृद्धि डीसी ने ज्वैलरी सेट, चूड़ियों और अन्य फैशन एक्सेसरीज को शामिल करते हुए अपने कैटलॉग का विस्तार किया है। 2018 में, जब प्रियंका पहली बार Meesho के साथ जुड़ी, उसके बाद से उनका व्यवसाय लगभग 400 गुना बढ़ गया है।

 

प्रियंका का लक्ष्य अपनी पेशेवर यात्रा के माध्यम से अन्य महिलाओं का उत्थान करना है। उनकी टीम में लगभग 90% कर्मचारी महिलाएं हैं। वह व्यवसाय के सुचारू संचालन का श्रेय उन सभी को देती हैं। एक सक्षम मल्टी-टास्कर, प्रियंका डिजाइनिंग, स्टॉक के प्रबंधन और बिलिंग की देखरेख करती हैं, जबकि उनके पति व्यवसाय का प्रशासनिक पक्ष संभालते हैं। वह अपने ब्रांड द्वारा उनके पहचाने जाने को गर्व की बात मानती हैं।

 

भविष्य में, प्रियंका विस्तार करने की योजना बना रही है और तरह-तरह के बटुए के साथ खिलौने और परिधान व अन्य शामिल करने की भी उनकी योजना है।


Edited by Ranjana Tripathi