Microsoft ने SMBs को सशक्त बनाने के लिए शुरू की ये दो पहल

माइक्रोसॉफ्ट ने लघु और मध्यम उद्यमों (SMBs) को सशक्त बनाने के लिए हेल्पलाइन और वेबसाइट शुरू की है. इससे SMBs को कारोबारी चुनौतियों का समाधान करने और डिजिटल बदलावों के सफर में मदद मिलेगी.

लघु और मध्यम उद्यमों (SMBs) को उनके डिजिटल बदलावों के सफर में हर कदम पर उनकी मदद करने के अपने प्रयासों को गति देते हुए माइक्रोसॉफ्ट इंडिया (Microsoft India) ने दो नए प्रयासों की शुरुआत की है. इसके अंतर्गत कंपनी ने एसएमबी केंद्रित वेबसाइट और एक खास हेल्पलाइन शुरू की है. एसएमबी केंद्रित वेबसाइट - माइक्रोसॉफ्ट फॉर स्मॉल एंड मीडियम बिज़नेसेज़ का उद्देश्य देशभर के कारोबारियों और उद्यमियों को साथ लाना है, ताकि वे अपने जैसे अन्य कारोबारों से जुड़ सकें, अपनी कुशलता को बेहतर बना सकें और व्यापक वृद्धि का लक्ष्य हासिल कर सकें, जबकि डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन हेल्पलाइन, छोटे और मध्यम कारोबारों को टेक्नोलॉजी अपनाने और उन्हें लागू करने के सफर में मदद करने के लिए बनाई गई है.

माइक्रोसॉफ्ट फॉर स्मॉल एंड मीडियम बिज़नेसेज़: यह वेबसाइट ऐसी कुशलताओं, संसाधनों और टूल्स का समृद्ध संग्रह है जो कारोबार से जुड़ी हर ज़रूरत को पूरा करता है. इस वेबसाइट पर आपको एसएमबी एकेडमी मिलती है जहां माइक्रोसॉफ्ट की ओर से उपलब्ध कराए गए कारोबार और टेक्नोलॉजी से जुड़े कोर्स की मदद से महत्वपूर्ण डिजिटल कुशलताएं हासिल की जा सकती हैं और कामगारों की उत्पादकता में सुधार किया जा सकता है. इस वेबसाइट में अलग-अलग माइक्रोसॉफ्ट सॉल्यूशंस भी मिलते हैं जिनसे किसी संगठन की ज़रूरतों को अच्छी तरह पूरा किया जा सकता है. इसके साथ ही देशभर में मौजूद 17,000 से अधिक पार्टनर्स के माइक्रोसॉफ्ट के विशाल इकोसिस्टम को ऐक्सेस किया जा सकता है.

डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन हेल्पलाइन: 1800-102-1147 पर उपलब्ध यह हेल्पलाइन छोटे और मध्यम आकार के कारोबारों को डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन के सफर में आसानी से आगे बढ़ने में मदद करती है. यह हेल्पलाइन टेक्नोलॉजी से जुड़े सॉल्यूशंस का लाभ उठाने के लिहाज़ से विशेषज्ञों का मार्गदर्शन और सहायता उपलब्ध कराती है जिनसे कारोबारी चुनौतियों का समाधान करने, परिचालन में सुधार लाने, दक्षता को बेहतर बनाने और वृद्धि को गति देने में मदद मिल सकती है.

समिक रॉय, एग्ज़ीक्यूटिव डायरेक्टर - कॉरपोरेट मीडियम एंड स्मॉल बिज़नेस, माइक्रोसॉफ्ट इंडिया ने कहा, "पिछले पांच वर्षों के दौरान हमने देखा है कि टेक्नोलॉजी को लागू करने से कारोबार के प्रदर्शन पर सीधा असर पड़ता है. आज की डिजिटल अर्थव्यवस्था में कारोबार को आगे बढ़ाने के लिए, उसे सुरक्षित क्लाउड का रुख करना चाहिए, अपने संगठन के लिए टेक्नोलॉजिकल रोडमैप बनाकर मज़बूत और स्थायी बनने की कोशिश करनी चाहिए. माइक्रोसॉफ्ट विश्वसनीय टेक्नोलॉजी, संसाधनों और व्यापक पार्टनर इकोसिस्टम के साथ भारत में एसएमबी इकोसिस्टम में डिजिटल आधार पर बदलाव लाने के लिए प्रतिबद्ध है. इन नए प्रयासों का उद्देश्य इस संगठनों का समर्थन करना और उनके साथ मिलकर काम करना है, ताकि वे कम संसाधनों में ज़्यादा काम कर सकें."

पिछले वर्ष माइक्रोसॉफ्ट द्वारा किए गए अध्ययन से पता चलता है कि टेक्नोलॉजी में किए जाने वाले निवेश और कारोबारी रणनीतियों को अपनाने के बीच गहरा संबंध है. इसके अलावा, एसएमबी के लिए सफलता हासिल करने के लिहाज़ से साझेदारों के साथ आपसी सहयोग बहुत ही ज़रूरी चीज़ें हैं. लगातार किए जाने वाले प्रयासों और निवेश के माध्यम से माइक्रोसॉफ्ट ऐसे छोटे और मध्यम आकार के कारोबारों के साथ मिलकर काम कर रहा है, उन्हें विश्वसनीय टेक्नोलॉजी, खास तौर पर डिज़ाइन किए गए सॉल्यूशंस, कुशलताएं और समर्थन उपलब्ध कराता है. साथ ही, माइक्रोसॉफ्ट इन कारोबारों को टेकमार्ट जैसे विभिन्न शहरों में आयोजित किए जाने आयोजनों में हिस्सा लेने का मौका देता है, ताकि वे डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन के अपने सफर में आगे बढ़ सकें और आज की डिजिटल अर्थव्यवस्था में आगे बढ़ सकें.

यह भी पढ़ें
Swiggy ने वित्त वर्ष 2022-23 में डिलीवरी पार्टनर्स को दिया 31 करोड़ रुपये का क्लेम