हैदराबाद की इस लड़की को माइक्रोसॉफ्ट ने दी 2 करोड़ रुपये की तगड़ी नौकरी, यहाँ से पूरी की है डिग्री

फ्लॉरिडा विश्वविद्यालय में पढ़ रहीं दीप्ति के साथ कुल 300 छात्रों को भी माइक्रोसॉफ्ट व अन्य कंपनियों ने नौकरी ऑफर की है, लेकिन सैलरी के मामले में दीप्ति सबसे अव्वल हैं।

हैदराबाद की इस लड़की को माइक्रोसॉफ्ट ने दी 2 करोड़ रुपये की तगड़ी नौकरी, यहाँ से पूरी की है डिग्री

Tuesday May 18, 2021,

3 min Read

कोरोना काल में एक ओर जहां लोगों की नौकरियाँ जा रही हैं या उनके वेतन में कटौती देखी जा रही है वहीं एक भारतीय लड़की ने इस दौरान ही कमाल के वेतन वाली नौकरी अपने नाम की है। लड़की को जो नौकरी मिली है उसमें उसका सालाना वेतन 2 करोड़ रुपये है और यह नौकरी उन्हे दुनिया की जानी-मानी सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने ऑफर की है।


यह कामयाबी हासिल करने वाली नारकुती दीप्ति मूलतः हैदराबाद की रहने वाली हैं, हालांकि फिलहाल वे विदेश में अपनी पढ़ाई पूरी कर रही थीं। मालूम हो कि दीप्ति का चयन माइक्रोसॉफ्ट में बतौर सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट इंजीनियर (SDE) किया गया है।

सिएटल में जॉइन करेंगी कंपनी

द हंस इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार इस चयन के बाद दीप्ति अब माइक्रोसॉफ्ट के अमेरिका में सिएटल स्थित कंपनी मुख्यालय को जॉइन करेंगी। गौरतलब है कि अब तक फ्लॉरिडा विश्वविद्यालय में पढ़ रहीं दीप्ति के साथ कुल 300 छात्रों को भी माइक्रोसॉफ्ट व अन्य कंपनियों ने नौकरी ऑफर की है, लेकिन सैलरी के मामले में दीप्ति सबसे अव्वल हैं। दीप्ति ने 2019 से 2021 के बीच फ्लॉरिडा विश्वविद्यालय से पढ़ाई की है।


फ्लॉरिडा विश्वविद्यालय से दीप्ति ने इसी महीने की दो तारीख को कम्प्युटर्स में एमएस की डिग्री पूरी की है और डिग्री पूरी होने के ठीक बाद ही उन्हे माइक्रोसॉफ्ट द्वारा ये बेहतरीन नौकरी ऑफर की गई है। माइक्रोसॉफ्ट के साथ ही कैंपस इंटरव्यू के जरिये दीप्ति को अमेज़न और गोल्डमैन सैश ने भी अच्छे वेतन के साथ नौकरियाँ ऑफर की थीं, लेकिन दीप्ति ने माइक्रोसॉफ्ट को ही प्राथमिकता दी है।

हैदराबाद से किया था बीटेक

दीप्ति ने स्नातक हैदराबाद से ही किया था। उन्होने ओस्मानिया कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से बीटेक की डिग्री हासिल की थी, जिसके बाद दीप्ति ने बतौर सॉफ्टवेयर इंजीनियर जेपी मॉर्गन कंपनी में नौकरी भी की थी।


करीब तीन साल जेपी मॉर्गन में नौकरी करने के बाद दीप्ति ने आगे की पढ़ाई करने का फैसला किया। इसी के साथ उन्हे स्कॉलरशिप भी मिली, जिसके बाद वे अमेरिका के विश्वविद्यालय में आगे की पढ़ाई के लिए निकल गईं। मालूम हो कि माइक्रोसॉफ्ट ने उन्हे ग्रेड 2 कैटेगरी के तहत नौकरी ऑफर की है। दीप्ति के पिता फिलहाल हैदराबाद पुलिस कमिश्नरेट में बतौर फोरेंसिक विशेषज्ञ अपनी सेवा दे रहे हैं।

तगड़ी सैलरी देती कंपनियाँ

भारत में आईआईटी और आईआईएम जैसे प्रीमियम संस्थानों में भी गूगल और माइक्रोसॉफ्ट जैसी दिग्गज वैश्विक कंपनियाँ छात्रों को बड़े-बड़े पैकेज के साथ नौकरियाँ ऑफर करती हैं। अभी कुछ दिनों पहले ही गूगल ने आईआईटी धनबाद के कुछ इंजीनियरिंग छात्रों को औसतन 44 लाख रुपये सालाना पैकेज पर नौकरियाँ ऑफर की हैं।


भारत में इन कंपनियो के बीच डुअल डिग्री कर रहे छात्रों की मांग अधिक देखी गई है। इतना ही नहीं ये कंपनियाँ इन कॉलेज के छात्रों का चयन इंटर्नशिप के लिए करती हैं, जहां छात्रों को बेहतरीन स्टाइपेंड के साथ इन कंपनियों में रहकर सीखने का मौका भी मिलता है।