Microsoft ने भारतीय यूनिकॉर्न Darwinbox में किया निवेश, प्रोडक्ट इकोसिस्टम पर मिलकर करेंगी काम

हैदराबाद स्थित स्टार्टअप के मंगलवार के बयान के अनुसार, दिग्गज अमेरिकी टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने डार्विनबॉक्स के सीरीज़ डी राउंड के विस्तार के रूप में एक अज्ञात राशि का इक्विटी निवेश किया, जिसकी कीमत 2022 की शुरुआत में 1 अरब डॉलर से अधिक थी.

Microsoft ने भारतीय यूनिकॉर्न Darwinbox में किया निवेश, प्रोडक्ट इकोसिस्टम पर मिलकर करेंगी काम

Tuesday January 17, 2023,

2 min Read

सिकोइया Sequoia Capital समर्थित HR टेक यूनिकॉर्न डार्विनबॉक्स Darwinbox ने रणनीतिक निवेशक के रूप में माइक्रोसॉफ्ट Microsoft से फंडिंग हासिल की है.

कंपनियों ने निवेश की गई राशि पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया, लेकिन कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय (MoCA) में फाइलिंग के अनुसार ने Microsoft ने हैदराबाद स्थित कंपनी में लगभग 32.6 करोड़ रुपये (या लगभग 40 लाख डॉलर) का निवेश किया है.

हाल ही में, कंपनी ने अपने विस्तारित सीरीज डी राउंड के हिस्से के रूप में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) से करीब 40 करोड़ रुपये (49 लाख डॉलर) जुटाए थे.

बता दें कि, डार्विनबॉक्स एशिया का पहला एचआर टेक सास (SaaS) आधारित प्लेटफॉर्म होगा, जिसके साथ माइक्रोसॉफ्ट भी सहयोग करेगा और सौदे के हिस्से के रूप में, दोनों कंपनियां डार्विनबॉक्स और माइक्रोसॉफ्ट प्रोडक्ट इकोसिस्टम को एकीकृत करने के लिए मिलकर काम करेंगी.

डार्विनबॉक्स के मोबाइल-फर्स्ट प्लेटफॉर्म का माइक्रोसॉफ्ट के प्लेटफॉर्म जैसे लिंक्डइन, डायनेमिक्स 365 और माइक्रोसॉफ्ट 365 प्लेटफॉर्म जैसे माइक्रोसॉफ्ट टीम्स, माइक्रोसॉफ्ट वीवा और Azure एक्टिव डायरेक्टरी के साथ गहरा एकीकरण होगा.

बता दें कि, 700 से अधिक इंडस्ट्री कस्टमर्स को सेवा मुहैया कराने वाले डार्विनबॉक्स की 2015 में हैदराबाद में शुरुआत की गई थी और सिंगापुर को इसका अंतरराष्ट्रीय मुख्यालय माना जाता है. Salesforce Ventures और Sequoia Capital इसके समर्थक हैं, और इसके कस्टमर्स में HDFC Bank, Aviva Ventures और Tokopedia शामिल हैं.

पिछले साल नवंबर में कंपनी के को-फाउंडर रोहित चेन्नामनेनी ने कहा था कि कंपनी को 2025 तक मुनाफे में आने की उम्मीद है और डार्विनबॉक्स अगले तीन साल में आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) ला सकती है.

डार्विनबॉक्स ने पिछले साल जनवरी में 7.2 करोड़ डॉलर जुटाए थे. इसके साथ ही इसका मूल्यांकन 1 अरब डॉलर को पार कर गया था और यह यूनिकॉर्न की श्रेणी में आ गई थी. हैदराबाद में कंपनी के करीब 700 कर्मचारी हैं और अगले कुछ महीनों में कंपनी 300 और कर्मचारियों को जोड़ेगी.


Edited by Vishal Jaiswal

Montage of TechSparks Mumbai Sponsors